21/01/09

बूझो तो जाने???

नमस्कार, पहले आप इस फ़ूल को ध्यान से देख ले ओर सोचे...
पिछली पहेली के जबाब मे दिनेशराय जी ने एक बहुत सुंदर टिपण्णी दी, की जब जबाब दो तभी एक पहेली पूछ लो. आप की बात तो बिलकुल सही है, लेकिन मुझे एक पहेली पूछने के लिये बहुत मेहनत करनी पडती है, ओर पहला जबाब देने तक कई बार दुसरी पहेली को पुछने के लिये, समग्री नही मिलती, पुछने को तो मे कई चीजे पूछ सकता हूं, लेकिन मेरी कोशिश यही होती है कि जो पहेली पुछू, वो वस्तू, वो चीज या वो फ़ुल हमारे आसपास भारत मै ही कही हो, जेसे की यह ऊपर वाला फ़ूल, यह फ़ूल बडे तो क्या बच्चो ने भी खुव देखा है, ओर हमारे आसपास ही कही है, लेकिन हम मै से कई लोगो ने इस को ध्यान से नही देखा, बस अगर देखा होता तो देखे किस का जबाब सही आता है, मुझे भी दो तीन दिन लगते है, ऎसी पहेली को खोजने के लिये , इस लिये आप किसी के पास कोई ऎसी ही पहेली हो तो मुझे भेजे, मै आप के नाम के साथ ही उसे प्रकाशित करुगां.

ओर इस पहेली का जबाब शुकरवार की सुबह दुंगा, ओर शनिवार ताऊ जी के लिये खाली छोड दिया, अगर मुझे अगली पहेली मिल गई तो , इस पहेली के जबाब के साथ ही अगली पहेली बूझेगे, वरना जबाब शुक्रवार को दुगां,

तो बताये जी यह फ़ुल कोन सा है, क्या नाम है इस फ़ुल का, अगर किसी फ़ल का है तो कोन से फ़ल का??
तो बूझे यह फ़ुल????
दिनेश जी आप का बहुत बहुत धन्यवाद, अगर अगली पहेली मिल गई तो आप वाली विधि ही होगी...

23 comments:

  1. मुझे तो अमरुद लगे है भाई !

    ReplyDelete
  2. भाटिया जी किसी और का जवाब भी नही दिख रहा है जो उसकी नकल कर सके और आप सवाल इतने कठिन पूछते हो की अपनी अकल भी काम ना करे। वैसे मै सीधे बस्तर के लिये निकल रहा हूं देर रात लौटूंगा। सुबह-सुबह आप लोगो को पढे बिना जाने का मन नही हुआ ।

    ReplyDelete
  3. "अमरुद है सर जी.."

    Regards

    ReplyDelete
  4. "अमरुद है सर जी.." english mey Guava kehteyn hain.
    The guava is a shrub or small tree, usually up to 4 m in height. The bark peels off in flakes, revealing the characteristically smooth, pale-colored trunk and branches. The large leaves of guava have prominent veins and are borne opposite each other in pairs. Small white flowers, with numerous stamens develop into rounded or pear-shaped, yellow, many-seeded fruits. Guavas have pink or yellow fruit flesh, are delicious to eat and have a high vitamin C content.
    Leaves of guava are commonly used in traditional medicine, mainly to treat gastrointestinal disorders (such as diarrhea) and diabetes, but also fever (including malaria), cough, ulcers, boils and wounds.Infusions of guava leaves are taken as tea. For severe diarrhea, the recommended dose is one crushed leaf in a litre of water.

    Regards

    ReplyDelete
  5. yah amruud ka phool hai.
    guava ka flower--amrood -ek fruit--rich in vitamin C---very tasty...hamare ghar mein is ka ped tha.:)-bachpan mein bahut khaaye hain.-

    ReplyDelete
  6. लगता है कही देखा है इस फुल को लेकिन याद नही आ रहा क्या है ये| सोचकर कुछ बताता हूँ|

    ReplyDelete
  7. बेशक अमरूद का फूल है



    ---आपका हार्दिक स्वागत है
    चाँद, बादल और शाम

    ReplyDelete
  8. जवाब देने में लेट हो गया...पहले ही सभी दे चुके हैं...
    पर इस फूल को कभी नहीं भूल सकता...इससे मेरी बहुत सी यादें जुड़ी हैं...
    अमरुद का ही फूल है...
    मीत

    ReplyDelete
  9. बेशक अमरूद का फूल है।

    ReplyDelete
  10. भाटिया जी नमस्‍कार कैसे हैं पडोसी

    आज तो बहुत आसान सी पहेली पूछ ली इसे तो मैं भी बता सकता हूं ये वही है ना

    अमरूद का फूल धौरा धौरा सा

    ReplyDelete
  11. ज्ञानियों की प्योर नकल: अमरुद का फूल!! :)

    ReplyDelete
  12. सब कह रहे हैं अमरुद का फूल तो हम भी नक़ल कर ही लेते हैं|!! :)

    ReplyDelete
  13. मालिक भारत एक डेमोक्रेटिक देश है अतः यदि ये अमरुद का फूल नहीं भी है तो भी अब घोषित कर ही दो, भईया हम तो बहुमत के साथ (मार खानी है और नहीं तो......)

    ReplyDelete
  14. vaise hum bhi bahumat ke saath hai amrud ka phool hi kehenge,magar hame ye shishir ya shirish ka phool jyada lagta hai.

    ReplyDelete
  15. भाटिया जी, नकल करणी तो माणै आवै कोणी.
    इब चाहे गलत क्यूं ना होजै हम तो 'चैरी का फूल' ही बतावेंगे.
    बाकी थम जाणौ.

    ReplyDelete
  16. है तो हम आज बहुत लेट पर अब जब सब कह रहे है तो हम भी कह देते है कि ये है अमरुद का फूल ।

    ReplyDelete
  17. ab sab jo keh rahe hian ham bhi usi par thapaa laga dete hain...amrud...

    ReplyDelete
  18. देखो जी भाटिया साहब, जब मैं कलकता मे था तो इसको हम वहां पियारा का फ़ूल, फ़िर रास्ते मे इलाहाबाद पडा तो वहा तो अनेक तरह के स्वाद वाले इसके फ़ल देखे जिन्हे अमरुद कह रहे थे.

    फ़िर यहां इन्दोर पहुंच गये तो आडै इसनै जाम (guava)के फ़ूल बल्या करै सैं जी.

    रामराम.

    ReplyDelete
  19. naam kuchh bhi ho magar fool bahut sunder hai bilkul aapke blog aur rachnaaon ki tarah

    ReplyDelete
  20. जो भी हो ,है बहुत प्यारा

    ReplyDelete
  21. गणतंत्र दिवस पर आपको ढेर सारी शुभकामनाएं

    ReplyDelete

नमस्कार, आप सब का स्वागत है। एक सूचना आप सब के लिये जिस पोस्ट पर आप टिपण्णी दे रहे हैं, अगर यह पोस्ट चार दिन से ज्यादा पुरानी है तो मॉडरेशन चालू हे, और इसे जल्द ही प्रकाशित किया जायेगा। नयी पोस्ट पर कोई मॉडरेशन नही है। आप का धन्यवाद, टिपण्णी देने के लिये****हुरा हुरा.... आज कल माडरेशन नही हे******

मुझे शिकायत है !!!

मुझे शिकायत है !!!
उन्होंने ईश्वर से डरना छोड़ दिया है , जो भ्रूण हत्या के दोषी हैं। जिन्हें कन्या नहीं चाहिए, उन्हें बहू भी मत दीजिये।