12/08/08

जुबान

बडॆ बजुर्ग कहते हे यही जुबान लाड लडाये ओर यही जुबान जुते पडबाये,तो लिजिये आप भी इस लुतुफ़ इस जुबान का, यह इस कहावत मे कही भी सही नही बेठती....
लेकिन कुछ तो हे इस जुबान मे आईये आप भी देखे..............

4 comments:

नमस्कार, आप सब का स्वागत है। एक सूचना आप सब के लिये जिस पोस्ट पर आप टिपण्णी दे रहे हैं, अगर यह पोस्ट चार दिन से ज्यादा पुरानी है तो मॉडरेशन चालू हे, और इसे जल्द ही प्रकाशित किया जायेगा। नयी पोस्ट पर कोई मॉडरेशन नही है। आप का धन्यवाद, टिपण्णी देने के लिये****हुरा हुरा.... आज कल माडरेशन नही हे******

मुझे शिकायत है !!!

मुझे शिकायत है !!!
उन्होंने ईश्वर से डरना छोड़ दिया है , जो भ्रूण हत्या के दोषी हैं। जिन्हें कन्या नहीं चाहिए, उन्हें बहू भी मत दीजिये।