24/07/08

शराबी ओ शराबी किसी को कोई शिकायत

नही लग सकता कभी मय खाने मे ताला.एक नही, दो नही, सारा शहर हे पीने वाला. अजी यकीन नही तो खुद ही देख ले....















10 comments:

  1. बड़ी बड़ी विकट शिकायतां हैं जी ये तो!! :)

    ReplyDelete
  2. वाह! वाह! वाह! वाह! क्या बात है? क्या प्रदर्शनी लगाई है। आप इस तरह के चित्रों का कलेक्शन करें। हजार, दो हजार, दस हजार हों। फिर किसी शहर के फुटपाथ पर हो यह प्रदर्शनी। जिन्दगी का मजा आ जाए। शीर्षक दिया जाए "दारू के मजेदारों की कलेक्शन"।

    ReplyDelete
  3. विश्व इतिहास के तानाशाहों के बारे में पढ़ते समय
    यह बात मैंने भी गौर की थी और लेखक ने भी इसको तरजीह दी थी की उनमे से अधिक तर शराब नही पीते थे ! मुझे नाम अभी ध्यान नही आ रहा है पर लेखक का कहना था की शराबी तो सिर्फ़ और सिर्फ़ अपना ही नुक्सान करता है ! पर इन ( तानाशाहों) ना पीने वालों ने मानवता को जितना नुक्सान पहुंचाया है उतना कोई भी नही पहुंचा सका है ! भाटिया जी इनसे अपने को तो पुरी हम दर्दी है ! देखी ये तो मस्त पड़े हैं ,
    यारों मस्त रहो मस्ती में !
    चाहे आग लगे बस्ती में !!

    ReplyDelete
  4. वाह मज़ा आ गया ये संग्रह देखकर !

    ReplyDelete
  5. badi sundar photos hai. dekhiye kahi najar na lage.

    ReplyDelete
  6. आप सब का धन्यवाद

    ReplyDelete

नमस्कार, आप सब का स्वागत है। एक सूचना आप सब के लिये जिस पोस्ट पर आप टिपण्णी दे रहे हैं, अगर यह पोस्ट चार दिन से ज्यादा पुरानी है तो मॉडरेशन चालू हे, और इसे जल्द ही प्रकाशित किया जायेगा। नयी पोस्ट पर कोई मॉडरेशन नही है। आप का धन्यवाद, टिपण्णी देने के लिये****हुरा हुरा.... आज कल माडरेशन नही हे******

मुझे शिकायत है !!!

मुझे शिकायत है !!!
उन्होंने ईश्वर से डरना छोड़ दिया है , जो भ्रूण हत्या के दोषी हैं। जिन्हें कन्या नहीं चाहिए, उन्हें बहू भी मत दीजिये।