23/12/09

राज !! अगले जन्म का?? भाग २

आप सभी का स्वागत करता हुं मै बेकार कुमार झुंण झुण वाला, मेरी  टीम ओर मेरी तरफ़ से आप सब को इस एक अति सुंदर दिन की बधाई, मै बेकार, हमारे डाकटर साहब झटका जी ओर केमरा मेन जी ""कोई नही जी" ओर झूठा सिंग जी ओर गंदा कुडा जी आप सभी को नमस्कर , सतश्री अकाल, सलाम बोलते है.

आज के हमारे मेहमान है देश के महान डाकटर.... डाकटर के के के( कमीना  कुमार कुता जी)

तभी सीन बदलता है ओर बेकार जी की आवाज से डाकटर जी स्टुडियो मै प्रवेश करते है....
बेकार जी,,,,, डाकटर कमीना जी आप का स्वागत है इस सुंदर स्टुडियो मै...
नमस्कार आप को कोई मुस्किल तो नही हुयी रास्ते मै?
डाकटर कमीना जी... जी नही, ओर आप का स्टुडियो बहुत सुंदर लगा( क्या दो नमबर के पैसे से बना है)
बेकार जी....धन्यवाद, आप भी बहुत सुंदर मजाक करते है, अच्छा कमीना जी आप हमे अपने बारे कुछ बतायेगे?

डाकटर कमीना जी...अजी छोडिये भुत काल को
बेकार जी.....स्पेश्लिस्ट है है आप, लेकिन किस रोग के?
डाकटर कमीना जी... जी बस मै डाकटर हुं, जो भी बकरा हाथ लग जाये... उसे झटकना अपना फ़र्ज है
बेकार जी.....बकरा? लेकिन हम ने तो सुना है कि आप इंसानो के  डाकटर है?
डाकटर कमीना जी...बेकार जी आप भी समझते नही, हम मरीज को बकरा बोलते है... हिहि हि हि
बेकार जी.....लेकिन आप ने बहुत कम समय मै इतना आलीशान कलिनिक बना लिया, ओर आप के पास कई कारे है, बंगले है, नोकर चाकर है, ओर जब कि आप के साथ के पढे डाकटर अभी भी जम नही पाये?कुछ रोशनी डालेगे..
डाकटर कमीना जी...देखिये मेरा समय बहुत किमती होता है, मै एक अप्रेशन का २,३ लाख लेता हुं, ओर दिन मै अगर १० ,१२ आप्रेशन कर दुं तो---
बेकार जी.....बेहोश होते होते बचे, फ़िर दो घुंट पानी पी कर बोले आप १०, १२ आप्रेशन एक दिन मै केसे कर लेते है...
डाकटर कमीना जी... अजी एक इंजेकशन लगाना है बस
बेकार जी.....फ़िर?
डाकटर कमीना जी...बेकार जी लोग मेरे पास आते है, यह पुछने की  गर्भ मै बच्चा किस लिंग का है, लेकिन जब गर्भ मे कन्या हो तो लोग गर्भ पात हमीं से करवाते है
बेकार जी.....लेकिन यह तो गलत है
डाकटर कमीना जी...शुरु शुरु मै लगता था, अब नही, ओर अब तो हम कई बार पैसो के लालच मै लडका भी हो तो कह देते है कि लडकी है, देखिये बेकार जी हमे पैसो से मतलब है, उस परिवार से नही  जो अपने बच्चे को मरवाना चाहते है
बेकार जी.....हू. तो अब बताईये आप की  प्रेशानी क्या है, आप भविष्य  को क्यो देखना चाहते है?
डाकटर कमीना जी...बेकार जी देखिये मै दान पुजा बहुत करता हुं, शहर मै मैने चार सुंदर मंदिर बनवाये है,मस्जिद, गुरुदुवारे मै भी हर महीने एक राशि मेरे दान खाते से जाती है, हर साल शहर मे मै भवय जगराता करवाता हुं, मैरे घर मै भगवान की सोने की मुर्तिया है. बस यही देख्ना चाहता हुं कि भगवान मैरे से कितने खुश है.
बेकार जी.....तो कमीना जी हम चलते है उस ओर जहां आप अपने अगले जन्मो को देख सकते है, ओर इस सफ़र मै आप के पायलट होगे देश के महान डाकटर झटका जी...
दोनो खडे होते है ओर डाकटर झटका की तरफ़ बढते है


 बेकार जी दोनो का परिचाय करवाते है, ओर वापिस अपनी जगह आ जाते है.
डाकटर झट्का जी.....दो चार बाते करने के बाद उन्हे सामने पडे बेड मै लिटा देते है, ओर फ़िर बोलते है कमीना जी आप अपनी दोनो आंखे बन्द कर ले ओर शरीर को...... अब आप गहरी बहुत गहरी नींद मै सो गये है, आप मेरी ओर सिर्फ़ मेरी आवाज सुन रहे है, तो देखिये आप कहा है, ओर क्या कर रहे है...



 डाकटर कमीना जी.....जी मै लेटी हुं, मेरे समाने एक पोस्टर सा लगा है,,,
डाकटर झट्का जी.....आप धयान से देखे शायद उस पोस्टर पर कोई तारीख लिखई हो..


 डाकटर कमीना जी.....जी उस पोस्टर के नीचे लिखा है २१/०१/२०३९
डाकटर झट्का जी.....आप की बातो से लगता है कि आप एक मादा  है


 डाकटर कमीना जी.....जी मै इस जन्म मै एक कुतिया हुं, ओर मेरे पिल्ले मैरा दुध चुस रहे है.
डाकटर झट्का जी.....आप ध्यान से देखे आप के कितने पिल्ले है, ओर कितने मादा ओर कितने नर है?

 डाकटर कमीना जी.....जी यह सारी मादा है ओर सात है
डाकटर झट्का जी.....चलिये अब  थोडा आगे चलते है, आप फ़िर से गहरी नींद मै जा रहे है... ओर आगे ओर भी आगे.आप मेरी आवाज सुन रहे है ना? अब आप देखे कहा है

 डाकटर कमीना जी....हाय हाय की आवाजे मुझे आ रही है, लगता है मै किसी बहुत ठंडी जगह पर हुं
डाकटर झट्का जी.....क्या आप इस बार इंसान के रुप मै आये है? या कोई ओर...रुप ओर आप अपने आस पास देख कर बाताये आप कहा है.


 डाकटर कमीना जी.....मै कोई इंसान नही, एक कीडा हुं ओर गली की नाली मै पल रहा हुं, अभी अभी एक बच्चा अपनी साईकिल से गिरा ओर वो दर्द से हाय हाय चिल्ला रहा है, ओर कई बार उस ने मेरे ऊपर थुका, अरे बाप रे अब पेशाब भी करने लग गया मेरे ऊपर.
डाकटर झट्का जी.....क्या आप बता सकते है कि यह कोन सा सन है देखिये अपने आस पास


 डाकटर कमीना जी.....हां मै देख रहा हुं इस बच्चे कि एक कापी मेरे पास गिरी थी उस मै सन२२८९ लिखा है
डाकटर झट्का जी.....कमीना जी अब आप फ़िर से गहरी ओर गहरी नींद मै जा रहे है, ओर फ़िर वापिस इस आज मै आ रहे है मै अब उलटी गिनती गिनुगां ओर आप ने पांच  से एक के बार अपनी आंखे धीरे धीरे खोलनी है ५,४,३,२....१


 डाकटर कमीना जी.....आंखे खोल कर मुस्कुराते है

मेरा यह लेख किसी आम आदमी  से कोई वास्ता नही रखता, अगर भाग्या बंस किसी कि निजी जिन्दगी से मिलता हो तो वो एक संयोग ही होगा, ओर इस लेख को एक मजाक समझ कर ही ले
अगले ऎपिसोड मै आप किस हस्ती से मिलना चाहेगे  जरुर लिखे.धन्यवाद

21 comments:

  1. दान का चर्चा घर घर पहुंचे
    लूट की दौलत छुपी रहे
    नकली चेहरा सामने आए
    असली फितरत छिपी रहे

    जय हिंद...

    ReplyDelete
  2. अरे बाप रे !
    कोई कमज़ोर दिल का डॉक्टर हो तो उसकी तो टें हो जाये।
    लेकिन राज़ जी, इस तरह के डॉक्टर तो हर प्रोफेशन में भरे पड़े हैं।
    भविष्य सही दिखाया है।

    ReplyDelete
  3. वाह क्या राज़ बताया। अब अगली बार किसी ब्लागर के पिछले जन्म का राज़ बतायें क्यों कि उन्हें सोते जागते हर समय ब्लाग के ही सपने आते हैं। धन्यवाद

    ReplyDelete
  4. क्या खूब राज़ खोला है ...इस जन्म का और भविष्य के कई जन्मों का ...
    शानदार जानदार व्यंग्य ...!!

    ReplyDelete
  5. "ये राज !! अगले जन्म का??" है या पोल खोल?

    ReplyDelete
  6. हा हा हा ... मज़ा आ गया पढ़ कर....

    ReplyDelete
  7. गजब की पोल खोली है आपने तो.

    रामराम.

    ReplyDelete
  8. मैं तो बिल्कुल नही जाऊंगा बेकार जी के स्टूडियो में, क्योंकि यहां सच्चाई बताई जाती है।
    अगली बार किसी ऐसे अध्यापक का भविष्य बताईयेगा, जो कक्षा में पढाने की बजाय ट्यूशन की फीस लेकर पेपर लीक करवा कर पास करवाता है और छोटे बच्चों का शोषण करता है।

    प्रणाम स्वीकार करें

    ReplyDelete
  9. बहुत खूब भविष्य बताया..

    हम तो कहेंगे अगली बार ओबामा का भविष्य बाँचा जाय..

    ReplyDelete
  10. भाटिया जी, ये श्रंखला तो बडी मजेदार चल रही है....अगली बार हाट सीट पर किसी मिलावट खोर को बिठाया जाए..
    माफ कीजिए, लिटाया जाए :)

    ReplyDelete
  11. .
    .
    .
    मेरे विचार में तो नारी भ्रूण हत्या करने वाले इस जल्लाद का अगला जन्म और भी भयावह होगा...
    अति सुन्दर!

    ReplyDelete
  12. आजकल सभी डॊक्टर के के के हो गए हैं जी:) मरीज़ के शरीर की जाच से पहले उसकी जेब टटोलते हैं॥

    ReplyDelete
  13. शानदार । निशाना लगा दिया है आपने । आभार ।

    ReplyDelete
  14. waah kya raaj khola hai aapne..
    bahut sahi...

    ReplyDelete
  15. waah kya raj khola ,aakar ek rahsya ka najara dekha ,ati sundar ,

    ReplyDelete
  16. डाक्टरों की पोल ! खोल भाई खोल!!!

    ReplyDelete
  17. वाह वाह सरजी,
    लगता है अब हम वक़ीलों का नम्बर भी लगने ही वाला है। ग़ायब हो जाने में ही भलाई है। हा हा। बहुत मज़ेदार रहे दोनों लेख और बहुत वाजिब बात कह गए आप। नव वर्ष की शुभकामनाओं सहित।

    ReplyDelete
  18. bahut charcha hai is programme ki..aap ne bhi shrinkhla shuru ki!
    mazedaar hai.
    Wish you and your family a very very happy new year.
    आपको नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनाएं .

    ReplyDelete

नमस्कार, आप सब का स्वागत है। एक सूचना आप सब के लिये जिस पोस्ट पर आप टिपण्णी दे रहे हैं, अगर यह पोस्ट चार दिन से ज्यादा पुरानी है तो मॉडरेशन चालू हे, और इसे जल्द ही प्रकाशित किया जायेगा। नयी पोस्ट पर कोई मॉडरेशन नही है। आप का धन्यवाद, टिपण्णी देने के लिये****हुरा हुरा.... आज कल माडरेशन नही हे******

मुझे शिकायत है !!!

मुझे शिकायत है !!!
उन्होंने ईश्वर से डरना छोड़ दिया है , जो भ्रूण हत्या के दोषी हैं। जिन्हें कन्या नहीं चाहिए, उन्हें बहू भी मत दीजिये।