20/06/12

निर्मल बाबा केवल एक नहीं है : अन्तर सोहिल

इंदु आहूजा, लाल किताब वाले गुरूदेव और अन्य बहुत सारे ज्योतिष बताने और यंत्र बेचने वाले टीवी चैनलों के जरिये धर्मांध जनता को शोषित कर रहे हैं। कई बार तो लगता है कि हिन्दु ही इतने अंधे हैं  या कोई षडयंत्र चल रहा है। लगभग सभी के सभी हिन्दुओं से जुडी धार्मिक भावनाओं और मान्यताओं के आधार पर दोहन करते हैं। जैसे धन बढाने के लिये लक्ष्मी यंत्र आदि। 



दूसरे चैनलों के साथ-साथ न्यूज चैनल भी विज्ञापनों के नाम पर धन कमाने के लिये इन अंधविश्वासों को बढावा दे रहे हैं। सभी गुरू और यंत्र बेचने वाले मानव प्रजाति को हर दुख-क्लेश से छुटकारा दिलाने और ग्रहदशा के प्रभाव को बदलने का प्रयास करते और आसान उपाय बताते हैं।


क्या विज्ञापनों के नाम पर दिखाये जाने वाले, अंधविश्वास फैलाने वाले और केवल एक फोन कॉल पर (इनकी फोन कॉल 12 रुपये प्रति मिनट होती है) हर दुख दूर करने का दावा करने वाले इन कार्यक्रमों पर रोक नहीं लग सकती है।

अगर आप इन बाबाओं पर विश्वास करते हैं और अपना ब्लॉग भविष्य सुखद चाहते हैं तो ताऊ बाबा, टिप्पल बाबा और आसमानी बाबा के दरबार में भी हाजिरी लगा लीजिये।

07/01/12

डॉo रूपचंद्र शास्त्री जी का फोन बजता रहा

डॉo रूपचंद्र शास्त्री जी का फोन बजता रहा, लेकिन उन्होंने पिक नही किया। दिनेशराय द्विवेदी जी (बारहा में ये शब्द और द्वारा लिखना कोई सिखा दे मुझे, मेहरबानी होगी) अस्वस्थ थे फिर भी इंतजार था। डॉo टी एस दराल जी का तो खासतौर पर इंतजार था, क्योंकि उनसे तो मंच पर बहुत सारी व्यंग्य रचनायें सुननी थी। (डॉo  साहब के मन में कुछ है, जाने कब बतायेंगे, ना आने का कारण).........................पूरा पढें..
सभी प्रोफेशनल कवियों (जैसे इस बार बुलाये गये थे) कि बजाय केवल 2-3 कवि व्यवसायिक हों और कम से कम 6-7 ब्लॉगर्स कवियों को सुनने का मौका मिले। इस बार कवि सम्मेलन में श्री पद्मसिंह जी ने हमारे विशेष आग्रह पर एक कविता सुनाई जो सांपलावासियों को बहुत-बहुत पसन्द आयी और पद्मसिंह जी को अगली बार के लिये अभी से बुक किया जाता है।............................पूरा पढें.

03/01/12

ब्लॉगर्स का सम्मान सांपला सांस्कृतिक मंच से

श्री पद्मसिंह जी स्मृति चिन्ह भेंट करते हुये अन्तर सोहिल

इंदु मां को स्मृति चिन्ह भेंट संजय जी (मंजे) द्वारा

श्री राजीव तनेजा जी को स्मृति चिन्ह भेंट अश्वनी जी द्वारा

श्री राज भाटिया जी को स्मृति चिन्ह भेंट कर रहे हैं विक्की जी

श्री यौगेन्द्र मौद्गिल जी सौरभ जी और बीच में हैं डॉ० राजेश वशिष्ठ जी

श्री अलबेला खत्री जी का स्वागत करते हुये हैप्पी जी

श्री अलबेला जी को स्मृति चिन्ह देते हुये नवीन भूटानी जी

श्री पद्मसिंह जी का सम्मान करते हुये अन्तर सोहिल

मुझे शिकायत है !!!

मुझे शिकायत है !!!
उन्होंने ईश्वर से डरना छोड़ दिया है , जो भ्रूण हत्या के दोषी हैं। जिन्हें कन्या नहीं चाहिए, उन्हें बहू भी मत दीजिये।