06/10/09

दस करोड की लाटरी ??

आज आप सब से एक सवाल का जबाब चाहता हुं, जरुरी भी नही, अगर देना चाहो तो जरुर देवे, हां आज मेने माड्रेशन लगा रखा है, ताकि सब एक दुसरे का जबाब देख कर ही जबाब ना दे..... तो यह बहुत छोटा सा सवाल है ,इसे पढ कर कितना लम्बा चाहे जबाब दे,
कल इसी समय मे आप सब की टिपण्णियां जो मुझे जबाब के रुप मे मिलेगी प्रकाशित करुंगा, ओर मै भी अपना जबाब टिपण्णि के रुप मे अभी दे रहा हुं.

तो मेरा सवाल यह है...
अगर आप मे से किसी की १० दस करोड रुपये/€/डालर की लाटरी लग जाये तो आप क्या करेगे...?

आप अपना जबाब केसा भी दे हमे बस आप का जबाब चाहिये.
धन्यवाद

38 comments:

  1. This comment has been removed by the author.

    ReplyDelete
  2. पहले तो बेहोश ही हो जाऊँगा बिना मेहनत के इतने सारे धन और फिर क्या उसके बाद जिंदगी के एक एक काम बड़े ही आराम से पूरा करूँगा..सोचूँगा की अपनी ज़रूरत के समान के बाद में क्या और किसी के लिए कुछ अच्छा कर सकता हूँ.पक्का ज़रूरत मंद की मदद भी करूँगा पर पर फोकट में शोबाजी नही, अगर लगा की हाँ बंदे को ज़रूरत है तो...हाँ एक काम और पता करने की कोशिश करूँगा की ये कमाल दोबारा भी हो सकता है क्या..

    ReplyDelete
  3. इसे बढाने के लिए सुरक्षित रूप से निवेश करेंगे... अपने या किसी प्रतिष्ठित उद्यम/व्यवसाय में, ज़मीन, दुर्लभ रत्न वगैरह में.

    ReplyDelete
  4. भाटिया जी, वकील होने का नुकसान हो रहा है। पिछले 20 मिनट से सोच रहा हूँ, लेकिन दिमाग ही नहीं चल रहा है। दस परसेंट पहले जेब में आए तो कुछ दिमा्ग चले।

    ReplyDelete
  5. नमस्कार| लॉटरी लग गयी तो सबसे पहले आज की तंगी से निपटूंगा, फिर माँ बाप के वो सारे ख्वाब जो पैसों की वजह से अधूरे रह गए वो पुरे करूंगा| बाकी के बैंक में, आँख मूँद कर दान मैं करता नहीं इसलिए देख परख कर जरूरतमंद की मदद भी कर दूंगा|

    अब इतनी मेहनत से सब लिखा है, लॉटरी हमारी लगवा दो बस आप|!! :)

    ReplyDelete
  6. सच कहता हूँ १० करोड़ मिला तो, अपने गुलामी की जंजीर हटाकर

    * 2-2 करोड़ दोनों बेटों के नाम
    * २ करोड़ अपने लिए
    * १ करोड़ अपने सगे सम्बन्धियों के लिए
    * २ करोड़ को समाज सेवा मैं लगाउंगा

    १ करोड़ सबसे छुपा कर रखुगा .... मेरी मृत्युप्रांत जिसकी किस्मत होगी वो ले जाएगा |

    ReplyDelete
  7. पहले तो यह कन्फर्म करेगे कि हम जग रहे है कि नहीं.......बाकी बाते बाद में !!

    ReplyDelete
  8. भाटिया जी, यदि ऎसा हो गया तो हम तो भई हिन्दी के लिए दो चार ब्लाग एग्रीगेटर शुरू कर देंगे....अगर इसके बाद भी कुछ माया शेष बच जाती है तो उस माया का त्याग करने के लिए एक जर्मनी का एक हवाई टिकट कटवाएंगे...ओर आपके पास आकर घूमफिर कर फूँक फाँक देंगे...इसी बहाने माया का त्याग भी हो जाएगा और आपसे मिलना भी :)

    ReplyDelete
  9. वही जो धन का करना चाहिए, १० करोड़ हो या १० लाख... दान और भोग ! वैसे भी ये नहीं किया तो धन का नाश हो जाता है ! (कर्टसी चाणक्य बाबा)

    ReplyDelete
  10. राज जी आप दस करोड़ की लाटरी की बात करते हैं, मेरी तो ऐसी ना जाने कितनी लाटरियां लग चुकी हैं. मेरा ईमेल बाक्स ऐसे लाटरी के रिजल्ट से भरा पड़ा है, जिनके मुताबिक मैं किसी में लाखों तो किसी में करोड़ों डॉलर का इनाम जीत चुका हूं। लेकिन अफसोस यह है कि अभी तक मेरे हाथ में एक भी पैसा नहीं आया। क्या आप इसमें मेरी कोई मदद कर सकते हैं। :)

    ReplyDelete
  11. सबसे पहले तो मै उसे खर्च करूँगा. फिर भी बच गया तो फिर खर्च करूँगा.

    ReplyDelete
  12. पहली बात कि अपनी ऐसी शानदार किस्मत कहाँ?....फिर देखूँगा कि लॉटरी कहीं इंटरनैट के माध्यम से तो नहीं लगी?...अगर यही हुआ तो स्पैम समझ के उसे डिलीट कर दूँगा...और अगर वास्तव में लॉटरी लग गई तो खुशी से फूला ना समाता हुआ अपने माँ-बाप के चरण स्पर्श करूँगा और उसके बाद अपनी छोटी-मोटी ...सभी तरह की देनदारियों से मुक्त हो कर अपने आस-पास के वातावरण को चिंतामुक्त बनाऊँगा...उसके बाद बाकी बचे पैसे में से कुछ को मैँ अपने बिज़नस में लगा के बाकी की रकम को बैंक में सुरक्षित रूप से एक निश्चित आमदनी के लिए डाल दूंगा।

    ReplyDelete
  13. दिन में ख्वाब दिखा कर भावनाओं से खेलने के लिए आप पर मुकदमा दायर किया जा सकता है ...हा हा

    ReplyDelete
  14. तब की तब देखेंगे.

    ReplyDelete
  15. हा हा हा हा हा हा हा आदरणीय राज जी, अगर हार्ट अटैक नहीं हुआ लाटरी खुलने के बाद तभी सोचेंगे की क्या करेंगे......

    regards

    ReplyDelete
  16. फिर हम क्या करेंगे जो करेगी वो लाटरी ही करेगी !!! फिर हम कुछ भी नहीं करेंगे !!

    ReplyDelete
  17. सब अपने अपने नशे पर ही खर्च करेंगे .. इससे जाहिर है मैं 'गत्‍यात्‍मक ज्‍योतिष' के विकास पर खर्च कर दूंगी !!

    ReplyDelete
  18. इतना बढ़िया सवाल आज तक किसी ने पूछा ही नहीं
    आपने पूछकर खुश कर दिया
    पांच करोंड़ रुपये पर तो आपके हक़ बनते हैं
    बाकी का हिसाब सोचना पड़ेगा

    ReplyDelete
  19. raaj ji

    sawal bahut gahra hai .. laalch bhe de raha hai .. man ko lubha raha hai .. par agar mujhe itni rakam mili to main kuch kaam avashay akarunga ....

    1. maine bahut abhaavo me zindagi zi hai , topahla kaam ye karunga ki , mere zindagi ke saare abhaav khatm ho jaaye aur saath saath mere pariwaar aur mere rishtedaaro ke pariwaar atleast is janam me sukh se rahe.. aur iske liye bahut jyaada paisa nahi lagega ..say 4 crore ...

    2. dusra kaam ye karunga ki main apne saare dosto ko kuch kuch na rakam baant kar unki zindagiyo me thodi khushhaali laane ki koshish karunga ..--- say 2 crores

    3. main desh ke jitne bhi acche NGOs hai chahe wo bacho ke liye ho ya phir budi ke liye ho ya phir aurato ke liye ho kuch rakam jarur baatunga ..-saay-- 2 crores

    4. main kuch gareeb logo ki bastiyo me aur gaon me hospitals khulwaaunga . this is the basic need -- say ---1 crore

    5. aakhri 1 crore lekar main anant yaatra me nikal padunga kyonki , phir meri jarurat kisi ko nahi hongi .. to us 1 crore ko kharch hone tak main jeevit rahunga ...

    this is what I think , I will do sir..

    regards

    vijay
    www.poemsofvijay.blogspot.com

    ReplyDelete
  20. पहले मिलने to दिजीये वास्तव में ...फिर सोचेंगे..:)!

    ReplyDelete
  21. जी दो-तीन बार लग चुकी है, हमने तो यह खुशखबरी देने वाले ईमेल को तुरंत डीलीट और स्पैम कर दिया था।

    प्रणाम

    ReplyDelete
  22. कहने को कुछ भी कहा जा सकता है, जैसे विश्व सुंदरियां प्रतियोगिता के समय कहती हैं कि मैं बेसहारा लोगों के लिए काम करूंगा, महिला सशक्तिकरण के लिए संषर्घ करूंगी, महिला हिंसा को जड से मिटा दूंगी। या फिर नेता स्टाइल में भी जवाब दिया जा सकता है कि समाज के बेसहारा लोगों की मदद करवा दूंगी सडकें, नाली बनवा दूंगी, पानी की व्यवस्था करवा दूंगी। जवाब किसी समाज सुधारक की तरह भी दिया जा सकता है कि सामाजिक विकास के लिए तन और मन के साथ साथ पूरा का पूरा धन भी लगा दूंगी। पर ये सब तो फालतू बातें हैं, टोटली लफफाजी। मैं तो वही करूंगी जो मेरा मन कहेगा। वैसे भी सोचने से क्या होता है, कभी मिले, तो बताउं कि मुझे क्या करना है।

    ----------
    बोटी-बोटी जिस्म नुचवाना कैसा लगता होगा?

    ReplyDelete
  23. यह टिपण्णी मेने कल दी थी

    राज भाटिय़ा said...

    मै कभी लाटरी नही खेलता, चलिये माना मेने पहली बार खेली ओर मेरा दस करोड या इस से ज्यादा का इनाम निकल आया तो मै उस से क्या करुंगा ? मै उस से अपने सपने पुरे करुंगा, ओर मेरा सपना है कि भारत मै कही एक बडा सा मकान बनवाऊ जिस मे उन बुजुरगो को रखु जिन्हे उन्के अपने उन्हे बेइज्जत करते है, जहां यह बुजुर्ग शान से रह सके,हम भी इंसान है, बहू बेटो ने निकाल दिया तो क्या? जिन के पास अपना पेसा( पेंशन बगेरा है) ओर वो भी जिन के पास कुछ नही वो भी, ओर यहां रहने वाला कोई फ़ीस नही देगा, जो भी अपना खर्च कर सके करे, दुसरे का खर्च भी सब मिल बांट कर करे.एक दुसरे का सहारा बने,
    दस करोड मेरे लिये तो ७०० करोड हो जायेगा, अब अगर इस पेसे को खुब खरच भी करना चाहुऊ, तो अपनी इस जिन्दगी मे खर्च नही कर सकूगां, बच्च को दे दु तो वो अपना भाविष्या नही बना पायेगे.... फ़िर अगर इसे दान दे दुं तो वो भी नही कर पाऊगां, हा अगर इतनी सारी रकम देख कर बच गया, तो अपना सपना पुरा कर के एक अच्छी सी कार खरीदुंगा, हवाई जाहज मे बिजेनेश कलास मै खुद वा बच्चो को खुब घुमाऊंगा, फ़िर पता नही क्या करू...इस लिये मै लाटरी लेता ही नही, निकलने से पहले इतनी सोच मै पढ गया... निकलने के बाद कितना बुरा हाल होगा... ना बाबा हम फ़कड ही ठीक है
    यह है मेरा सपना
    6 October, 2009 8:18 PM

    ReplyDelete
  24. भाटिया जी .......... आधे आप के ......चाहे बेहोश हो जाऊं, भूल जाऊं, मुकर जाऊं.......... आप ध्यान रखना ये आपका और मेरा अग्रीमेंट है .......... फिर आधे का देखूँगा क्या किया जाय ......

    ReplyDelete
  25. hum apne liye bada gha kharidenge,jaha hamare saare rishtedaar bhi reh sake,friends bhi, bahut saare paise hum bank mei nrakhenge,aur uske interest par jeevika halayenge,taki hame koi kaam nahi karna pade,khub saare choclats,gehne,makeup ka saman,perfumes kharidenge.

    ReplyDelete
  26. पूरे के पूरे आपको दे दूंगा ।

    ReplyDelete
  27. सारे जवाबों में मुझे अर्शिया जी का
    जवाब अपने जवाब के ज्यादा करीब लगा !

    वैसे मैं रुपये संभालने के मामले में निरा अनाड़ी हूँ !
    यहाँ तो बीस-पच्चीस हजार भी जेब में पड़े हों तो
    खुद को बादशाह समझता हूँ !

    यहाँ एक जवाब ऐसा भी है कि पढ़कर दुआ निकलती है -
    "हे खुदा ! ऐसों के हाथ में दस करोंड़ रुपये न देकर दस रुपये की सदबुद्धि दे देना !"

    ReplyDelete
  28. say Mohan Vashisth
    भाटिया जी नमस्‍कार

    माफ करना आजकल मेरे आफिस में ब्‍लाग को वैन लगा रखा है और इतना समय मिलता नहीं कि बाहर कैफे में जाकर थोडा कर लूं बस अभी केवल व्‍यू ही देख पाते हैं और पढ पाते हैं। मैंने आपकी पोस्‍ट पढी तो कल सबसे पहली पोस्‍ट करना चाहता था लेकिन नहीं कर पाया इसका जवाब मैं अगर कमेंट में देता तो और ज्‍यादा हास्‍यासपद होता लेकिन अब मैं आपको मेल के द्वारा ही भेज रहा हूं अगर हो सके तो मेरे नाम से एक कमेंट आप ही लिख डालना


    अगर आप मेरी लाटरी लगवा दोगे तो मैं सबसे पहले उन रूपयों में से सवा रूपए का प्रशाद भगवान को चढाउंगा। फिर फिर उनमें से ज्‍यादा भी नहीं तो 6 करोड की लाटरी ही खरीद लूंगा और फिर भारत में कोई गरीब नहीं रहेगा सभी को बोलूंगा कि लाटरी खेलो और देश का भला करो। क्‍योंकि हमारे देश के सफेदपोश तो हमारे पैसे खाकर डकार भी नहीं लेते तो देश का भला क्‍या करेंगे फिर आपको हम सभी को ही सोचना पडेगा ना देश को आगे बढाने का कोई तरीका। तो भाटिया जी एक बात आप और भी बता दें कि लाटरी कहां से कौनसी और कब खरीदनी है क्‍या नंबर लेना चाहिए और हां मैं केवल दस रूपए तक ही इस बिजनेस में इन्‍वेस्‍ट करूंगा



    --
    thanx with regard
    Mohan Vashisth
    Jalandhar
    +919988097449
    plz visit at
    http://mohankaman.blogspot.com/

    ReplyDelete
  29. ham to ticket bhi nahi kahreed paaye date hi nikal gayi ji....

    ReplyDelete
  30. राज भाई, आप गरीबों को सपने भी कठिन दिखा रहे हैं. प्रश्न पूछ रहे हैं.....मिल जाये तो क्या करेंगे??? अरे भाई १० करोड़ डॉलर मिल जाने के बाद भी कुछ करना पड़े तो ऐसे पैसे किस काम के!!!

    ReplyDelete
  31. माफी चाहूँगा, आज आपकी रचना पर कोई कमेन्ट नहीं, सिर्फ एक निवेदन करने आया हूँ. आशा है, हालात को समझेंगे. ब्लागिंग को बचाने के लिए कृपया इस मुहिम में सहयोग दें.
    क्या ब्लागिंग को बचाने के लिए कानून का सहारा लेना होगा?

    ReplyDelete
  32. भाटिया साहब, बहुत देर बाद इस पर नजर पडी ! मगर जबाब जरूर दूंगा :

    फिफ्टी=फिफ्टी, पक्का ! आई स्वेर !! :)

    ReplyDelete
  33. दीपावली पर्व की आपको एवं समस्‍त परिवार को हार्दिक शुभकामनाएं वैभव लक्ष्‍मी आप सभी पर कृपा बरसाएं। लक्ष्‍मी माता अपना आर्शिवाद बरसाएं

    ReplyDelete
  34. झिलमिलाते दीपो की आभा से प्रकाशित , ये दीपावली आप सभी के घर में धन धान्य सुख समृद्धि और इश्वर के अनंत आर्शीवाद लेकर आये. इसी कामना के साथ॰॰॰॰॰॰॰॰॰॰॰ दीपावली की हार्दिक शुभकामनाए.."
    regards

    ReplyDelete
  35. जी सबसे पहले तो इसे गिनूंगा..
    वाकई दस करोड़ हुए तो घोषणा करूँगा की
    मुझे 5 करोड़ की प्राप्त हुए. ये पांच करोड़ मैं
    अपने मोहल्ले के सौन्दरियाकरण और बेरोजगारी उन्मूलन कार्यों में लगा दूंगा.
    शत प्रतिशत दानिवाला प्रमाण पत्र प्राप्त करूँगा.

    और शेष जीवन... बताने की जरुरत नहीं (मैं आपके साथ विश्व भ्रमण करूँगा)

    ReplyDelete

नमस्कार, आप सब का स्वागत है। एक सूचना आप सब के लिये जिस पोस्ट पर आप टिपण्णी दे रहे हैं, अगर यह पोस्ट चार दिन से ज्यादा पुरानी है तो मॉडरेशन चालू हे, और इसे जल्द ही प्रकाशित किया जायेगा। नयी पोस्ट पर कोई मॉडरेशन नही है। आप का धन्यवाद, टिपण्णी देने के लिये****हुरा हुरा.... आज कल माडरेशन नही हे******

मुझे शिकायत है !!!

मुझे शिकायत है !!!
उन्होंने ईश्वर से डरना छोड़ दिया है , जो भ्रूण हत्या के दोषी हैं। जिन्हें कन्या नहीं चाहिए, उन्हें बहू भी मत दीजिये।