09/10/08

कुछ काम की बातें

बच्चो को इतनी छुट ना दो,
कि वह अपनी कहते कहते
तुम्हारी सुनना ही बन्द कर दें.
बच्चो को इतनी छुट ना दो,
कि उन की सुनने लगो
तो इतनी कितुम्हारा बोलना ही बन्द कर दे,
अब यह आप सब के हाथ मे है आप बच्चो से क्या उम्मीद रखते है.
ओर आप बच्चो की जगह, स्त्री, मन, पत्नि,कोई भी शव्द लगाये सब मे आप को कुछ ना कुछ जरुर मिलेगा

24 comments:

  1. विजयादशमी की हार्दिक शुभकामनांयें

    ReplyDelete
  2. ओर आप बच्चो की जगह, स्त्री, मन, पत्नि,कोई भी शव्द लगाये सब मे आप को कुछ ना कुछ जरुर मिलेगा

    वाह वाह्ह ! क्या बात कही ही ? बहुत बढिया ! दशहरे की राम राम !

    ReplyDelete
  3. बहुत बढिया,दशहरे की बधाई।

    ReplyDelete
  4. sir bahut sunder rachan
    many times u r blog page didnt open i shared it with tau rampuria ji
    long time no suggestion from u r side
    waiting to check whether i am wrte or wrong
    do visit
    and
    need to think how to handle the coming blogers
    regards

    ReplyDelete
  5. वाह, आपने तो काम की कही!

    ReplyDelete
  6. विजयादशमी की हार्दिक बधाई। यूं ही सालों साल हम अपने सुख-दुख बांटते रहें।

    ReplyDelete
  7. भाटियाजी, फुसफुसा इस लिए रहा हूं, कि यही बात "वे लोग" करने लग गये तो !!!!

    ReplyDelete
  8. सुंदर सार्थक सहज विचार
    मेरी नई रचना "शेयर बाज़ार पढने हेतु आपको सादर अपने इष्ट मित्रों सहित आमंत्रण है कृपया मेरे ब्लॉग पर पधारें और जाते जाते अपनी प्रतिक्रिया भी व्यक्त करें <> स्वागत है

    ReplyDelete
  9. sahi kaha..

    vaise yadi bachcho ki jagah pati ya purush bhi lagaaye to bhi kuch bhaav banegaa..

    ReplyDelete
  10. बच्‍चों को इतना भी मत डांटो कि उनका स्‍वाभाविक विकास ही थम जाए।

    ReplyDelete
  11. सही बात है। दशहरे की हार्दिक शुभकामनाएं।

    ReplyDelete
  12. भाटिया बड़ी सुंदर सीख दी आपने ! आज दशहरे की शुभकामनाएं और तिवारीसाहब का सलाम आपको !

    ReplyDelete
  13. सुंदर सीख ! बधाई !
    बड़ा मस्त गाना बज रहा है आपके ब्लॉग पर .. यूँ ही कोई मिल गया था ..
    शायद इनसे हमारी ऊपर कहीं मुलाक़ात हुई है... ऐसा लग रहा है ...

    ReplyDelete
  14. जोरदार माईक्रो पोस्ट !

    ReplyDelete
  15. ओर आप बच्चो की जगह, स्त्री, मन, पत्नि,कोई भी शव्द लगाये सब मे आप को कुछ ना कुछ जरुर मिलेगा
    "ha ha ha bhut khub, bacchon ka bhana laiker subko line pr lga diya aapne, well said'

    Regards

    ReplyDelete
  16. इन उपयोगी सुझावों के लिए शुक्रिया।

    ReplyDelete
  17. thanks for guide line

    meri post ki patang ko copy pate option se badi kar lijiyegaa suvidhaajanak hogaa

    ReplyDelete
  18. खूब कहा. कभी बच्चों की बात भी सुनवाइये भाटिया जी!

    ReplyDelete
  19. RAJ JI AAP KA BLOG BAHOOT HI ACCHA HAI AAPKE VICHAR BHARTIYE HAI ACCHA LAGA AAP APNI DHARA SE JURE RAHE AUR PARDESH ME APNE INDIA KA NAM ROSHAN KARE YAHI KAMNA HAI MERI

    ReplyDelete
  20. छूट देने और छूट न देने में संतुलन बनाए रखना जरूरी है.

    ReplyDelete
  21. वाह भाटिया साहब,

    आपकी सोच से प्रभावित हुआ हूं, आपने बच्चों के लिये जो किया हर दाद उसके लिये छोटी है।

    ReplyDelete

नमस्कार, आप सब का स्वागत है। एक सूचना आप सब के लिये जिस पोस्ट पर आप टिपण्णी दे रहे हैं, अगर यह पोस्ट चार दिन से ज्यादा पुरानी है तो मॉडरेशन चालू हे, और इसे जल्द ही प्रकाशित किया जायेगा। नयी पोस्ट पर कोई मॉडरेशन नही है। आप का धन्यवाद, टिपण्णी देने के लिये****हुरा हुरा.... आज कल माडरेशन नही हे******

मुझे शिकायत है !!!

मुझे शिकायत है !!!
उन्होंने ईश्वर से डरना छोड़ दिया है , जो भ्रूण हत्या के दोषी हैं। जिन्हें कन्या नहीं चाहिए, उन्हें बहू भी मत दीजिये।