19/11/08

बुझो तो जाने का हल




नमस्कार आप सब को यह सवाल इतना कठीन नही था, तो चलिये जबाब आधा आधा कई लोगो ने दिया है, लेकिन सही जबाब किसी ने भी नही दिया, यह फ़ुल मेने भारत मै कई बार देखा था , इस लिये यहां पुछा था, जी यह एक फ़ुल ही है, ओर इस का नाम Masdevallia ignea है, यह आप को फ़ुलो की दुकानो पर मिल जाये गा, अब जबाब मै आई टिपण्णियो पर नजर मारे, सब से पहले सीमा जी ओर ओझा जी ने इसे फ़ुल कहा, बाकी आप खुद देख ले, किस ने कया कहा...




13 CommentsClose this window Jump to comment form

Dr.Parveen Chopra said...
भाटिया जी, मैं हार गया ----प्लीज़ बतलाईये। वैसे एक तुक्का मारने की ज़ुर्रत कर रहा हूं ---यह किसी पेड़ का फल है अथवा पत्ता है। तुक्का भी मारा और वह भी इतना vague सा ....लेकिन क्या करें बचपन से ही स्कूल के दिनों से ये तुक्के मारने की आदत सी पड़ी हुई है । पेपर में पता होता था कि सवाल नहीं आता,लेकिन फिर भी तुक्का मारने का पंगा ज़रूर ले लिया करता था।
18 November, 2008 3:27 AM
ab inconvenienti said...
पलाश के फूल जैसा दिख रहा है.
18 November, 2008 5:01 AM
Anil Pusadkar said...
कठीन-कठीन सवाल करते हो और कहते हो मुश्किल नही है। अपन तो हारे आपसे।
18 November, 2008 5:20 AM
ताऊ रामपुरिया said...
ये लालसागर की तरह का कोई लाल पहाड़ या फेफडा पहाड़ तो नही है ? :)
18 November, 2008 5:34 AM
seema gupta said...
" lgtaa to flower jaisa hai.... kya tulip flower hai.."Regards
18 November, 2008 7:21 AM
अभिषेक ओझा said...
एक फुल :-)
18 November, 2008 10:03 AM
लवली कुमारी / Lovely kumari said...
kah nahi sakti ..tukke bhidhane ka koi faida nahi.
18 November, 2008 10:05 AM
शोभा said...
जेबरे की पीठ लग रही है।
18 November, 2008 12:45 PM
सचिन मिश्रा said...
Lagta to kisi ful jaisa hi hai.
18 November, 2008 3:03 PM
कार्तिकेय said...
यह बाईं तरफ़ बने हुए प्राणी का ह्रदय है.
18 November, 2008 3:24 PM
Alag sa said...
चुप रहने से लगेगा कि अगला अभी सोच रहा है। भेद नहीं खुलेगा। सो अपन तो चुप्पी-चाप।
18 November, 2008 4:20 PM
Shastri said...
भाटिया जी, यह एक विशेष पत्ते से मिलताजुलता लगता है. लेकिन मामला इतना सरल होता तो आप यहां क्यों देते!!अत: मेरा अनुमान है कि यह एक प्रकार का फल या फूल है. (लीजिये, लगभग सारी संभावनायें कवर कर लीं)सस्नेह -- शास्त्रीपुनश्च: पहली बार आपके चिट्ठे पर आया. स्त्री भ्रूण हत्या के बारें में आपने जो लिखा उसका अनुमोदन करता हूँ.
19 November, 2008 5:50 AM
jamos jhalla said...
Bhatia ji jhalla aaj tak parikshaaon main latak latak kar hi pass hua hai fir bhi himmat nahin haari hai isi liye yahaan bhi pangaa lene aa gayaa .jhallevichaaraanusaar yeh ek bhartiy dil hai .videsh main bhi bhaartiyataa ki alakh jagay rakhne ke liye sadhuvaad .jhalle ke blog par bhi feraa daliye .jhallevichar.blogspot.com
19 November, 2008 3:04 PM

9 comments:

  1. मुझे तो कुछ भी समझ में नहीं आया था , इसलिए मै चुपचाप थी। आज समझ में आया है।

    ReplyDelete
  2. आपने सवाल पूछते समय चित्र जान बूझकर छोटा लगाया था ! इससे कन्फ्यूजिया गए थे ! अब साफ़ दिख रहा है ! खैर हम हारे सर जी ! अगली बार हम ही जीतेंगे ! आपतो पूछो !

    ReplyDelete
  3. पहेली के जवाबों में तो पूरी सृष्टि नजर आ रही है :) वैसे सभी ने बड़ी मेहनत से दूर दूर से कौड़ी उठा लायी है :)

    ReplyDelete
  4. " picture bhut chotee thee isliye ,... lg to flower hee rha tha... "

    regards

    ReplyDelete
  5. अब बड़ा भी होता तो (Masdevallia ignea) ऐसे कठिन नाम कहाँ से बता पाता, पर है तो फूल ही :-)

    ReplyDelete
  6. श्रीमान जी मैंने भी तो यही नाम बताया था लेकिन अपने दोस्‍त को हा हा हा बहुत बहुत धन्‍यवाद इतनी अच्‍छी जानकारी देने के लिए अगले क्विज का बेसब्री से इंतजार है पुरुस्‍कार जीतना है अबकी बार मुझे

    ReplyDelete
  7. कुछ पता ही न चला, हम तो इसीलिये चुप रहे.

    ReplyDelete
  8. ab kahiye to bata den .
    jankaaree badhane kaa aabhaar

    ReplyDelete

नमस्कार, आप सब का स्वागत है। एक सूचना आप सब के लिये जिस पोस्ट पर आप टिपण्णी दे रहे हैं, अगर यह पोस्ट चार दिन से ज्यादा पुरानी है तो मॉडरेशन चालू हे, और इसे जल्द ही प्रकाशित किया जायेगा। नयी पोस्ट पर कोई मॉडरेशन नही है। आप का धन्यवाद, टिपण्णी देने के लिये****हुरा हुरा.... आज कल माडरेशन नही हे******

मुझे शिकायत है !!!

मुझे शिकायत है !!!
उन्होंने ईश्वर से डरना छोड़ दिया है , जो भ्रूण हत्या के दोषी हैं। जिन्हें कन्या नहीं चाहिए, उन्हें बहू भी मत दीजिये।