22/03/09

बूझॊ तो जाने



Image Hosted by ImageShack.us
नमस्कार, सलाम, सत श्रीकाल जी, तो बूझे यह चित्र किस चीज का है.... अरे रुकिये तो सही, ध्यान से देखे इसे यह कोई झाडी है, घार फ़ुस है, या कोई खरपतवार, या फ़िर कुछ ओर ?? लेकिन जो कुछ भी है इस का एक नाम है, ओर उस नाम कि ही मुझे तलाश है, तो ....बताईये मेहरबान जी इस पहेली का जबाब??
पहले १० जबाब गलत आने पर ही मै कोई हिंट दुगां, सुबह १०,३० ओर फ़िर करीब ४,४५ पर ओर फ़िर ८,४० बजे मै आप की टिपण्णियो को प्रकाशित करुंगा, क्योकि काम के समय दफ़तर( ओफ़िस) समय मै, हम इन्टरनेट का प्रयोग नही कर सकते, ओर यह समय हमारे खाने पीने ओर अन्त मे छुट्टी का होता है.

40 comments:

  1. 'Sorghum' matlab--'Jawar 'ki fasal dikh rahi hai ..pahli nazar mein.]

    ReplyDelete
  2. जो अशोक पांडेयजी का जवाब होगा वो ही जवाब हमारा भी समझा जाये।

    हमें तो फुल वाली घास दिख रही है।

    ReplyDelete
  3. यह एक तरह का खर-पतवार है, जो गेहूं के खेतों में होता है। हमारे इलाके में इसे वनगेहूं कहा जाता है। इसका पौधा देखने में गेहूं जैसा ही होता है और किसानों के लिए काफी नुकसानदेह होता है।

    ReplyDelete
  4. बाजरा -ज्वार .नरकट कुल की झाडी !

    ReplyDelete
  5. ये ज्वार नही है.

    भाटिया जी नाम बिल्कुल ध्यान नही आ रहा है..पर याद करने की कोशीश कर रहा हूं. शायद आजाये तो बताता हूं. खेतो में बहुत देखा है.

    रामराम.

    ReplyDelete
  6. गेहूँ के खेत मे पाया जाने वाला खरपतवार है...

    Regards

    ReplyDelete
  7. अरे अभी तक एक जबाब भी सही नही आया, चलिये आप की मदद करते है, यह कोई खरपतवार नही, बल्कि एक फ़सल है, अगला हिंट बाद मै

    ReplyDelete
  8. hame bhi jawar ki fasal hi lage hai.

    ReplyDelete
  9. ज्वार की फसल लग रही है , गाँव में कुछ जंगली घास के पौधे भी ऐसे दिखाई देते है.

    ReplyDelete
  10. ये छवि बाजरे की है जो खरीफ की फसल है . इसकी बुआई जुन-जुलाई महीने में की जाती है .

    ReplyDelete
  11. ढूँढा तो बहुत पर मिल नहीं रहा...
    पर शायद ये उसी चीज का पोधा है जिसका चारा काटा जाता है पालतू जानवरों के लिए...
    मीत

    ReplyDelete
  12. भाटिया जी, इसका अंग्रेजी नाम pearl millet दिखे है....

    ReplyDelete
  13. सर इससे बहुत खेले हैं बचपन में पर नाम याद नहीं कभी किसी से पूछने की कोशिश ही नहीं की....
    इसके जो फूल नजर आ रहे हैं उनके गुच्छे बना बना कर खेलते थे...
    पर इसका नाम आखिर है क्या...
    मीत

    ReplyDelete
  14. लिजिये एक ओर चित्र जो बहुत ही नजदीक से लिया गया है, ओर अब मोड्रेशन भी नही लगा है यानि अभी तक सभी जबाब गलत है, तो अब नये चित्र को देख कर जबाब दे.
    धन्यवाद

    ReplyDelete
  15. दुसरे चित्र से तो लग रहा है की ये ग्वार है...
    पहले भी सोच रहा था की यही है लेकिन sure नहीं था... और अब भी नहीं हूँ.. क्योंकि ज्यादा जानकारी नहीं है इस क्षेत्र में...
    ग्वार यही है...
    मीत

    ReplyDelete
  16. ये ग्वारपाठा (एलोवेरा) है. इसमे गर्मियों मे यानि साल मे एक बार ऐसी ही डंडी लिये फ़ूल निकलते हैं.

    रामराम.

    ReplyDelete
  17. घृत कुमारी या अलो वेरा,क्वार गंदल का पौधा है,यह एक औषधीय पौधे के रूप में विख्यात है।

    ReplyDelete
  18. जई है जी इसे पशु बडे चाव से खाते हैं ताऊ भी अपनी भैंस के लिए यही लेकर आते हैं

    ReplyDelete
  19. यह एक औषधीय पौधे के रूप में विख्यात है। बिलकुल सही कहा आप ने अब इस का नाम भी ढुढे, अभी तक एक जबाब भी ठीक नही आया..... ?????
    नाम पुरे भारत मै एक ही है, यानि एक नाम से इस से इसे जानते है सब, ओर यह आर्युवेदिक दवा के रुप मे जनाना जाता है

    ReplyDelete
  20. hum to thahare allopathywale ,ye ayurved kaha se samjhe,dhudha sir ji nahi mila;(:(

    ReplyDelete
  21. बस राज सर अब तो थक गया...
    अगर यह ग्वार नहीं है तो फिर १००% sweet flag है...
    sweet flag ही ऐसा दीखता है और आयुर्वेद में प्रयोग होता है...
    और हाँ आप कभी इसे फसल कहते हैं कभी औषधीय पौधा....
    बहुत confusion होता है...
    अब sweet flag को लाक कर दीजिये...
    नहीं तो जिसका सही जवाब वही मेरा भी... ओके
    मीत

    ReplyDelete
  22. और हाँ मैं बचपन में इससे कभी नहीं खेला... वो कुछ और था जो इसके जैसा है...
    sorry...
    मीत

    ReplyDelete
  23. घृत कुमारी के अलावा अगर ये कुछ और है तो अब मैं नहीं बता सकता . मैं हार मान रहा हूँ .

    ReplyDelete
  24. आज की पहेली तो वाकई मजेदार होती जा रही है।

    यदि पहले वाले चित्र के आधार पर ही जवाब देना रहता तो मैं अभी भी अपनी पुरानी राय पर कायम हूं कि यह गेहूं के खेतों में पाया जानेवाला एक खर-पतवार है। इसे हमारे इलाके में किसान वनगेहूं कहते हैं। इसे गेहूं का मामा या गुल्‍ली डंडा भी कहा जाता है। इसे अंग्रेजी में फैलेरिस माइनर कहते हैं और अग्रलिखित लिंक पर पकने से पहले के इसके चित्र को देखा जा सकता है http://nepenthes.lycaeum.org/Plants/Phalaris/minor.html

    लेकिन आपने जो दूसरा वाला चित्र दिया है, उसे देखने के बाद मुझे खुद ही अपना जवाब गलत लगने लग रहा है।

    ReplyDelete
  25. नमस्कार,अरे क्यो हार मान रहे है, चलिये अब मै एक बहुत ही अच्छा हिंट देता हुं,यह पोधा किसी ना किसी रुप मे औषधीय के रुप मै ही प्रयोग किया जाता है,जब कभी कब्जी हो तो इसे लेने से पेट साफ़ हो जाता है...... ?भाई अब तो बुझिये....

    ReplyDelete
  26. सत श्री अकाल !!

    जो अकाल (सनातन) है, वह (प्रभु) सत्य है!!

    ईसबगुल के बारे में आप की क्या राय है!!

    सस्नेह -- शास्त्री

    ReplyDelete
  27. शास्त्री जी का जवाब बिल्कुल सही है. हिन्दी में इसबगोल और अंग्रेजी में psyllium.....

    ReplyDelete
  28. सही है. हिन्दी में इसबगोल और अंग्रेजी में psyllium.....

    ReplyDelete
  29. shastri ji ke jawab ki help se...same picture net par mil gayi..

    yah psyllium...hindi mein -Sat isbgol kahtey hain...

    ReplyDelete
  30. narpatiherbs ki site par is ka chitr mil gaya hai...:)
    naya jawab hi final mana jaye.

    ReplyDelete
  31. बहुत देर से आयी ... जवाब मिल ही गया है आपको ... ईसबगोल ही होना चाहिए।

    ReplyDelete
  32. भाटिया अंकल, यह psyllium का पौधा है.
    वैसे इमानदारी से बता दूं कि पहले के जवाबों से हिंट लेकर ढूंढा है.
    वैसे मुझे कहाँ पता चलने वाला था

    ReplyDelete
  33. yah psyllium hi hai, same picture yhan pr hai......but this time it was so tough to find out..

    http://narpatiherbs.com/yahoo_site_admin/assets/images/DSCN5555.87225904_std.JPG

    Regards

    ReplyDelete

नमस्कार, आप सब का स्वागत है। एक सूचना आप सब के लिये जिस पोस्ट पर आप टिपण्णी दे रहे हैं, अगर यह पोस्ट चार दिन से ज्यादा पुरानी है तो मॉडरेशन चालू हे, और इसे जल्द ही प्रकाशित किया जायेगा। नयी पोस्ट पर कोई मॉडरेशन नही है। आप का धन्यवाद, टिपण्णी देने के लिये****हुरा हुरा.... आज कल माडरेशन नही हे******

मुझे शिकायत है !!!

मुझे शिकायत है !!!
उन्होंने ईश्वर से डरना छोड़ दिया है , जो भ्रूण हत्या के दोषी हैं। जिन्हें कन्या नहीं चाहिए, उन्हें बहू भी मत दीजिये।