02/12/08

बुझो तो जानू ???

बताईये यह है क्या????
बहुत आसान, बस ध्यान से देखे ओर झट पट जबाब दे दे...... चित्र को बडा कर के भी देख सकते है.

पहला हिंट यह खाने के काम की चीज है

33 comments:

  1. मेरा उत्‍तर है लहसून

    ReplyDelete
  2. यह लहसुन तो नही है !

    ReplyDelete
  3. pyaj ya lahsun dono jadi buti, narayan narayan

    ReplyDelete
  4. लगता तो लहसुन है...है क्या?

    ReplyDelete
  5. सफेद गांठें तो लहसुन की हैं । उनमें बसी हुई वनस्‍पति को नहीं पहचान पाया ।

    ReplyDelete
  6. भाटिया जी दिखाई तो लहसुन ही दे रहा है !

    ReplyDelete
  7. ise 'lahusan' kahate hain raaj bhai...

    ReplyDelete
  8. लहसुन तो नही है,मगर है क्या ये पता नही।

    ReplyDelete
  9. पहचान लिया....ये तो लहसुन ही है।

    ReplyDelete
  10. लहुसन जैसी ही कोई चीज है इस पर जो पत्ते हैं वह अलग से दिख रहे हैं ..शायद यह एनिमेटेड लहुसन है :)

    ReplyDelete
  11. आप सब का बहुत बहुत धन्यवाद, आप इसे ध्यान से देखे, इस के पत्ते को ध्यान से देखे.
    हिंट.... इसे आप सब्जियो मै, सुप मे, ओर अन्य कई चीजो मै डाल कर खा सकते है.
    इस से आप चाय भी बना कर पी सकते है.ओर शरबत बना कर भी पी सकते है.....
    यह क्या है?? इस के बीज भी बहुत काम आते है????

    ReplyDelete
  12. लहसुन है....
    इस बार मैं सही...
    ---मीत

    ReplyDelete
  13. अपन तो चुप्पे-चाप।
    उत्तर का इंतजार करते हैं।

    ReplyDelete
  14. चाय और लहसुन दोनों हम उपयोग में नहीं लेते। भाटिया जी की टिप्पणी देख कर अपनी तो खोपड़ी हिल गई है। एक शादी में दावत जीम के आते हैं तब शायद काम करे।

    ReplyDelete
  15. अजी कोई तो बताओ इस का सही जबाब. अभी तक सब के जबाब गलत है, जिन्होने इसे लहसुन कहा है, क्यो कि यह लहसुन नही है,
    हिंट.... आप सब इस के बीज को बहुत मजे से खाते हो ? जी आप सब, ओर इस के बीज को हम चाय मै भी डालते है,दुध मे भी डाल कर, सिर्फ़ अकेले पानी मे डाल कर ओर कई तरह के अचार मै भी डालते है, ओर इस का बीज हमारी रोज की जिन्दगी मै किसी ना किसी रुप मे काम मै आता है, ओर इस मे लहसुन जेसी गन्ध नही बल्कि खुश्बु है....
    ओर यह हमारी कई दवाओ ( आर्युवेदिक) मे भी प्रयोग मे आता है, अब बताईये इस का नाम
    अरे गुगल महाराज के पास भी शायद इस का जबाब हो????

    ReplyDelete
  16. bahut confuion jyada ho gaya sir i jaldi jawab bata do,hum to haare:(,

    ReplyDelete
  17. देखो अभी दो लोगो का मुझे इन्तजार है, एक हमारे समीर जी ओर दुसरे अल्पना जी, ओर मुझे लगता है इन दोनो मे कोई ना कोई जबाब जरुर सही बता देगा,वरना मै कल सही जबाब ओर पुरे चित्र को ले कर हाजिर होजाऊगा.
    महक जी थोडा सा इन्तजार ओर करे
    एक हिंट ओर चीज के पोधे से, बीज से, पत्तो से बहुत सुन्दर महक(खुशवू ) आती है, अब अगर अगला हिंट बता दिया तो.... भेद खुल जायेगा..
    फ़िर से सोचे कल शाम को जबाब ले कर हाजिर होऊगा, मुझे खुशी होगी कोई इस का जबाब सही दे.

    ReplyDelete
  18. महक जी जब भी आप को टिपण्णी करता हू तो एरर आ जाता है कल भी ऎसा हुआ, ओर आज भी क्या यह मेरे साथ हो रहा है या ओरो के साथ भी?? अगर किसी ओर के साथ हुआ हो तो मुझे जरुर बताये

    ReplyDelete
  19. पिछली पहली में जब ताउ ने लुटिया डुबोयी थी तो मैंने अगली पहेली में अपनी बालटी डुबोने का वायदा किया था। वायदे के मुताबिक ये गयी बालटी पानी में : पोस्‍ता जिससे अफीम बनता है :)

    ReplyDelete
  20. धन्यवाद राज Sir.
    २ दिस्बम्बर को UAE का नेशनल डे hota hai. इसलिए और UAE national day ईद ka एक साथ १२ दिन का सरकारी अवकाश है इस लिए घर में २ दिन से बहुत व्यस्त थी.
    अब नेट खोला है आप की पहेली देखी--आप भी बड़ी ही unique पिक्चर लाए हैं :)--यही आप की पहेलियों की ख़ास बात है.
    जवाब है---यह है 'सौंफ ' का बल्ब.
    जिस के बीज की आप बात आकर रहे हैं वो' सौंफ 'ही है.खुशबूदार! :)

    ReplyDelete
  21. Taau ji ye 'lahsun' nahin hai --us ki leaves lineaar aur tube jaiseee hoti hain---
    Ashok ji yah posta Nahin hai.
    Mere jawab ke saath aa jyeeye jaldi.

    ReplyDelete
  22. अब तो बालटी पानी में जा चुकी है, अल्‍पना जी। हार गए तो वायदा पूरा होगा, जीते तो जीत है ही।
    मतलब दोनो ओर फायदा ही है :)

    ReplyDelete
  23. sir ji aap ki comments ke liye shukria,baad ein jawab dene nahi aa payi:( busy thi,kabhi error ho jata,koi gal nahi , bahut sare chithon ke saath hame bhi e pareshani hoti hai.

    ReplyDelete
  24. यह सोंफ की जड़ है जिसको सलाद के रूप में कच्चा या उबाल कर खाया जाता है

    ReplyDelete
  25. यह सोंफ की जड़ है जिसको सलाद के रूप में कच्चा या उबाल कर खाया जाता है

    ReplyDelete

नमस्कार, आप सब का स्वागत है। एक सूचना आप सब के लिये जिस पोस्ट पर आप टिपण्णी दे रहे हैं, अगर यह पोस्ट चार दिन से ज्यादा पुरानी है तो मॉडरेशन चालू हे, और इसे जल्द ही प्रकाशित किया जायेगा। नयी पोस्ट पर कोई मॉडरेशन नही है। आप का धन्यवाद, टिपण्णी देने के लिये****हुरा हुरा.... आज कल माडरेशन नही हे******

मुझे शिकायत है !!!

मुझे शिकायत है !!!
उन्होंने ईश्वर से डरना छोड़ दिया है , जो भ्रूण हत्या के दोषी हैं। जिन्हें कन्या नहीं चाहिए, उन्हें बहू भी मत दीजिये।