31/07/08

हम नही सुधरेगे कुछ भी कर लॊ ? चाहे शिकायत भी

हम केसे सुधर सकते हे, पहले देखो तो सही आदते बचपन से पडी हे, अब कहा छुटे गी

























12 comments:

  1. बाप रे बाप!
    क्या कलेक्शन है!

    ReplyDelete
  2. गजब के फोटो लाए हैं इस बार।
    भइये, जब दुनिया नहीं सुधरना चाहती, तो आप काहे चिन्ता करते हैं।

    ReplyDelete
  3. भई भाटिया जी एक दो नै छोडकै बाकी
    सारयां मै ताऊ नै तो घणा आनंद आया !
    न्यूं समझ ल्यो की तीन चार बार देखे
    सें ! थारे साथ रहण का यो ही तो फायदा
    सै की सब तरियां के दर्शन सुलभ हो ज्यावें
    सै ! आप तो कराते रहो दर्शण इनके !
    पर और किसी को बताणा मत !

    ReplyDelete
  4. kya photos hai...
    sir aaj to mazaa aa gaya

    ReplyDelete
  5. राजजी आपने ये दिलकश तस्वीरें दिखाकर मन हल्का कर दिया ज्यादा क्या कहें तस्वीरें ही बहुत कुछ कह रही हैं.

    ReplyDelete
  6. कहाँ कहाँ से इकट्ठा कर लिए जनाब ! कुछ फोटो कहीं आपकी तो नहीं राज भाई ?

    ReplyDelete
  7. भाई वह, क्या तस्वीरें हैं. आपको किसी से भी कोई शिकायत हो पर मुझे आप से कोई शिकायत नहीं. बस ऐसी ही जानकारी बांटते रहिये.

    ReplyDelete

नमस्कार, आप सब का स्वागत है। एक सूचना आप सब के लिये जिस पोस्ट पर आप टिपण्णी दे रहे हैं, अगर यह पोस्ट चार दिन से ज्यादा पुरानी है तो मॉडरेशन चालू हे, और इसे जल्द ही प्रकाशित किया जायेगा। नयी पोस्ट पर कोई मॉडरेशन नही है। आप का धन्यवाद, टिपण्णी देने के लिये****हुरा हुरा.... आज कल माडरेशन नही हे******

मुझे शिकायत है !!!

मुझे शिकायत है !!!
उन्होंने ईश्वर से डरना छोड़ दिया है , जो भ्रूण हत्या के दोषी हैं। जिन्हें कन्या नहीं चाहिए, उन्हें बहू भी मत दीजिये।