02/02/09

बूझॊ तो जाने ?? जबाब

नमस्कार, आप सभी को, आज की पहेली थोडी कठिन लगी, लेकिन मेने सोचा था कि आप सब जब फ़ूल को देखेगे तो साथ लगे पत्ते से भी ध्यान से देखेगे, ओर पहेली आधी हल हो जायेगी, शायद आप सभी ने फ़ुल पर ज्यादा ध्यान दिया, ओर पत्ते को नजरआंदाज कर दिया, जब की सही जबाब तो उस पत्ते मै ही था.

जी यह बेर का ही फ़ुल है, या बॊंर भी कह ले, ओर यह दुनिया मै हर जगह अलग अलग नामो से जाना जाता है, बाकी सभी नाम तो हमारे विजेतओ ने बता भी दिये है, अगर आप को इस के ओर नाम भी पता हो (देशी ) तो जरुर बताऎ. यह ऊपर जो गुलाब के फ़ूल है यह मेरी तर्फ़ से आप सब को....

तो अब चलते है पहेली के जबाबो की ओर, उस से पहले सभी लोगो का धन्यवाद जिन्होने भी इस पहेली मे हिस्सा लिया, चाहे उन्होने टिपण्णी दी या ना दी, लेकिन मेरे मेहमान जरुर बने, ओर जिन्होने सुंदर सुंदर सी टिपण्णियां दी उन का बहुत बहुत धन्यवाद.
**************************************************************************
हमारी आज की प्रथम विजेता अल्पना वर्मा जी ने आज सब से पहले सही जबाब दे कर पहला स्थान फ़िर से ले लिया( तालियां बाद मै ) मैने बार बार कहा कि हम सब ने यह फ़ल खाया है बताईये किस ने इसे नही खाया,Common name: Indian jujube, Indian plum • Hindi: Ber बेर • Sanskrit: Badri बद्री -Botanical name: Zizyphus mauritiana Family: Rhamnaceae

दुसरे स्थान पर आई संगीता पुरी जी, बिलकुल सही जबाब, (तालियां थोडी देर बाद)

तीसरे स्थान पर आये हमारे पडिंत डी के शर्मा "वत्स" बिलकुल सही जबाब, लेकिन उन्हे बेर शायद सूझा नही , लेकिन जबाब बिलकुल सही.

चोथे स्थान पर सीमा जी आई सही जबाब के साथ,
पांचवे स्थान पर आये मीत जी.
छटे स्थान पर आई महक जी.
तालियां



****************************************************
चलिये अब चलते है उन वीरो की तरफ़ जिन्होने हम सब को तरह तरह के फ़ल खिलाये...

अंकल??चलो यह भी ठीक है अजी इतने क्लू दिये कि पहेली को भी फ़लू हो गया, रोजाना सुबह पांच बादाम रात के भीगे हुये खाये, पढाई मै मन खुब लगेगा.

हिमांशु जी यह भृंगराज नही जी , वेसे बेरो मै भी बहुत से गुण होते है,

नही महक जी आज आप बहुमत का साथ मत देना क्यो कि आज बहुमत भी हार गया.

इस ताऊ को तो अब परमाणु सरंचना ही दिखती है जब से सरदार जी ने अमेरिका से परमाणु सरंचना का नाता जोड लिया, अरे बाबा, मै सीधा साधा आदमी इन बडे झंझटो से दुर ही भला, मुझे तो डर लगता है , अगर यह फ़ट गया तो?? कोन पहेली पुछेगा?? ओर कोन जबाब देगा?? ना बाबा ना, अपने तो बेर ही अच्छे.

निर्मला कपिला जी आप तो बहुत ही सुंदर सुंदर कविता लिखती है. फ़िर कोन सभी फ़ूलो को इतने ध्यान से देखता है, यह तो एक खेल है. चलिये अगली बार सही, कभी तो कामयाव होगे ही.

दिनेशराय जी फ़ूल तो बहुत सुंदर है, चलिये हम बता देते है जी यह फ़ूल है बेरी का.अब यह बेरी किस की यह समीर जी को पता होगा, या ताऊ को आज कल ताऊ बहुत गडवड कर रहा है कभी सेठ को टोपी पहनाता है तो कभी गोटू सुनार को...

अनिल जी नकल मारने की क्या जरुरत थोडा गुनगुनाते किसी फ़ल को याद कर के तो यही गीत याद आता , मेरी बेरी नीचे, मेरे बंगले के पीछे..... या फ़िर मेरी बेरी के बेर मत तोडो, ... ओर जबाब हाजिर.
चलिये अगली बार सही.

विष्णु बैरागी जी, चलिये आप की तरफ़ से हम सब को बधाई दे देते है, लेकिन इस बधाई का बिल आप ने चुकाना है.धन्यवाद बिल आप को भेज दुगां.

अरे रंजना जी आप तो कविता बहुत अच्छी लिखती है जबाब मै कोई कविता लिख देती, जो मेरी समझ से बाहर होती, ओर आप जीत भी जाती, क्योकि मुझे समझ नही आनी थी, ओर मेने डर से आप को विजेता घोषित कर देना था.

घुघूती बासूती जी आप ने भी अकडे की खुब याद दिला दी मै इस से बहुत खेलता था, ओर फ़ुक मारने से जब उस के बीज हवा मै उडते थे तो हम उसे बुढि माई कहते थे, घर आ कर पिटाई होती थी, कपडे, हाथ, पेर ओर मुहं सभी गन्दे होते थे,क्या हम सब ने ऎसी शराते की है बचपन मै?? आप का बहुत बहुत धन्यवाद इन यादो को फ़िर से याद दिलाने का.

शशवत जी ख्यालो की दुनिया से बाहर आओ, ओर फ़िर गीत गुनगुनाओ, मेरी बेरी के नीचे..... अजी यहे लीची नही , लेकिन जल्द ही लीची के बारे मै भी पुछेगे.

मोहन जी आप ना अल्पना वर्मा जी का जबाब, ओर ना ही सीमा जी का जबाब कापी कर सकते है, क्योकि उन्होने कल ही इन जबाबो को कापी राईट करवा लिया है, अगर आप ने जबाब कापी किये तो ... भारातीया धारा ९७६ के तहत ८३४ रुपये जुर्माना, ओर ५ दिन की केद, आप सोच ले .

ताऊ जी राम राम जी की, खुब मारो नकल , लेकिन अल्पना जी सीमा जी ओर संगीता पुरी जी ने तो अपने जबाब को कापी राईट करवा लिया है, इस लिये थोडा बच के.

सीमा जी, कोशिश करे, भई ओर इतने क्लू दिये, आप जरुर काम याब होगी.

अरे देश का सिपाही नन्हा मुन्हा राही हुं, ओर इतनी जल्दी सरेंडर, अरे अभिषेक ऒझा जी केसे चलेगा ,

धन्यवाद शहतुत के लिये सीमा जी, अरे परमजीत जी , आप ने भी अनार दिया, वो भी तुक्का मार कर, अरे अनार का पेड तो छोटा सा होता है फ़िर तुक्का मारने की क्या जरुरत,

अरे अल्पना जी आप भी ना , पता नही सभी महिलाओ को हर चीज मे सुंदरता दिखती है ओर वो फ़िर टाप्स पर आ कर रुक जाती है, ओर फ़िर धीरे धीरे पुरे सेट पर, अब पता चला सभी महिला एक सा सोचती है.हमारी बीबी को भी आप की यह बात बहुत पसंद आई, उस का कहना है कि दुबई मै तो सोना बहुत सस्ता है, इस लिये खुब बनबाओ.

सीमा जी छोडो इस शहतूत को , अजी गीत भी सुना रही है, ओर शहतूत भी खिला रही है, लेकिन आप पहुच ही गई जबाब तक, बहुत अच्छा लगा.

शर्मा जी अच्छा है ना, आप सब को वो चीजे जो हमारे आसपास है, ओर हम ने कभी ध्यान से देखी नही , अब आप उन्हे देख रहे है,

आप सभी का बहुत बहुत धन्यवाद, मिलते है अगली पहेली मै, अगली पहेली इतनी कठिन नही होगी बस आप सब को आसमान मै जे जाये गे उडन तश्तरी के साथ.

शुभ दिन

18 comments:

  1. विजेताऒं को बधाई.

    ReplyDelete
  2. तालियाँ विजेताओं के लिए.

    ReplyDelete
  3. विजेताओं के लिये तालियां..बधाई.

    अब हमें भी पढाई शुरु करनी पडॆगी..क्युंकि नकल का कोई मौका ही नही दे रहे हैं आप?:)कब तक फ़ेल होते रहे?

    रामराम.

    ReplyDelete
  4. विजेताऒं को बधाई. अल्पना जी के लिए तो हमारी बधाई आप आगे की कई पहेलियों के लिए थोक में ही रख लीजिये.

    ReplyDelete
  5. विजेताऒं को बधाई
    आप का धन्यवाद

    ReplyDelete
  6. सभी विजेताओं को बहुत बहुत बधाई.....सही कहूं क्‍या.....मैने फूल और पत्‍ते तो नहीं पहचाने थे.....कांटा देखकर अंदाजा लगाया था.....खैर जीत तो मेरे हिस्‍से आनी ही थी..... चाहे जैसे भी पहचाना।

    ReplyDelete
  7. alpanaji,sangeeta puri ji aur sharma ji ko khaas badhai,aur jo nakal karke jite unko bhi bahut adhai:);)

    ReplyDelete
  8. सभी विजेताओं को बधाई.
    सच में राज Sir मैं उस फूल को देखने दो -तीन बार आई थी फिर अब सेव कर लिया है--वह एक बहुत ही सुंदर डिजाईन हो सकता है.कभी कभी यहाँ ज्वेलरी डिजाईन प्रतियोगिता होती है.मौका मिला तो उस में भेजूंगी..यह एक दम unique है.SERIOUSLY!
    इस की तस्वीर बहुत ही निराले ढंग से ली गई है...जैसे की फूल न हो कर कानो के टोप्स हों..भाभी जी को कहियेगा..दुबई आएँगी तो इक ऐसा सेट मेरी तरफ़ से उन के लिए भेंट ..[वैसे यहाँ बनवाई बहुत है.]:).

    ReplyDelete
  9. विजेताऒं को बधाई.

    Regards

    ReplyDelete
  10. बेर के फूलों से परिचित कराने का आभार। विजेताओं का बधाई।

    भाटिया जी, वैसे एक बिन मांगी सलाह है, अगर इस ब्‍लॉग का नाम आप 'मुझे शिकायत है' से बदलकर 'पहेली' अथवा 'बूझो तो जानें' कर दें तो ज्‍यादा अच्‍छा है, क्‍योंकि अब तो यह पहेलियों के लिए ही समर्पित हो गया है।

    ReplyDelete
  11. Ye to pyari si 'moving tweety 'aaap ke blog page par hai na..right side mein...please mujhey bhi bhej dijeeye..main bhi apne blog par welcome ke liye paste karungi.

    ReplyDelete
  12. सभी को ढेर सारी मुबारकबाद...
    मीत

    ReplyDelete
  13. आदरणीय राज साहब आपको और सभी विजेताओं को ढ़ेर सारी बधाइयाँ।

    ReplyDelete
  14. आप सभी का बहुत बहुत धन्यवाद, रजनीश जी, आप की सलाह सर माथे,लेकिन मुझे तो शिकायत है उन से जो जीतते नही, ताऊ अब तो मेहनत करनी ही पडेगी, लेकिन अगली पहेली बहुत आसान है,संगीता जी आप की बात बिलकुल सही है, मेने बार बार चित्र पर जोर दिया था, ओर आधी पहेली हल हो जाती, अगर चित्र को ध्यान से देखते, पत्ता, ओर कांटा,
    अल्पना जी बहुत अच्छा लगा, आप का यह कहना कि दुबई आएँगी तो इक ऐसा सेट मेरी तरफ़ से उन के लिए भेंट , धन्यवाद, हम अयेगे जरुर दुबई, लेकिन कब पता नही,क्योकि जब बच्चो को छुट्टिया होती है तो आप ने दुबई मै बहुत गर्मी होती है, आप लोग कभी बनायो हमारे यहां आने का प्रोग्राम. अभी आप कॊ यह बत्ख भेज रहा हुं.
    बाकी आप सभी का फ़िर से बहुत बहुत धन्यवाद

    ReplyDelete
  15. सभी विजेताओं/अविजेताओं ओर पहेली बुझावनकर्ता भाटिया जी को भी घणी बधाई.
    अब की बार तो आपकी पहेली ने बहुत मेहनत करवाई.

    ReplyDelete
  16. सभी विजेताओं को बधाई

    ये तो मुझे भी पता था क्‍योंकि चोरी कर के बहुत खाए हैं सुबह सुबह के पांच बजे खाते थे

    बाकी कापीराईट के मामले में अगर मुझे सजा हो जाती है तो कोई मेरी जमानत करा सकता है तो मुझे बतादें

    ReplyDelete

नमस्कार, आप सब का स्वागत है। एक सूचना आप सब के लिये जिस पोस्ट पर आप टिपण्णी दे रहे हैं, अगर यह पोस्ट चार दिन से ज्यादा पुरानी है तो मॉडरेशन चालू हे, और इसे जल्द ही प्रकाशित किया जायेगा। नयी पोस्ट पर कोई मॉडरेशन नही है। आप का धन्यवाद, टिपण्णी देने के लिये****हुरा हुरा.... आज कल माडरेशन नही हे******

मुझे शिकायत है !!!

मुझे शिकायत है !!!
उन्होंने ईश्वर से डरना छोड़ दिया है , जो भ्रूण हत्या के दोषी हैं। जिन्हें कन्या नहीं चाहिए, उन्हें बहू भी मत दीजिये।