29/05/09

बूझो तो जाने ? जबाब


नमस्कार, आप सभी को, जाने से पहले आप को इस पहेली का जबाब देता जाऊं, आप सोच रहे होंगे कि कह चल दिये ? अरे वो हमारी अरूणा जी हैं ना बस उन्ही से मिलने उन की बेटी के पास जा रहे है, दो तीन दिनो बाद वापसी होगी।

अब आप ने चित्र तो देख ही लिया, ओर जबाब भी मालुम पढ गया, यह चार किलो का कटहल मे अपने हेण्ड बेग मै डाल कर साथ लाया था, हमारे यहां मिलता नही इस लिये, अब जब हम ने कटहल लिया तो मै उस रात अपने दोस्त के घर रहा, मन मै बात आई की वजन कम करने के लिये इसे छिल कर ओर काट कर लेजायेया जाये, लेकिन तभी हमारी भाभी ने कहा तो राज जी यह सारे रास्ते टपकटा जाये गां।

फ़िर हम ने इसे वेसे ही अपने हेंड बेग मै रख लिया, आटेची मै पहले से ही १५ किलो आम डाल दिये थे।

दिल्ली चेकिंग के समय जब हम ने चेकिंग से पहले ही बोल दिया कि हमारे बेग मै तो कटहल है , सभी चोंक पडे? लेकिन चलिये वहां से निकले तो घर तक इसे हम एक दुलहन की तरह लाये, अरे हां जर्मनी पहुच कर जब हमे हमारी अटेची हमे मिली तो उस के पास पहुचते ही आमो की खशबू आ रही थी हम थोडा घबराये जरुर, कि कही कोई गोरा चेक ना कर ले, ओर जी हम अपनी अटेची ले कर जो भागे की बाहर आ कर ही दम लिया।

जब इस कटहल को मेज पर रखा तो पहेली का कीडा दिमाग मै घुस गया, ओर इसे हलाल करने से पहले इस के दो चित्र ले लिये, एक कल आप सब ने देखा, दुसरा यह ऊपर है।

आज पहले स्थान पर आये हमारे mahashakti प्रमेंदर जी।

दुसरे स्थान पर आये हमारे हिमांशु जी।

तीसरे स्थान पर आये हमारे प्रवीण शर्मा जी

चोथे स्थान पर आये हमारे Smart Indian - स्मार्ट इंडियन जी।

पांचवे स्थान पर आई हमारी अल्पना वर्मा जी

छटें स्थान पर आये हमारे सतीश पंचम जी।

सांतवे स्थान पर आये हमारे अभिषेक ओझा जी।

आंठ्वे स्थान पर आये हमारे Udan Tashtari जी

नोंवे स्थान पर आये हमारे Arvind Mishra जी।

दंसवे स्थान पर आये हमारे ताऊ रामपुरिया जी

गहारवे स्थान पर आये हमारे डॉ. मनोज मिश्र जी।

बाहरवे स्थान पर आये हमारे RAJ SINH जी।

तेहरवे स्थान पर आई हमारी Shikha Deepak जी।

चोहदवे स्थान पर आये हमारे Pt.डी.के.शर्मा"वत्स" जी।

पंदरवे स्थान पर आये हमारे संजय बेंगाणी जी।

सोहलवे स्थान पर आये हमारे Anil Pusadkar जी।

सत्तरवे स्थान पर आये हमारे Shastri जी।

आठारवे स्थान पर आये हमारे राजकुमार ग्वालानी जी।

सभी विजेताओ को बधाई, सभी हिस्सा लेने वालो को भी बधाई, सुनील जी मै काफ़ी दिनो से थोडा परेशान चल रहा था, लेकिन अब थोडा सभंल गया हुं, क्योकि वक्त तो चलता हॊई रहेगा,

एक बात देकने मै लगता तो यह केले का ठेर ही है, लेकिन आप सब लोगो की पेनी नजर से बच नही पाया, ओर आप सब ने इसे पहचान लिया, अगर मुझ से कोई इस बारे पुछता तो मै इसे केले ही कहता।

चलिये अब २ जुन को दोवारा मिलेगे, बीच बीच मै शायद आता रहूं, अब दो चार दिन अरूणा जी के यहां रहेगे, अगर मोसम अच्छा रहा तो घुमएगे, ओर अगर बरसात रही तो घर पर बेठ कर खुब बाते करेगे।

तब तक राम राम जी की

19 comments:

  1. एक आसान सी पहेली जीतने पर सब को ढेरों बधाईयाँ...
    नीरज

    ReplyDelete
  2. विजेताओं को बहुत बहुत बधाईयाँ.
    कटहल से ज्यादा इस पर रखे चाकू डरा रहे हैं...आप शाकाहारी हैं फिर क्या ये चाकू सिर्फ इस कटहल को हलाल करने के लिए लाये गए हैं??
    बड़ी हिम्मत का काम है खाने की चीज़ों को सही सलामात् एअरपोर्ट से बाहर निकाल लाना.वो भी इतना बड़ा कटहल और १५ किलो आम! बधाई आप को! इस बार यहाँ आये अलफोंसा आम भी khattey[sour] निकल रहे हैं..बाकि की बात ही न करें....
    और दशहरी आम की याद आ रही है.

    ReplyDelete
  3. आपका कटहल प्रेम तो वाकई दमदार है और पहेली भी मजेदार रही .

    ReplyDelete
  4. कटहल से कट लिये,
    ्केला समझ बैठे..

    बधाई सबको..

    ReplyDelete
  5. भाटिया जी, ये जो सामने दो बडे बडे छुरे रखें है, कहीं वो हम लोगों को डराने के लिए तो नहीं रखे.

    ReplyDelete
  6. घूम आईये. सभी को बधाई.

    हम भी चले कल केलिफोर्निया..५ को वापस आयेंगे..

    ReplyDelete
  7. हम तो चूक गए जी. सभी vijetaon को बधाई..

    ReplyDelete
  8. हमें पता था कि हमारी उत्‍तर सही है, पूरे गाँ में सबसे बड़ी कटहल की बाग हमारी ही है। :)

    ReplyDelete
  9. सभी विजेताओ को बधाई और हमको दस नम्बरी विजेता होने की विशेष बधाई.:)

    रामराम.

    ReplyDelete
  10. bataaiye main to inhein bhee koi blogger hee samajh raha tha....sochaa pehchaan nahin paayaa isliye jawaab nahin diya....aajkal sab poochh poochh kar roj hamara claas test lete hain....sabko badhai...kathal ko bhee...aakhir usee ko sabne pehchanaa hai....

    ReplyDelete
  11. IS AASAAN SEE PAHELI KO JIT SAKTAA THA MAGAR SABHI JITE HUYE VIJETAWON KO DHERO BADHAAYEE DIL SE...


    ARSH

    ReplyDelete
  12. चलो जीते तो सही।भले ही सोलहवे स्थान पर सही,नाम तो आया।हा हा हा हा हा।

    ReplyDelete
  13. congratulations all the winner
    meet

    ReplyDelete
  14. पहेली के विजेताओं को हार्दिक बधाईयां भाटिया जी माफ करना पिछले काफी दिनों में मैं भी काफी परेशान रहा था इस कारण से ब्‍लाग जगत से दूर ही रहा लेकिन अब जल्‍द ही रूटिन में ले आउंगा इस पहेली को जीतने से तो चूक गया लेकिन अगली पहेली यानि की कल की पहेली का विजेता बनकर सामने उभरूंगा और आप सुनाओ कैसी रही भारत यात्रा

    ReplyDelete
  15. भाटिया जी बधाई स्वीकारें क्योंकि अब टिप्पणी करने में कोई दिक्कत नहीं आ रही

    ReplyDelete
  16. भाटिया जी बधाई स्वीकारें क्योंकि अब टिप्पणी करने में कोई दिक्कत नहीं आ रही

    ReplyDelete

नमस्कार, आप सब का स्वागत है। एक सूचना आप सब के लिये जिस पोस्ट पर आप टिपण्णी दे रहे हैं, अगर यह पोस्ट चार दिन से ज्यादा पुरानी है तो मॉडरेशन चालू हे, और इसे जल्द ही प्रकाशित किया जायेगा। नयी पोस्ट पर कोई मॉडरेशन नही है। आप का धन्यवाद, टिपण्णी देने के लिये****हुरा हुरा.... आज कल माडरेशन नही हे******

मुझे शिकायत है !!!

मुझे शिकायत है !!!
उन्होंने ईश्वर से डरना छोड़ दिया है , जो भ्रूण हत्या के दोषी हैं। जिन्हें कन्या नहीं चाहिए, उन्हें बहू भी मत दीजिये।