16/02/09

बूझो तो जाने ? जबाब





नमस्कार आप सब को, जी यह फ़ूल मेहंदी का ही हे, इसे विलायती मेहंदी का फ़ूल भी कह सकते है.ओर असल मे यह है है भी विलायती मेहंदी का ही फ़ूल.












mehndi_laga_ke_rak...



तो चले अब परिणाम की तरफ़....


आज सब से पहले सही जबाब के संग आये, हमारे पडिंत डी के शर्मा "वत्स" जी, लेकिन मुझे लगता है इस बार भी उन के बेटे ने ही इस पहेली का हल निकाला होगा, दुष्यंत बेटे ने ही.


तो आज के प्रथम विजेता के रुप मे आये हमारे पडिंत डी के शर्मा "वत्स" जी,


ओर दुसरे स्थान पर विजेता के रुप मे आई हमारी अल्पना वर्मा जी.


तीसरे स्थान पर विजेता के रुप मे आई हमारी संगीता पुरी जी.


चोथे स्थान पर विजेता के रुप मे आई हमारी सीमा गुप्ता जी.


पांचवे स्थान पर आये हमारे अभिषेक ओझा जी.


छटे स्थान पर आये हमारे हिमांशु जी.


*************************************************************


ओर अब उन लोगो की बात करे जिन्होने मेहनत तो की, लेकिन कईयो को सफ़लता मिली कईयो को नही, लेकिन आप सब का धन्यवाद, अगली बार आप जरुर सफ़ल होगे...


सब से पहले mehek ,महक जी आई, उन्होने इसे shishir का फ़ूल बताया, महक जी मेने नही देखा कोई ऎसा फ़ूल,


फ़िर आई सीमा गुप्ता जी, जी आप का कहना ठीक ही लगता है, क्यो कि Citrus के पत्ते काफ़ी इस से मिलते जुलते है, लेकिन फ़ुल मे दिन रात का फ़र्क है, धन्यवाद, कोशिश करे...


दिनेशराय द्विवेदी Dineshrai Dwivedi आप ने जरुर इसे घरो की बाड के रुप मे देखा होगा, लेकिन हम लोग गोर नही करते, यह पहले हमारे घर की चार दिवारी की जगह होता था, एक तो बचत, दुसरा हरयाली की वजह से ताजा ओर ठन्डी हवा आती थी, ओर मेहन्दी मुफ़त मे पुरे मोहल्ले वालो को मिल जाती थी, जरुर यही कही देखा होगा इसे.


Smart Indian - स्मार्ट इंडियन जी बात तो आप की भी ठीक है इस के पत्ते इस चित्र मे काफ़ी कुछ नींबू, संतरे , मोसमी से मिलते जुलते है, लेकिन यह पत्ते तो बहुत छोटे होते है, इस चित्र मे Zoom कर के चित्र लिया गया है इस कारण पत्ते बडे बडे दिख रहे है, चलिये आप भी कोशिश करे....


विनय भाई यह लोंग का फ़ूल नही है, चलिये अब नीद पुरी होगई हो तो उठ बेठो.


समीर जी Udan Tashtari यह लोग बिलकुल नही है,शक हो तो विनय से पुछ लो.


अल्पना जी यह लेमन का फ़ूल नही है.. फ़िर से ढुढो जी.....


समीर जी मेने भी Eugenia Shrubs को गुगल मे ढुढा, ओर देखने मै काफ़ी हद तक यह इस फ़ूल जेसा ही दिखता है, लेकिन यह Eugenia Shrubs का फ़ूल नही है, ओर मेने Eugenia Shrubs का हिन्दी अनुवाद भी ढुढा, लेकिन वो भी नही मिला.यानि मुझे खुद भी मालुम नही कि यह Eugenia Shrubs क्या चीज है , लेकिन यह मेहंदी तो बिलकुल नही है.


अविनाश वाचस्पति जी आप ने कविता के संग संग मेरी गलती बताई आप का धन्यवाद,


वाह शर्मा जी आप ने तो खूब दोहे सुनाये, अब पहेली आ जबाब तो मिल ही गया है.


मोहन वशिष्‍ठ जी अजी दिल से मन से यह अमरुद तो बिलकुल नही, अगर आप इसे अमरुद का फ़ूल कहते तो सोच्ते भी.... चलिये फ़िर से ट्राई करे....


यह लो मेने इतना बडा हिंट दिया है, सडक पर ध्यान से देखो लोगो को आते जाते, अजी आधे से ज्यादा सर मेहंदी से रंगे होते है, ज्यादा तर हर घर मै होती है...


अरे रंजन जी आप ने तो एक दम मना कर दिया, जनाब भुल गये वो मेहंदी वाले हाथ....


यासमीन भी नही है जी...


Anil Pusadkar जी, अगर मुझे पहले पता होता तो ऎसे सवाल पुछता, जिस से आप के हाथ जल्दी से पीले हो जाते, लेकिन आप तो साईंस के पिछे भागे, ओर.....


सीमा जी भई यह jasmine flower बिलकुल नही जी....


अरे वाह अल्पना जी .....


संगीता जी कोई शक नही जी....


वाह सीमा जी हुयी ना कामयाव...


Popular India जी नाम से ही तो पहचान होती है जनाब......लेकिन आप का शेर सच मै बहुत धांसू लगा, आप का स्वागत है.


सीमा जी आप का जबाब हम ने बहुत सम्भाल कर रखा है जी, घबराये नही.


रंजना [रंजू भाटिया जी यह ना तो नींबू है ओर ना अमरुद का फ़ूल है... यह तो मेहंदी का फ़ूळ है जी.


मोहन जी हम ने भी आप के कमेंट कल ही छाप दिये थे,शायद ताऊ लेगया हो.


योगेन्द्र मौदगिल जी आप तो भाई हर बात मै कविता निकाल लेते है, धन्यवाद.


शर्मा जी, हमारे यहा के मोसम का हाल तो आप छोटी छोटी बातो मे जा कर देख ले. लेकिन आप की मेहन्दी हम ने बहुत समभाल कर रखी है,





प्रवीण त्रिवेदी...प्राइमरी का मास्टर जी, अरे आप तो मास्टर है, बच्चो के संग रह कर आप भी सीख गये ** पता नही जी** लगता है सारे बच्चे मेरे जेसे ही होगे....


P.N. Subramanian साहब जी खेद कहेका जी अगली बार फ़िर से....


Shastri जी मुझे लगता है आप ने इस मेहंदी को ओर फ़ूल को देखा तो जरुर होगा, अजी देखा तो मेने भी था, लेकिन कभी गोर नही किया, मुझे भी अगर कोई पुछता तो शायद ही बता पाता, चलिये अगली बार सही.


अभिषेक जी आते ही दो टुक मे ओर वो भी सही जबाब सीना ठोक कर...


विष्णु बैरागी जी, जरुर देखा होगा, ओर मै ज्यादा तर ऎसे ही सवाल पुछता हुं जो हमारे आसपास हो, लेकिन हम उन पर ध्यान नही देते.


हिमांशु जी मान गये जनाब बिलकुल सही जबाब दिया.




14 comments:

  1. आपके इस ब्लौग का तो हमें पता ही नहीं था राज साब....और देखा तो हम बहुत कुछ मिस किये जा रहे थे...
    चलिये देर आये दुरूस्त आये

    ReplyDelete
  2. सबको बधाई.. अगली बार और प्रयास करेंगें

    ReplyDelete
  3. सबों को बहुत बहुत बधाई।

    ReplyDelete
  4. जो जीत गये, उनको बधाई. पहेली पसंद नहीं आई क्यूँकि हार गये..अब ताऊ से शिकायत करेंगे भाटिया जी की.

    ReplyDelete
  5. सभी विजेताओं को बधाई !

    ReplyDelete
  6. sabhi vijeta ki balle balle:)badhai ji

    ReplyDelete
  7. aaj ki jawabi post ka andaaj juda -juda hai...mehandi ka rang khuub chadha hai blog par ..sangeetmayi post!waah!!!Sir ji kya baat hai...

    sundar tohfa sabhi vijetaon ke liye..sabhi ko badhayee

    ReplyDelete
  8. मान गये भाटिया जी कि आप भी आदमी कमाल के हैं. हम तो सर खुजाते रहे, जबकि उत्तर तो बगल में ही था. वाकई में ऐसा कौन आदमी है जो मेहंदी से अनजान हो.

    अच्छा लगा! सामानय जनजीवन की चीजों को नये सिरे से देखनेदिखाने से एक तो इन चीजों के प्रति आकर्षण और समर्पण बढता है तो दूसरी ओर दिमांगी कसरत बडेबच्चे हरेक को फायदा देती है.

    अगली बार हम घरआगन से उत्तर देना चालू करेंगे. लेकिन हमें मालूम है कि उस बार आप ऐसे दूर की कौडी लायेंगे कि हम पुन: चारों खाने चित्त हो जायेंगे.

    अगली पहेली का इंतजार है

    सस्नेह -- शास्त्री

    ReplyDelete
  9. सभी विजेताओं को बधाई , ये तो है की मेहनत तो करनी पडी...लकिन सुकून इस बात का की तीसरी बार में ही सही सही जवाब दे पाये......"मेहँदी लगा के रखना.....डोली सजा के रखना.....गीत सुन कर और देख कर मजा आ गया"

    regards

    ReplyDelete
  10. सभी विजेताओं को बधाई ...:)

    ReplyDelete
  11. बधाई जी बधाई सबको.

    रामराम.

    ReplyDelete
  12. सभी विजेताओं तथा प्रतिभागियों को भी बहुत बहुत बधाई......

    ReplyDelete
  13. चलिये हम भी सही जवाब दे गये. धन्यवाद

    ReplyDelete

नमस्कार, आप सब का स्वागत है। एक सूचना आप सब के लिये जिस पोस्ट पर आप टिपण्णी दे रहे हैं, अगर यह पोस्ट चार दिन से ज्यादा पुरानी है तो मॉडरेशन चालू हे, और इसे जल्द ही प्रकाशित किया जायेगा। नयी पोस्ट पर कोई मॉडरेशन नही है। आप का धन्यवाद, टिपण्णी देने के लिये****हुरा हुरा.... आज कल माडरेशन नही हे******

मुझे शिकायत है !!!

मुझे शिकायत है !!!
उन्होंने ईश्वर से डरना छोड़ दिया है , जो भ्रूण हत्या के दोषी हैं। जिन्हें कन्या नहीं चाहिए, उन्हें बहू भी मत दीजिये।