02/10/09

बुझो तो जाने?? जबाब

नमस्कार, मेने तो सोचा था कि यह पहेली बहुत कठीन होगी, लेकिन यह पहेली सब से आसान निकली, लगता है आप सब बी बी सी समाचार पत्र खुब पढते है, यह चित्र मैने वही से लिया था,
जी इस का जबाब आप यहां देख सकते है
आप सभी विजेता है. लेकिन
आज के प्रथम विजेता है शाश्‍वत शेखर जी
दुसरे स्थान पर विजेता है संजय बेंगाणी जी
तीसरे स्थान पर विजेता है अजय कुमार झा

आप सभी को बहुत बहुत बधाई
बाकी विजेताओ को भी बहुत बहुत बधाई, आप सब का बहुत बहुत धन्यवाद आप सब ने हिस्सा लिया, वेसे अब मैने पहेलिया पुछनी बन्द ही कर दी है, बस युही कभी कभी कोई ऎसी नयी चीज नजर मै आये तो पुछ लेगे,
फ़िर से आप सभी का धन्यवाद,

15 comments:

  1. विजेताओं को बधाई।

    ReplyDelete
  2. संजय बैंगाणी जी को विजेताओं की भीड़ के बीच पाकर न जाने क्यूँ आँख भर आती है...बेचारे, कभी कभी भीड़ में फंस ही जाते हैं. :)


    सभी विजेताओं को बधाई.

    ReplyDelete
  3. विजेताओं को बधाई।

    ReplyDelete
  4. हम तो पहेली ही नहीं देख पाए थे।

    ReplyDelete
  5. पहेली नहीं देख पाए थे ..पर इतने कंजूस नहीं की विजेताओं को बधाई ना दे ...सबको बहुत बधाई ..!!

    ReplyDelete
  6. बहुत बहुत बधाई जी सभी जीतने वालों को!!!

    ReplyDelete
  7. क्या भाटिया साहब, छुट्टी के दिन पहेली पूछते हो, खैर, विजेतावो को मेरी तरफ से भी बधाई !

    ReplyDelete
  8. हा.....हा....लो हम भी जीत गये..वाह वाह मजा आ गया

    ReplyDelete
  9. पहेली कठीन देख लालजी हमें आगे धकिया देते है, हम का करे जबरिया फंसाये जाते है तो.... :) आगे कुछ कह नहीं सकते गला रूँध सा गया है.... :)

    ReplyDelete
  10. ओह ! मैं तो आने से ही रहा गया था...

    ReplyDelete
  11. भाटिया जी, ये तो बता देते कि हम जीते या हारे ?
    खैर..सभी विजेताओं को बहुत बधाई!!!!

    ReplyDelete
  12. पं.डी.के.शर्मा"वत्स इस पहेली मै सभी लोगो का जबाब सही निकला.
    धन्यवाद

    ReplyDelete
  13. परम आदरणीय राज साहब। आपकी पहेली तो खै़र आज एक बहाना है। मगर सच कहूँ, अभी थोड़ी देर पहले ताऊ को उनकी १५ हज़ारवीं टिप्पणी के लिए फ़ोन पर बधाई देने के बाद जबलपुर के राइट टाउन से कचनार सिटी तक आपके बारे में ही सोचता चला आ रहा था, क़सम से। नामालूम क्यों ? और आते ही ब्लॉग खोलते साथ आपको पाकर बयाँ के बाहर ख़ुशी हुई। आपने हमारे दिल का दर्द समझा इसके लिए तहे दिल से शुक्रिया। जल्द मिलेंगे।

    ReplyDelete

नमस्कार, आप सब का स्वागत है। एक सूचना आप सब के लिये जिस पोस्ट पर आप टिपण्णी दे रहे हैं, अगर यह पोस्ट चार दिन से ज्यादा पुरानी है तो मॉडरेशन चालू हे, और इसे जल्द ही प्रकाशित किया जायेगा। नयी पोस्ट पर कोई मॉडरेशन नही है। आप का धन्यवाद, टिपण्णी देने के लिये****हुरा हुरा.... आज कल माडरेशन नही हे******

मुझे शिकायत है !!!

मुझे शिकायत है !!!
उन्होंने ईश्वर से डरना छोड़ दिया है , जो भ्रूण हत्या के दोषी हैं। जिन्हें कन्या नहीं चाहिए, उन्हें बहू भी मत दीजिये।