24/11/09

अन्ताक्षरी ६ गीतो भरी

आप सबको अन्तर सोहिल का प्रणाम
मजा आ रहा है ना आप सबको
ये खेल है ही इतना मजेदार
ये खेल हम जब छोटे-छोटे थे तो लगभग रोज रात को खेला करते थे। उस समय टेलीविजन जैसे साधन हमारे पास नही थे। रात को बिजली का गुल हो जाना नियमित था। तो हम सब बच्चे छतों पर और मुंडेरों पर बैठ कर खेला करते थे। मैं मेरी दो दीदीयां और मेरा छोटा भाई हम चारों एक साईड और मेरी सबसे बडी दीदी (उम्र में मुझसे करीबन 7-8 वर्ष बडी हैं) दूसरी तरफ अकेली होती थी। फिर भी हम उनसे रोज हारते थे।
इस खेल को कभी भी, कहीं भी, कितने भी लोग बिना किसी साधन के खेल सकते हैं। इतने मजेदार खेल को इस भागम-भाग भरी जिन्दगी में हम लोग तो भूलने लगे थे। किसी ने सोचा भी नही होगा कि अन्ताक्षरी को ऐसे आनलाईन भी खेला जा सकता है, इस अनूठे प्रयोग के लिये हम सब श्री राज भाटिया जी का हार्दिक धन्यवाद करते हैं कि उन्होंनें हम सबके लिये इतना बढिया खेल शुरू किया है।
और आप सबका हम दिल से शुक्रिया अदा करते हैं कि आप इस खेल में भाग लेने के लिये बार-बार रिफ्रेश और रिलोड करते हैं।
नोट - इस पेज को टैब में खुला रखिये और अपना गाना गाकर और अंतिम अक्षर " " के बीच में लिखकर टिप्पणी करके आप दूसरी टैब में ब्लाग्स और चिट्ठियां पढ सकते हैं, और दूसरे कार्य कर सकते हैं। फिर जब फ्री होते हैं तो एक बार रिफ्रेश करे
कल की पहेली के विजेता है.. रुप चंद्र शास्त्री जी

लेकिन हम उस के बाद प्रकाश गोविंद जी के संग काफ़ी देर खेलते रहे, बहुत मजा आया, आप मै से सभी लोग कभी भी किसी भी समय अपने साथी बना कर या जो लाईन पर हो खेल सकते है, समय तो सिर्फ़ नियम बनाने के लिये ही रखा है, वेसे सारा समय ब्लांग खुला है खेलने के लिये, धन्यवाद
तो शुरु करे आज की आंतक्षरी....
तू प्यार का सागर है,
तू प्यार का सागर है,
तेरी एक बून्द के प्यासे हम,
तेरी एक बून्द के प्यासे हम,
तो शुरू करे...
"" से जी

156 comments:

  1. "मतलब निकल गया तो पहचानते नहीं,
    यूं जा रहे हैं, जैसे हमें जानते नहीं।'

    'ह'

    ReplyDelete
  2. हँसता हुआ नूरानी चेहरा
    काली ज़ुल्फ़ें रंग सुनहरा

    रा****

    ReplyDelete
  3. हम प्यार में जलने वालों को
    चैन कहाँ आराम कहाँ

    'ह'

    ReplyDelete
  4. हंगामा है क्यूँ बरपा थोड़ी सी जो पी ली है
    डाका तो नहीं डाला चोरी तो नहीं की है

    है**

    ReplyDelete
  5. हम तो तेरे आशिक हैं सदियों पुराने चाहे तू माने चाहे न मान
    --*न* पर्

    ReplyDelete
  6. बहुत
    कान प्युजन है अवधिया साहब , ह से तो रंजना जे बोल गई चलो उसी कड़ी को आगे बढ़ता हूँ ...राजा की आयेगी बरात रंगीली होगी रात
    मगन मै नाचूंगी....

    "गी "

    ReplyDelete
  7. नानी तेरी मोरनी को मोर ले गए
    बाकी जो बचा था काले चोर ले गए

    ReplyDelete
  8. सही में कनफूजन है ....
    गा दीवाने झूम के
    रात की ज़ुल्फ़ें चूम के
    दिल भी है दिलदार भी है
    मौसम भी है प्यार भी है

    ReplyDelete
  9. न तुम हमें जानो न हम तुम्हे जाने

    'न "

    ReplyDelete
  10. ना तुम हमें जानो ना हम तुम्हें जानें
    मगर लगता है कुछ ऐसा मेरा हमदम मिल गया
    'य'

    (गोदियाल जी आप के लिये गीत

    गीत गाता हूँ मैं गुनगुनाता हूँ मैं

    आप पीछे रह गये इसलिये 'य' से)

    ReplyDelete
  11. गीत गता चल ... ओ साथी गुनगुनाता चल .........

    ReplyDelete
  12. यारा ओ यारा इश्क़ ने मारा
    हो गया मैं तो तुझ में तमाम
    दे रहें सब मुझे तेरा नाम
    मैं बेनाम हो गया

    ReplyDelete
  13. सब गड़बड़ कान फुजन अब कौन लिख रहा है जी :)

    ReplyDelete
  14. yaari hai imaan mera yaar meri jindagi

    "ga" se ...

    ReplyDelete
  15. लगी ना छूटेगी प्यार में बालमा
    जो कर सके कर ले बैरी जहाँ

    'ह'

    ReplyDelete
  16. हमारे गाँव कोई आएगा ... प्यार की डोर से बांध जाएगा .....

    गा

    ReplyDelete
  17. हंसने की चाह ने इतना मुझे रुलाया है
    कोई हमदर्द नहीं, दर्द मेरा साया है

    ReplyDelete
  18. गाता रहे मेरा दिल
    तू ही मेरी मंजिल
    कहीं बीते ना ये रातें कहीं बीते ना ये दिन

    'न'

    ReplyDelete
  19. ना ना करते प्यार तुम्ही से कर बैठे !
    करना था इनकार मगर इकरार तुन्ही से कर बैठे!!

    ReplyDelete
  20. ठाढे रहियो ओ बांके लाल रे ठाढे रहियो !!
    'य' से कहें !!

    ReplyDelete
  21. यम्मा यम्मा ये खूबसूरत समां
    आज की रात है जिन्दगी कल हम कहां तुम कहां

    'ह'

    ReplyDelete
  22. हंसते-हंसते कट जायें रस्‍ते,
    जिन्‍दगी यूं ही चलती रहे ।
    'ह'

    ReplyDelete
  23. हमने तुमको देखा, तुमने हमको देखा कैसे
    हम तुम सनम सातों जनम मिलते रहे हों जैसे

    'स'

    ReplyDelete
  24. संदेशे आते हैं, हमें तड़पाते हैं ।
    'ह'

    ReplyDelete
  25. हम थे जिनके सहारे !
    वो हुए ना हमारे !
    डूबी जब दिल की नैया सामने थे किनारे!!!

    ReplyDelete
  26. राम करे ऐसा हो जाए
    मेरी निंदिया तोहे मिल जाए
    मैं जागूँ, तू सो जाए ।

    'ए'

    ReplyDelete
  27. ए दिल है मुस्किल है जीना यहाँ|
    ज़रा बचके ज़रा हट के ये बोम्बे मेरी जां|
    "न"

    ReplyDelete
  28. एक मैं और एक तू है
    और हवा में जादू है

    'ह'

    ReplyDelete
  29. अरे देर हो गई
    न से गाना था

    ReplyDelete
  30. ना-ना करते प्यार तुम्हीं से कर बैठे
    करना था इन्कार मगर इकरार तुम्हीं से कर बैठे

    'ठ"

    ReplyDelete
  31. अब देखते हैं कौन आता है 'ठ' से गाना गाने

    ReplyDelete
  32. हाले दिल यूं उन्हें सुनाया गया ,आँख ही को जुबान बनाया गया
    य से आगे की पंक्ति

    ReplyDelete
  33. कहां गये भईया प्रकाश गोविन्द जी

    ReplyDelete
  34. विधू जी 'ठ' से गाईये

    ReplyDelete
  35. antar sohil ji pahle upar ke gaane dekh to lijiye THade rahiyo pahlee aa chukaa hai!!!

    ReplyDelete
  36. uske baad shrankhlaa badh tarike se aataa jaraha hai "N"

    ReplyDelete
  37. @मुरारी पारिक जी
    क्षमा कीजियेगा
    आप भी कृप्या देखिये मैनें 'न' से ही गाया है और उस गाने का अंतिम अक्षर है 'ठ'

    प्रणाम

    ReplyDelete
  38. अब तो लगता है श्री राज भाटिया जी का इंतजार करना पडेगा

    ReplyDelete
  39. आप लोग जिन्हें 'ठ' से गाना या भजन याद नही आ रहा है
    कृप्या टिप्पणी जरूर करें
    "हार गये" या "नहीं पता" लिखें

    प्रणाम

    ReplyDelete
  40. ठण्डे- ठण्डे पानी से नहाना चाहिये
    गाना आये या न आये गाना चाहिये ।

    अगला गाना 'य' से…………………

    ReplyDelete
  41. bhajan-thumak chalat ramchndr bajat painjaneeya...

    gana-

    -thandi hawayen lahra ke aayen---

    ReplyDelete
  42. ये दुनिया ये महफिल मेरे काम की नहीं

    'ह'

    ReplyDelete
  43. कभी-कभी जब लोगों को मालूम होता है तो भी वो गाना गाने से बचते हैं। इस लिये मैनें थोडा सा पिंच किया था।
    आप सबसे क्षमाप्रार्थी हूं।
    देखा अब अल्पना जी ने दो-दो लिख दिये। हा-हा-हा

    ReplyDelete
  44. हमने देखी है इन आँखो की महंकती खुश्बू
    हाथ से छू के इसे रिश्ते का कोई नाम न दो


    अगला शब्द 'द'

    ReplyDelete
  45. दे दे प्यार दे प्यार दे रे हमें प्यार दे
    दुनिया वाले कुछ भी बोलें हम हैं प्रेम दीवाने
    दे दे प्यार दे

    'द'

    ReplyDelete
  46. दिल की गिरह खोल दो चुप न बैठो कोई गीत गाओ ।


    शब्द 'अ'

    ReplyDelete
  47. aa chal ke tuze main leke chaloo, yek ayese gagan ke talen

    jahaa gam bhee naa ho, aansoo bhee naa ho, bas pyaar hee pyaar palen
    "ae"

    ReplyDelete
  48. आप यूँ ही अगर हमसे मिलते रहे
    देखिए एक दिन प्यार हो जाएगा
    आ: ऐसी बातें न कर ऐ हसीं जादूगर
    मेरा दिल तेरी नज़रों में खो जाएगा
    "ग" से...
    अरे सब कहां गये जी मुझे कल से समय नही होगा इस लिये आओ आज खेले

    ReplyDelete
  49. रेखा प्रहलाद जी
    के गाने का अंतिम अक्षर 'ल' होता है (प्यार पलें)
    राज जी कृप्या 'ल' से गाईये

    ReplyDelete
  50. लाखों तारे आसमान में, एक मगर ढूँढे ना मिला
    देखके दुनिया की दीवाली, दिल मेरा चुपचाप जला
    "ल"

    ReplyDelete
  51. लाल लाल होठवा से बरसे से ललइया कि रस चुएला।
    ल से

    ReplyDelete
  52. लाख छुपाओ छुप न सकेगा राज हो कितना गहरा
    दिल की बात बता देता है, असली नक़ली चेहरा
    "र" से

    ReplyDelete
  53. रहें ना रहें हम महका करेंगें
    बनके कली, बनके सबा बाग-ए-वफा में

    'म'

    ReplyDelete
  54. मुहब्बत की राहों में
    चलना सम्भल के
    यहाँ जो भी आया
    गया हाथ मल के
    "क" से

    ReplyDelete
  55. कभी न कभी कोई न कोई तो आयेगा अपना मुझे बनयेगा --
    *ग* पर्

    ReplyDelete
  56. किसी पत्थर की मूरत से मोहब्बत का इरादा है
    परस्तिश की तमन्ना है इबादत का इरादा है

    'ह'

    ReplyDelete
  57. हम लाए हैं तूफ़ान से कश्ती निकाल के
    इस देश को रखना मेरे बच्चों सम्भाल के
    "क"

    ReplyDelete
  58. गुज़रा हुआ ज़माना, आता नहीं दुबारा
    हाफ़िज़ खुदा तुम्हारा
    "र"

    ReplyDelete
  59. रामा रामा गजब हुई गवा रे
    हाल हमरा अजब हुई गवा रे
    रामा रामा ...

    ReplyDelete
  60. रात कली एक ख्‍वाब में आयी और गले का हार बनीं !!

    ReplyDelete
  61. मैं ना भूंलूंगा
    इन रस्मों को इन कसमों को इन रिश्ते-नातों को
    मैं ना भूलूंगा

    'ग'

    ReplyDelete
  62. रंजना जी

    'र' से गाना गाना है या 'म' से

    ReplyDelete
  63. ओह सॉरी .. अंतर सोहिल जी और रंजना भाटिया जी आपलोग खेलें .. मैने ऐसे ही लिख दिया था !!

    ReplyDelete
  64. अजी रंजना जी की कडी सही चल रही है फ़िर अन्तर जी की यानि अब ग** से

    ReplyDelete
  65. नाचे मन मोरा, मगन, धीगधा धीगी धीगी/
    बदरा घिर आये, रुत है भीगी भीगी

    गी**

    ReplyDelete
  66. संगीता जी यूँ ही सब आते रहेंगे आप भी लिखे

    ReplyDelete
  67. संगीता जी चलिये अईये खेले

    ReplyDelete
  68. गाये जा गीत मिलन के तु अपनी लगन के
    "क" से

    ReplyDelete
  69. आदरणीय संगीता जी
    क्षमा कीजिये
    रामा-रामा वाले गाने में कन्फयूजन हो गया था
    आप कहां चले गये, अब आपको गाना है

    ReplyDelete
  70. अरे कोई बात नहीं .. सब ठीक है !!

    ReplyDelete
  71. कई बार यूं ही देखा है
    ये जो मन की सीमा रेखा है
    मन तोड़ने लगता है
    अन्जानी प्यास के पीछे
    अन्जानी आस के पीछे
    मन दौड़ने लगता है

    है ***

    ReplyDelete
  72. कभी तेरा दामन ना छोडेंगे हम ,
    चाहे जमाना करे लाखों सितम .. हाय !!
    'य' से

    ReplyDelete
  73. या दिल की सुनो दुनियावालो
    या मुझको अभी चुप रहने दो
    मैं ग़म को खुशी कैसे कह दूँ
    जो कहते हैं उनको कहने दो


    दो**

    ReplyDelete
  74. (दुनिया बनाने वाले, क्या तेरे मन में समाई
    काहेको दुनिया बनाई, तूने काहेको दुनिया बनाई
    "इ"

    ReplyDelete
  75. इमली का बूटा बेरी को बेर इमली खट्टी मीठे बेर चल घर जल्‍दी हो गयी देर !!

    ReplyDelete
  76. रंजिश ही सही दिल ही दुखाने के लिये आ
    आ फिर से मुझे छोड़ के जाने के लिये आ

    ReplyDelete
  77. आपके पहलु मैं आकर रो दिए दास्ताने गम सुनाकर रो दिए !!!
    "अ "

    ReplyDelete
  78. इचक दान बिचक दान दाने उपर दाना इचक दाना...

    ReplyDelete
  79. नगमें हैं शिकवे हैं किस्से हैं बातें हैं
    बातें भूल जाती हैं यादें याद आती हैं

    ReplyDelete
  80. hamne tumko pyaar kiyaa hai jitnaa kaun karegaa utnaa|

    "n"

    ReplyDelete
  81. This comment has been removed by the author.

    ReplyDelete
  82. नैनों में बदरा छाए, बिजली सी चमके हाए
    ऐसे में बलम मोहे, गरवा लगा ले
    "ल"

    ReplyDelete
  83. लायी कहाँ ऐ ज़िंदगी, है सामने मंज़िल मेरी
    फिर भी मंज़िल तक मैं जा न सकूँ
    सपनों की दुनिया पा न सकूँ
    लायी कहाँ ऐ ज़िंदगी ...

    ReplyDelete
  84. लो आ गयी उनकी याद वो नहीं आये !
    "य"

    ReplyDelete
  85. लाल छ्डी मैदान खडी क्या खुब लड़ी..

    "ड़"

    ReplyDelete
  86. गीत गाता हूँ मैं गुनगुनात हूँ मैं मैंने हँसे का वादा किया था कभी, इसलिए अब सदा मुस्कुराता हूँ मैं|
    "म"

    ReplyDelete
  87. गुज़रे हैं आज इश्क़ में हम उस मक़ाम से
    नफ़रत सी हो गई है मुहब्बत के नाम से
    स**

    ReplyDelete
  88. मेरे दुश्मन तू मेरी दोस्ती को तरसे
    मुझे ग़म देने वाले तू खुशी को तरसे
    स**

    ReplyDelete
  89. सो गया ये जहां
    सो गया आसमां
    सो गई हैं सारी मंजिलें
    सो गया है रस्ता

    'त'

    ReplyDelete
  90. तुम्हें याद करते करते जाएगी रैन सारी
    तुम ले गये हो अपने संग नींद भी हमारी

    "र"

    ReplyDelete
  91. तसवीर बनाता हूँ, तसवीर नहीं बनती, तसवीर नहीं बनती
    एक ख्वाब सा देखा है, ताबीर नहीं बनती, तसवीर नहीं बनती

    ReplyDelete
  92. राह बनी ख़ुद मंज़िल पीछे रह गए मुश्किल
    साथ जो आए तुम
    राह बनी ख़ुद मंज़िल ...

    ReplyDelete
  93. तू कहां !ये बता इस नशीली रात में,
    माने ना मेरा दिल दिवाना, हाय, माने ना मेरा दिल दिवाना।
    "न"

    ReplyDelete
  94. लो आ गई उनकी याद
    वो नही आये

    'य'

    ReplyDelete
  95. या दिल की सुनो दुनियावालो
    या मुझको अभी चुप रहने दो
    मैं ग़म को खुशी कैसे कह दूँ
    जो कहते हैं उनको कहने दो
    "द"

    ReplyDelete
  96. antar sohil ji ye gana aa chukaa!!! ha..ha..

    ReplyDelete
  97. शर्मा जी थोडा जल्दी से...

    ReplyDelete
  98. duniyaan se duniyaawaloon se hum aaj bagaawat karte hain tumse mohbbat karte hain
    "h"

    ReplyDelete
  99. लल्ला लल्ला लोरी दूध की कटोरी
    दूध में बताशा लल्ला करे तमाशा

    'श' या 'स'

    दोबारा पीछे आ गये जी अगर 'ल' से किसी ने ना गाया हो तो यह माना जाये

    ReplyDelete
  100. मुरारी जी
    धन्यवाद गलती बताने के लिये

    ReplyDelete
  101. हम तुम से जुदा हो के मर जायेंगें रो-रो के

    'क'

    ReplyDelete
  102. आने-जाने वालों को मेरा प्रणाम
    अब मुझे चलना है जी
    ट्रेन पकडनी है घर जाने के लिये

    'य'

    ReplyDelete
  103. क्या से क्या हो गया
    बेवफ़ा तेरे प्यार में
    चाहा क्या क्या मिला
    बेवफ़ा तेरे प्यार में
    "म"

    ReplyDelete
  104. देखते हैं 'य' से कौन बकरा बन के गाता है
    हा-हा-हा-हा-हा

    अजी 'य' से नही गाना है

    just joking

    ReplyDelete
  105. चलिये कल मिलते है राम राम ओर धन्यवाद

    ReplyDelete
  106. ले के पहला-पहला प्यार, भर के आंखों में खुमार, जादू नगरी से आया है कोई जादूगर।
    "र"

    ReplyDelete
  107. शर्मा जी कडी से कडी मिलाये जनाब

    मैं आशिक़ हूँ बहारों का
    फ़िज़ाओं का नज़ारों का
    मैं मस्ताना मुसाफ़िर हूँ
    जवां धरती के अंजाने किनारों का
    अब "क" से

    ReplyDelete
  108. kaun aayaa ki ngaahon me khanak jaag uthi!!
    "Th"

    ReplyDelete
  109. थोडा सा ठहरो, करती हू तुम से वादा, पुरा होगा तुम्हारा इरादा.
    "द"

    ReplyDelete
  110. दो दिल टूटे दो दिल हारे,दुनिया वालो सदके तुम्हारे....
    "र"

    ReplyDelete
  111. रोका कई बार मैंने दिल की उमंग को
    क्या करूं मैं अपनी निगाहों की पसंद को
    "क"

    ReplyDelete
  112. राज जी वैसे आपको शायद "ठ" से गाना था....
    ठंडे-ठंडे पानी से नहाना चाहिये... गाना आये या ना आये गाना चाहिये...
    "य"

    ReplyDelete
  113. ये है रेशमी, ज़ुल्फ़ों का अन्धेरा ना घबराइये
    जहाँ तक महक है मेरे गेसुओं की, चले आइये
    य**

    ReplyDelete
  114. ये जिन्दगी उसी की है जो किसी का हो गया,प्यार ही में खो गया..
    "य"

    ReplyDelete
  115. ये समा समा है ये प्यार का
    किसी के इंतज़ार का
    दिल ना चुराले कहीं मेरा मौसम बहार का
    क** से

    ReplyDelete
  116. किसी की मुस्कुराहटो पे हो निसार,किसी का दर्द मिल सके तो ले उधार,किसी के वासते हो तेरे दिल मे प्यार ,जीना इसी का नाम है
    "ह"

    ReplyDelete
  117. हम तुमसे जुदा हो के मर जाएँगे रो-रो के

    मर जाएँगे रो-रो के
    क**

    ReplyDelete
  118. कहीं दूर जब दिन ढल जाये ,सांझ की दुलहन बदन चुराये चुपके से आये
    "य"

    ReplyDelete
  119. ये ज़ुल्फ़ अगर खुल के बिखर जाए तो अच्छा
    इस रात की तक़दीर सँवर जाए तो अच्छा
    छ**

    ReplyDelete
  120. छोड दो आँचल जमाना क्या कहेगा,इन अदाओ का जमाना भी है दीवाना ,दीवाना क्या कहेगा
    "ग"

    ReplyDelete
  121. गाता रहे मेरा दिल, तू ही मेरी मंज़िल,
    कहीं बीतें न ये रातें, कहीं बीतें न ये दिन
    न**

    ReplyDelete
  122. ना कोई उमंग है,ना कोई तरंग है,मेरी जिन्दगी है क्या एक कटी पतंग है
    "ह"

    ReplyDelete
  123. हमदम मेरे, मान भी जा,कहना मेरे प्यार का
    अरे हल्का-हल्का, सुर्ख लबों पे रंग तो है इक़रार का
    क**

    ReplyDelete
  124. कभी-कभी मेरे दिल मे खयाल आता है,कि जैसे तुझको बनाया गया है मेरे लिए
    "ए"

    ReplyDelete
  125. ऐसे तो न देखो, के हमको नशा हो जए
    ख़ूबसूरत सी कोई हमसे ख़ता हो जाए
    ए**

    ReplyDelete
  126. एह्सान तेरा होगा मुझ पर,दिल चाहता है वो कहने दो ,मुझे तुमसे मोहब्बत हो गई है ,मुझे पलको की छांव मे रहने दो
    "द"

    ReplyDelete
  127. दिन हैं बहार के तेरे मेरे इक़रार के
    दिल के सहारे आ जा प्यार करें
    र**

    ReplyDelete
  128. रुक जा रात ठहर जा रे चन्दा ,आई है मिलन की बेला
    "ल"

    ReplyDelete
  129. लिखा है तेरी आँखों में, किसका अफ़साना
    अगर इसे समझ सको, मुझे भी समझाना
    न**

    ReplyDelete
  130. न न करते प्यार तुम्ही से कर बैठे ,करना था इनकार मगर इकरार तुम्ही से कर बैठे...
    "ठ"

    ReplyDelete
  131. ठहरिये होश में आलूँ तो चले जाइयेगा

    आपको दिल में बिठालूँ तो चले जाइयेगा
    ग**

    ReplyDelete
  132. गुजरा हुआ जमाना आता नही दोबारा,हाफ़िज खुदा तुम्हारा..
    "र"

    ReplyDelete
  133. रोका कई बार मैंने दिल की उमंग को
    क्या करूं मैं अपनी निगाहों की पसंद को
    क**

    ReplyDelete
  134. कुछ ना कहो ,कुछ भी ना कहॊ,
    क्या कहना है,क्या सुनना है.......

    ReplyDelete
  135. हमदम मेरे, मान भी जाओ
    कहना मेरे प्यार का
    अरे हल्का-हल्का, सुर्ख लबों पे
    रंग तो है इक़रार का
    क**

    ReplyDelete
  136. राज जी आप ये गाना रिपीट कर रहे है ..........

    ReplyDelete
  137. दुसरा अभी लो जी..इस के लिये सांरी

    ReplyDelete
  138. हमें काश तुम से मुहब्बत न होती
    कहानी हमारी हक़ीकत न होती
    त**
    फ़िल्म मुगले आजम १९६०

    ReplyDelete
  139. तुम्हारा चाहने वाला खुदा की दुनिया में
    मेरे सिवा भी कोई और हो खुदा न करे
    "र"

    ReplyDelete
  140. रिम झिम के तराने लेके आयी बरसात
    याद आये किसी से वो पहली मुलाक़ात
    त**

    ReplyDelete
  141. तेरा मेरा प्यार अमर!
    फिर क्यों मुझको लगता है डर!

    "र"

    ReplyDelete
  142. रंग दिल की धड़कन भी लाती तो होगी
    याद मेरी उनको भी आती तो होगी
    ग**

    ReplyDelete
  143. गुम है किसी के प्यार मे दिल सुबह शाम,पर तुम्हे लिख नही पाऊं मै उसका नाम ,हाये राम...
    "म"

    ReplyDelete
  144. माई रे मैं कासे कहूं पीर अपने जिया की माई रे

    ReplyDelete
  145. माई री
    हाँ
    माई री मैं कासे कहूँ पीर अपने जिया की
    माई री

    ओस नयन की उनके मेरी लगी को बुझाये ना
    तन मन भीगो दे आके ऐसी घटा कोई छाये ना
    मोहे बहा ले जाये ऐसी लहर कोइ आये ना
    ओस नयन की उनके मेरी लगी को बुझाये ना
    पड़ी नदिया के किनारे मैं प्यासी

    पी की डगर में बैठा मैला हुआ री मोरा आंचरा
    मुखडा है फीका फीका नैनों में सोहे नहीं काजरा
    कोई जो देखे मैया प्रीत का वासे कहूं माजरा
    पी की डगर में बैठा मैला हुआ री मोरा आंचरा
    लट में पड़ी कैसी बिरहा की माटी
    माई री ...

    आँखों में चलते फिरते रोज़ मिले पिया बावरे
    बैंया की छैंया आके मिलते नहीं कभी साँवरे
    दुःख ये मिलन का लेकर काह कारूँ कहाँ जाउँ रे
    आँखों में चलते फिरते रोज़ मिले पिया बावरे
    पाकर भी नहीं उनको मैं पाती
    माई री ...

    ReplyDelete
  146. रात और दिन दिया जले,मेरे मन मे फ़िर भी अंधियारा है
    "ह"

    ReplyDelete
  147. हज़ार बातें करे जमाना मेरी व्फा पे यकीन करना----
    *न* पर्

    ReplyDelete
  148. ना तुम हमे जानो,ना हम तुम्हे जाने ,मगर लगता है कुछ ऐसा ,मेरा हमदम मिल गया...
    "य"

    ReplyDelete
  149. नमस्कार, आंताक्षरी तो १०,०० बजे समय के अनुसार खत्म हो गई है, लेकिन अगर आप आगे खेलना चाहते है तो फ़िर अर्चना जी के छोडे शव्द से आगे बढे... यानि य** कोई ना कोई आप का साथ निभाने जरुर आयेगा

    ReplyDelete
  150. ये लाल रंग कब मुझे छोड़ेगा | मेरा गम कब तलक मेरा दिल तोड़ेगा!!!
    "ग"

    ReplyDelete

नमस्कार, आप सब का स्वागत है। एक सूचना आप सब के लिये जिस पोस्ट पर आप टिपण्णी दे रहे हैं, अगर यह पोस्ट चार दिन से ज्यादा पुरानी है तो मॉडरेशन चालू हे, और इसे जल्द ही प्रकाशित किया जायेगा। नयी पोस्ट पर कोई मॉडरेशन नही है। आप का धन्यवाद, टिपण्णी देने के लिये****हुरा हुरा.... आज कल माडरेशन नही हे******

मुझे शिकायत है !!!

मुझे शिकायत है !!!
उन्होंने ईश्वर से डरना छोड़ दिया है , जो भ्रूण हत्या के दोषी हैं। जिन्हें कन्या नहीं चाहिए, उन्हें बहू भी मत दीजिये।