12/17/08

बुझो तो जाने???

आप सब को नमस्ते.... बहुत समय आप का लेता हूं, कल की पहेली मे जिन्होने हिस्सा लिया उन सब का बहुत बहुत धन्यवाद, आज भी इस पहेली की शर्ते कल जेसी ही है, हां कृप्या आप मेल से जबाब ना भेजे, क्योकि कई बार मै मेल चेक भी नही करता, ओर बाद मै पता चले की आप नेसही जबाब दिया, लेकिन घोषित नही कर पाया तो मुझे भी अफ़्सोस रहेगा, ओर आप को भी खेद रहेगा.
तो बताईये यह है क्या, आप फ़ुल के बारे मे या फ़िर जो चीज फ़ुल के पीछे दिख रही है उस के बारे बताये?? यानि यह फ़ुल किस का है, या वो चीज क्या है??कल शाम को मिलते है, यानि १८/१२/०८ को

22 comments:

  1. ye cotton flower hai or jo green bud dikh rhe hai usme se cotton nikalte hai. Regards

    ReplyDelete
  2. सीमा जी ने तो दे दिया सही उत्तर !

    ReplyDelete
  3. यह कपास का फूल है . दाय़ीं तरफ को फल दिखाई दे रहा है . जिसके सूखकर तिर जाने पर कपास मिलता है .

    ReplyDelete
  4. शायद मुझे मालूम हो गया . जो विवेक जी ने कहा वही मेरा समझे

    ReplyDelete
  5. ज़रा रुकिए, अशोक पाण्डेय जी से पूछकर आता हूँ अभी!

    ReplyDelete
  6. अनुराग भाई मैं खुद ही आ गया, पूछने कहां जा रहे हैं :) सीमा जी का उत्‍तर सही है..कपास का फूल ही है..बगल में उसका फल है।

    ReplyDelete
  7. सीमा जी सौ प्रतिशत सही हैं ! कपास का फ़ूल और पास मे उसकी घेंठी है जिसमे सूख कर पकने पर कपास (रुई) और बिनौले निकलते हैं !

    और इसीमे से निकले हुये बिनौले हम अपनी भैंसो को खिला कर उनका मलाईदार दुध निकालते हैं ! ये जो बिनौला इसमे से निकलता है उसका तेल निकलता है ! यानी कपास (काटन) के पौधे से रुई और बिनौला दोनो प्राप्त होते हैं !

    एक क्विन्टल बिनौले मे १६ किलो तेल ( कूकिन्ग आयल) प्राप्त होता है और नमकीन बनाने मे इसी तेल का उपयोग होता है !

    भाटिया जी , अब ईतनी जानकारी के साथ सही जवाब दिया है तो जीतने वालों मे हमारा नाम तो देना चाहिये ना ! या अबकी बार भी नम्बर नही आयेगा ?

    राम राम !

    ReplyDelete
  8. क्या बात है! आज तो सारे जवाब सही हैं-मैं भी सब की हाँ में हाँ मिला दूँ-आदरणीय ताऊ जी का जवाब दोहरा देती हूँ -[copy-paste-]---कपास का फ़ूल और पास मे उसकी घेंठी है जिसमे सूख कर पकने पर कपास (रुई) और बिनौले निकलते हैं !

    ReplyDelete
  9. कपास का फल और फूल. १००%

    ReplyDelete
  10. एक् जबाब भी अभी तक
    ?? नही, चलिये जा शाम को मिलते है

    ReplyDelete
  11. पूरी तरह तो नही , किंतु देखकर तो कपास का फूल समझ आ रहा है .

    ReplyDelete
  12. भाटिया जी, अभी तक ऊपर दिए गए सारे जवाब सही हैं.
    है तो ये कपास का पौधा ही.

    ReplyDelete
  13. सर जी आप भरमा रहे हो ! इसिलिये पुसदकर जि poppy यानि poppyseed ( पोस्तादाना) कहना चाह रहे थे !पर पोस्तादाना यानि अफ़ीम के पोधे की घेंठी दुसरे प्रकार की होती है ! यह कपास ही है ! वैसे क्पा ए फ़ूलॊं का रन्घ लाल भी होता है ! इसके साथ जो घेठी है वह कपास की ही है !

    राम राम !

    ReplyDelete
  14. पता नही ये कौन सा फूल है पर ना ये कपास का फूल है ना ये poppy flower है .कपास का फूल तो मैने देखा हुआ है वो ऐसा नही होता है

    ReplyDelete
  15. यहां पर हमारी दाल कभी नहीं गलेगी पता चल गया हमें इसलिए कोई फायदा ही नहीं बताने का कहीं गलत हो गया तो
    वैसे भी मैं अब करोडपति बन गया हूं क्‍योंकि मेरे पास तीन जोडी जूते हैं हा हा हा

    ReplyDelete
  16. कपास का फुल है....

    ReplyDelete
  17. नहीं पता पर, दूसरों से उधार कपास या फिर ........ आप बता दीजिएगा ना।

    ReplyDelete
  18. uncle ji phool{flower}ke madhyam se FOoLbanaa rahe ho .Achaa hai .

    ReplyDelete

नमस्कार, आप सब का स्वागत है। एक सूचना आप सब के लिये जिस पोस्ट पर आप टिपण्णी दे रहे हैं, अगर यह पोस्ट चार दिन से ज्यादा पुरानी है तो मॉडरेशन चालू हे, और इसे जल्द ही प्रकाशित किया जायेगा। नयी पोस्ट पर कोई मॉडरेशन नही है। आप का धन्यवाद, टिपण्णी देने के लिये****हुरा हुरा.... आज कल माडरेशन नही हे******

Note: Only a member of this blog may post a comment.

मुझे शिकायत है !!!

मुझे शिकायत है !!!
उन्होंने ईश्वर से डरना छोड़ दिया है , जो भ्रूण हत्या के दोषी हैं। जिन्हें कन्या नहीं चाहिए, उन्हें बहू भी मत दीजिये।