01/07/09

ब्लांग पर छोटे ओर बडॆ अक्षर केसे करे बिना किसी टुल के ?

हम आप यानि सभी अलग अलग ब्लांग पर जाते है, उन्हे पढते है, लेकिन सभी ब्लांग के (फ़ंट) अक्षर कभी छोटे तो कभी बडॆ होते है, जिस से हम सब की आंखो पर बहुत जोर पडता ही कभी कभी बहुत बडॆ अक्षर तो कभी कभी छोटे क्या बहुत छोटे अक्षर.
हम मै से कई लोगो ने इस के लिये कई टूल लगा रखे है, कई बार यह टूळ हर ब्लांग पर काम नही करते , या फ़िर टिपण्णी बक्स मे सेट हो जाते है, तो आईये हम आप को सब से आसान तरीका बताये जो कि एक अनजान से अनजान आदमी भी अपने आप किसी भी ब्लांग मै उस के शव्दो को ही नही पुरे ब्लांग को अपनी मन पसंद साईज मे देख सकता है, जिस मै उस ब्लांग के लेख, टिपण्णी बक्स, ओर अन्य बाते भी शामिल है.
इस बात का खोजी मेरा बेटा है, जब उस ने मुझे बताया तो सोचा क्यो ना यह बात आप सब मै बांटी जाये..

तो चलिये जेसा मेने लिखा वेसा करे, हां आप एक बार उस ब्लांग से निकले गे तो वो फ़िर से पहले जेसा ही रहेगा, ओर उस ब्लांग पर इन सब बातो क कोई असर नही पडॆगा.
आप के keyboard( जहां आप टाईप करते है) मै एक शव्द है Strg बस आप ने इसे दबा कर फ़िर अपने माऊस के बीच मै जो पहिया लगा है (जिस से आप पेज को ऊपर नीचे करते है) उसे आगे करेगे तो शव्द बडे हो जायेगे, ओर उसे पीछे करेगे तो शव्द छोटे हो जायेगे.
अजी अभी इसी लेख पर कर के देखे, ओर जब आप की पसंद के हो जाये तो माऊस ओरCtrg (Left) को छोड दे ओर मजे से पाढिये.

अगर आप के पास माऊस नही (लेप टाप ) पर तो आप Ctrg ओर + वटन दवाये बडा करने के लिये, ओर Ctrg or - वटन दवाये छोटा करने के लिये

31 comments:

  1. टेस्टाटुर = keyboard ना?

    वैसे न तो मेरे keyboard में strg है और न माउस और पहिया? :)

    ReplyDelete
  2. भाटिया जी रामराम. यह strg key यहां तो नही है. और लेपटोप मे यह काम नही करता. शायद और कोई फ़ार्मुला हो बताईये. यह डेस्कटाप पर शायद काम करेगा. Ctrl दबा कर पहिया घुमाने से.

    रामराम.

    ReplyDelete
  3. भाटिया जी,
    यह काम लैप-टाप पर ctrl वाली की दबाने से हो जाता है।
    रंजन जी, ताऊ जी इसे आजमा कर देखें।

    ReplyDelete
  4. नमस्कार आप सब से माफ़ी चाहुंगा, मेरा keyboard जर्मन मै है ओर हमे आदत भी इसी भाषा की है, सो गलती हो गई, strg key की जगह आप इसे Ctrl key पढे.
    ओर लेपटाप मे आप Ctrl ओर + वटन दवाये, छोटा करने के लिये आप Ctrl ओर - वटन दबाये यह - वटन कोई अलग से नही यह कोमे के बाद जो आता है जिसे से आप लाईन ऊपर नीचे कर सकते है, वो वाला है.
    धन्यवाद

    ReplyDelete
  5. @ Gagan Sharma,

    शर्माजी, लेपटोप पर कंटरोल की तो दाब दी पर पहिया कित सै ल्यावैं घुमाण खातर?:)

    और कंटरोल दाब कर ऐरो की से भी ना होता जी. कोई और उपाय बताओ.

    रामराम.

    ReplyDelete
  6. हो गया जी भाटिया हो गया..घणी जोरदार बात बताई..कंटरोल प्लस और मायनस से काम हो गया लेपटोप पर भी.

    बेटे को बहुत बहुत बधाई देना जी. और उसको कहना कि ये ताऊ और चाचों को ऐसी ही टिप देता रहे. यहां तो हम सारे ही करीब २ अनाडी हैं.

    रामराम.

    ReplyDelete
  7. हो गया.. आभार..

    ReplyDelete
  8. वाह, मजा आ गया..कमाल की तरकीब है। आभार।

    ReplyDelete
  9. Control की से काम बन गया जी!!

    ReplyDelete
  10. आपकी यह पोस्ट इसी तरह करके पढ़ी है | बहुत बढ़िया | कोई कितना भी छोटा क्यों ना लिखे अब उसे बड़ा कर पढ़ ही लेंगे |

    ReplyDelete
  11. achchhee jaankaaree dee hai,iska upyog kiya jayega.

    ReplyDelete
  12. wow excellent , Hats off to your son , mr raj bhatia

    ReplyDelete
  13. वाह राज जी ये हुयी न काम की बात !

    मेरे सिस्टम पर "कंट्रोल की" दबाने से बात बन गयी !

    उस 'आईपीएड्रेस ट्रैकर' वाले टूल का
    आगे का 'विधि विधान जानकार निराशा हुयी !
    मैं अपने ब्लॉग से कुछ मजबूरी वश बेनामी वाला आप्शन नहीं हटा सकता !
    चूंकि मैं अक्सर कई-कई दिन के लिए नेट से दूर हो जाता हूँ इसलिए माडरेशन भी चालू नहीं कर सकता !
    बस एक ही रास्ता है ... 'गाली-प्रूफ' बन जाना !

    वैसे बहुत ख़ुशी की बात है कि अब मुझे गालियाँ न के बराबर ही मिलने लगी हैं !

    आज की आवाज

    ReplyDelete
  14. ताऊ ने आविष्कार किया. भाटिया जी ने केवल भटकाया.

    ReplyDelete
  15. इस ओर तो ध्यान ही नही दिया था।आभार आपका इस उपयोगी जानकारी के लिये।

    ReplyDelete
  16. भाटिया जी, कंटरोल की दबाने पर एक क्षण के लिए सामने सक्रीन पर एक गोलाकार चक्कर सा तो दिखाई दिया, लेकिन माऊस का पहिया घुमाने के बाद भी हमें तो शब्द वैसे के वैसे ही दिखाई दे रहे हैं!!! क्या कारण है?

    ReplyDelete
  17. शर्मा जी आप ने ctrl को दबाये रखना है छोडना नही जब तक आप की पसंद की सेटिंग ना हो जाये, फ़िर छोडे.
    पहले ctrl को दबाना है दबाये रकना है फ़िर माउस का पहिया घुमाये फ़िर देखे

    ReplyDelete
  18. मेरे लैप टॉप पर कंट्रोल की के साथ - या + दबाने से कुछ नहीं हो रहा :(

    वीनस केसरी

    ReplyDelete
  19. मेरे लैप टॉप पर कंट्रोल की के साथ - या + दबाने से कुछ नहीं हो रहा :(

    वीनस केसरी

    ReplyDelete
  20. @ पंडित शर्मा जी--

    १-फोंट्स बड़ा करने के लिए Key board par Ctrl और + को कीबोर्ड पर एक साथ दबा कर छोड़ना है ,जब तक फोंट्स आप की मर्जी के साइज़ के न हो जाएँ...every time you press and release buttons together-- fonts are seen bigger.
    २-इसी तरह अगर फोंट्स छोटे करने हों तो Ctrl और - keys ko एक साथ दबा कर छोड़ दें.fonts chhote ho jaynge..

    ३-अगर ब्राउजर में कई पेज आपने एक साथ खोले हुए हैं तो माउस का पॉइंटर उस पेज पर ही रहने दे जहाँ के मैटर का आप को फॉण्ट बदलना है.

    आभार.

    ReplyDelete
  21. वीनस केसरी जी आप पहले ctrl लेफ़्त वाला दवाये फ़िर + या - दबाये.
    आप के लेपटाप मै दो बार ctrl है, काम तो दोनो करते है अगर नही तो आप ctrl लेफ़्ट वाला पहले दबाये ओर दबाये रखे, फ़िर +या - दबाये

    ReplyDelete
  22. आभार आपका ज्ञान ,
    आखिर होनहार बेटा ही खोज लाया ना !! :)

    उसे आशिष मेरे ....
    - लावण्या

    ReplyDelete
  23. ctrl और +, - वाला नुस्खा तो हम भी जानते थे । आभार प्रविष्टि के लिये ।

    ReplyDelete
  24. bhatiyaji aapne achhi jankari di hai..ek do bar kosish ki aur ho gaya..thanks

    ReplyDelete
  25. भाटिया जी आपका और आपके बेटे का शुक्रिया ।
    ये तो बहुत बढ़िया जानकारी दी है ।
    ctrl और z se try kiya hai .

    ReplyDelete
  26. जिसे राज जी strg कह रहे है असल में वो इंडिया में Ctrl है...
    राज जी बढ़िया जानकारी दी है... आपने लोगो को...
    जिन लोगो के माउस में व्हील नहीं है वो ctrl + '+' या '-' दबा कर देखें
    मीत

    ReplyDelete
  27. @ राज भाटिया जी
    @ अल्पना वर्मा जी

    हो गया जी...बहुत कमाल की तरकीब है। बहुत बहुत धन्यवाद जी......इसके लिए भाटिया जी के सुपुत्र का भी धन्यवाद।

    ReplyDelete
  28. strg देखकर मैं भी confuse हो गयी थी , पर बाद में समझ में आ गया कि वह ctrl ही है .. कमाल की तरकीब बतायी आपने।

    ReplyDelete
  29. भाटियाजी् मैं तो आपकी ये भी पोस्ट देख नहीं पाई थी आपने तो बहुत काम की बात बताई हम बूढे लोगों के लिये तो ये राम वाण है बहुत बहुत धन्यवाद्

    ReplyDelete
  30. मैं इसका हमेशा इस्‍तेमाल करता हूं। वैसे अन्‍य लोगों को बताने का शुक्रिया। अब उनके भी काम आएगा।

    -Zakir Ali ‘Rajnish’
    { Secretary-TSALIIM & SBAI }

    ReplyDelete
  31. अग आप फायर फोक्स काम मे लेते है तो इसे याद रखने की भी जरूरत नही है । पहले View पर क्लिक करे उसके बाद joom ओप्सन मे जूम इन और जूम आउट देखे आपकी कमाण्ड नजर आवेगी । अगर वापस रीसेट करना हो तो ctr + 0 दबाये पुरानी स्थति मे लौट आयेंगे । आपकी जानकारी पुरानी जरूर है । मगर बहुत काम की है।

    ReplyDelete

नमस्कार, आप सब का स्वागत है। एक सूचना आप सब के लिये जिस पोस्ट पर आप टिपण्णी दे रहे हैं, अगर यह पोस्ट चार दिन से ज्यादा पुरानी है तो मॉडरेशन चालू हे, और इसे जल्द ही प्रकाशित किया जायेगा। नयी पोस्ट पर कोई मॉडरेशन नही है। आप का धन्यवाद, टिपण्णी देने के लिये****हुरा हुरा.... आज कल माडरेशन नही हे******

मुझे शिकायत है !!!

मुझे शिकायत है !!!
उन्होंने ईश्वर से डरना छोड़ दिया है , जो भ्रूण हत्या के दोषी हैं। जिन्हें कन्या नहीं चाहिए, उन्हें बहू भी मत दीजिये।