31/05/10

साबधान कही आप अपना पास पोर्ट ना० खुद ही तो नही बता रहे....

आज कल मुझे सभी जान पहचान वालो की तरफ़ से एक मेल आ रही है, जूस नाम से उस का चित्र मै नीचे दे रहा हुं,कल मैने तंग आ कर इस पर जाना चाहा, तो आगे जा कर यह मेरा ई मेल पास पोर्ट ना मांगने लगा, सो मैने दे दिया, क्योकि मेल किसी पुराने ब्लांगर की थी, ओर मुझे विशवास था,लेकिन जब थोडा ओर आगे गया तो यह मेरे से ओर ज्यादा जानकारी मांगने लगा, तो मेरी छ्टी इंद्री ने काम किया ओर मै वहां से भागा, ओर आज एक दो ब्लांगरो ने मुझे मेल किया कि राज जी हमारा एकाऊंट तो इस जुस पर नही है, आप का धन्यवाद, तो आप सभी को मै सुचित करना चाहता हुं कि मैने आज तक किसी को इस निक्कमे जुस पर निमंत्रण नही भेजा हैअगर मेरे नाम से किसी को कोई ऎसा निमंत्रण आये तो समझे यह झुस या जुस्न ने खुद भेजा है, कृप्या आप इस के धोखे मै मत आये, आज मै अपना पास्पोर्ट बदल रहा हुं, ओर आप सब को साबधान करना मैने अपना फ़र्ज समझा
यह मेल भी जिस ने भेजी है या जिस के नाम से आई है वो मेरा विश्वासनिया है, ओर मुझे लगता है कि उसे नही मालुम कि उस के नाम से यह मेल मुझे आई है. अगर आप लोगो ने इस मेल को खोला है ओर अपना पास पोर्ट इस मै दिया है तो अब अपना पास पोर्ट ना जल्द से जल्द बदल ले

28 comments:

  1. है राम हम तो लूट गए फिर !! अभी चेक करता हूँ और पासवर्ड बदलता हूँ ..........आभार आपका !

    ReplyDelete
  2. आजकल ऐसे बहुत से मेल आ रहे हैं। हम तो ऐसे मेल को बिना पढ़े ही डिलिट कर देते हैं।

    ReplyDelete
  3. आजकल ऐसे बहुत से मेल आ रहे हैं। हम तो ऐसे मेल को बिना पढ़े ही स्‍पैम कर देते हैं।

    ReplyDelete
  4. झूस का वह जूस देखने से लगता है की किसी अफ़्रीकी ने ही निकाला है क्योंकि चरण सिंह नाम वह कही से सही पकड़ गया मगर अमी कोई जात( सरनेम ) नहीं है !

    ReplyDelete
  5. गोदियालान के जी यह चरण सिह जी तो जान पहचान के ही है, जेसे मैने कल झ्स को खोला. वेसे ही चरण सिंह जी ने पंगा लिया होगा... ओर फ़िर उन के एड्रेस बुक से सब को मेल हो गये... तो बचिये इस झुस से कही यह हमारा जुस ना निकाल दे

    ReplyDelete
  6. इस प्रकार की मेल का एक ही इलाज है बगैर पढ़े ही स्पैम रिपोर्ट करे | ताकी आगे से इस प्रकार की मेल पर रोक लग जाए |

    ReplyDelete
  7. मुझे भी दिन भर ना जाने कितने ही ई-मेल आते हैं 'जान-पहचान' वालों के इस झूस की ओर से। बिना खोले-देखे सीधे इसे स्पैम घोषित कर देता हूँ, भले ही मेरे बेटे की ओर से आया हो!

    ReplyDelete
  8. आज सुबह-सुबह आपकी तरफ से भी मुझे यही मेल प्राप्त हुई थी। इसमें लिखा था Raj Bhatia wants to be your friend

    मैनें तो तुरन्त डिलीट कर दिया जी

    प्रणाम

    ReplyDelete
  9. me to aksar delet karta hun is tarha ki chize

    ReplyDelete
  10. आज मुझे भी 4 :23 am पे आपके नाम से jhoos .com के तरफ से ऐसा ही इ.मेल आया था जिसे हमने spam में डाल दिया क्योकि मुझे पता था की जब हमारी आपकी इ.मेल पे बात चित हो चुकी है तो आप मुझे इस jhoos पे दोस्ती के लिए क्यों आमंत्रित करेंगे ? नेट भी ठगी का धंधा बनता जा रहा है ,और इसलिए मेरा आप सबसे आग्रह है की जिस किसी ब्लोगर का प्रोफाइल पूरा न दिखे उसके ब्लॉग पे कमेन्ट भी न करने जाएँ और न ही ऐसे बुरका पहन कर ब्लॉग लिखने वालों के ब्लॉग को पढ़ें या उसके फोलोवर बने ऐसा करना आपके लिए घातक हो सकता है ,हमने तो इस दिशा में सुरक्षा के लिए किसी भी ब्लॉग पर कमेन्ट देने से पहले उसका पूरा प्रोफाइल चेक करना शुरू कर दिया है ? जरा सोचिये जो अपनी पहचान छुपा रहा है वह ठीक उसी तरह नहीं है की रात में तो चोरी करता है और दिन में राम कथा कहता है और उसकी पहचान भी गुप्त है ,इसलिए हम सब को मिलकर इन पहचान छुपाकर लिखने वालों से सावधान रहना चाहिए ,जो अच्छे लोग है उनसे मेरा आग्रह है की कम से कम अपना पूरा प्रोफाइल ब्लॉग पर अभी डाल दें जिससे आपको भी हम गलत समझने की भूल न कर बैठें / भाटिया साहब आपने सबको सावधान किया इसके लिए हमसब आपके आभारी हैं ,हमने इस दिशा में और भी विस्तृत जाँच शुरू कर दी है ,मुझे जैसे जैसे कुछ सुराग हाथ लगेगा हम आप सब को भी अवगत कराते रहेंगे ,फ़िलहाल सतर्क और सावधान रहिये क्योकि यहाँ बुरका पहन कर छुड़ा घोपने वाले हर कदम पे खरें हैं |

    ReplyDelete
  11. उपयोगी सूचना देने के लिए आभार!
    हम भी सावधान हो गये हैं!
    फिर भी सुरक्षा की दृष्टि से बदल लेते हैं!

    ReplyDelete
  12. वो डाल-डाल तो हम पात-पात।

    यह टिप्पणी वाला डिब्बा खुलता ही नहीं है। आज भी बड़ी देर बाद खुला, जब मैं भी अड़ गया कि देखूं कब तक नहीं खुलता।

    ReplyDelete
  13. आजकल ऐसे मेल दिनेश राय द्विवेदी जी की और से आ रेहे हैं !शुक्रिया!

    ReplyDelete
  14. आजकल इस तरह की मेल बहुत आ रही हैं । लेकिन जान पहचान वालों की भी होती हैं । मेरे पास आज ही इंदु पूरी की तरफ से आई है । पता नहीं वो भी क्या ऐसी ही है ?

    ReplyDelete
  15. ऐसी स्पॅम मेल अक्सर आती हैं ... सावधानी बरतने की ज़रूरत है .. फ़ायर वाल ज़रूर लगाएँ अपने क्म्प्यूटर में ...

    ReplyDelete
  16. ये झूस का आमंत्रण मुझे भी अनेक बार मिला है और आप से भी। लेकिन इन आमंत्रणों से तंग आ चुका हूँ। उन्हें देखे बिना हटाना ही एक मात्र उपाय है।

    ReplyDelete
  17. आपके नाम से हमारे पास भी आया था, लेकिन देखते ही हमारी छठी इन्द्री सक्रिय हो गयी। भाटिया जी ये झूस -वूस के चक्कर में कब से पडने लगे, बकवास है। और हटा दिया।

    ReplyDelete
  18. लो कल्लो बात्! अजी भाटिया जी..हम तो अभी आप ही के नाम से मिली इस मेल को डिलीट करके आ रहे हैं....
    कमाल है!

    ReplyDelete
  19. सादर वन्दे !
    ये तो रोज का चक्कर है, मै ऐसे मेल देखते ही डिलीट कर देता हूँ | ब्लोग से ही फुरसत नहीं मिलती | हाँ नहीं तो, फिर इन झमेलों में कौन फसे |
    बढ़िया किया आप फसे कम से कम हम तो बचे !
    रत्नेश त्रिपाठी

    ReplyDelete
  20. हमारे पास भी झूस में सदस्य बनने के कई ऑफर आ चुके हैं..मुझे तो लगता है कि मैंने भी अपना पासवर्ड दिया होगा..!
    ..मेरे मित्र भी एक बार पूछ रहे थे कि तुमने ऐसा मेल क्यों भेजा..? यह झूस क्या है..! जबकि मैंने उन्हें कोई मेल नहीं भेजा था..!
    ..पासवर्ड तो .... ऐसे बिंदी-में होता है क्या वह इसे पढ़ सकता है..?

    ReplyDelete
  21. दिनेश राय द्विवेदी जी मुझे भी ई मेल भेजते रहते हैं :)
    कोई दूसरे गिरिजेश राव भी कभी कभार मेल भेज देते हैं ।

    ReplyDelete
  22. दिनेश राय द्विवेदी जी मुझे भी ई मेल भेजते रहते हैं :)
    कोई दूसरे गिरिजेश राव भी कभी कभार मेल भेज देते हैं ।

    ReplyDelete
  23. आपका न्यौता हमें भी मिला था.. हमने तो डिलीट कर दिया...:(

    ReplyDelete
  24. आपका आमंत्रण डिलिट करके जिस अपराध बोध से गुजर रहे थे, इस पोस्ट को पढ़कर उबर गये. :)


    पासपोर्ट को पासवर्ड कहें तो बेहतर.

    ReplyDelete
  25. बहुत उपयोगी पोस्ट.

    रामराम.

    ReplyDelete
  26. बहुत उपयोगी पोस्ट.

    रामराम.

    ReplyDelete
  27. दराल साहब!
    आपकी बात .............
    हा हा हा हा
    जो मर्जी समझिए ,मगर जिन्हें मैं सम्मान देती हूँ उनकी सोच मेरे बारे मे ऐसी हो तो........
    दुःख तो होगा न?
    झूस कौन है ऐसा क्यों कर रहा है मैं नही जानती .

    ReplyDelete

नमस्कार, आप सब का स्वागत है। एक सूचना आप सब के लिये जिस पोस्ट पर आप टिपण्णी दे रहे हैं, अगर यह पोस्ट चार दिन से ज्यादा पुरानी है तो मॉडरेशन चालू हे, और इसे जल्द ही प्रकाशित किया जायेगा। नयी पोस्ट पर कोई मॉडरेशन नही है। आप का धन्यवाद, टिपण्णी देने के लिये****हुरा हुरा.... आज कल माडरेशन नही हे******

मुझे शिकायत है !!!

मुझे शिकायत है !!!
उन्होंने ईश्वर से डरना छोड़ दिया है , जो भ्रूण हत्या के दोषी हैं। जिन्हें कन्या नहीं चाहिए, उन्हें बहू भी मत दीजिये।