23/09/10

समीर जी आप लडको की बात करते है यहां तो देखे...

समीर जी एक नजर इधर भःई

32 comments:

  1. मान गए आपकी पसंद :)

    ReplyDelete
  2. नेट धीमा है, कुछ नहीं देख पाया... लेकिन लोगों की प्रतिक्रिया पढ़ कर देखे बिन रहा भी नहीं जा रहा.. फिर आते हैं :)

    ReplyDelete
  3. बढिया हहह्हहह मज़ा आ गया।

    ReplyDelete
  4. हा हा हा हा हा हा हा ये भी खूब रही ..

    regards

    ReplyDelete
  5. हा-हा-हा
    मजा आया
    बढिया विज्ञापन है जी

    प्रणाम

    ReplyDelete
  6. हा हा हा... ज़बरदस्त विज्ञापन!

    ReplyDelete
  7. हम भी अपने नेट कनेक्सन से पीड़ित हैं ....सो ???

    ReplyDelete
  8. गजब करते हो जी.:)

    रामराम.

    ReplyDelete
  9. .
    वड्डे वड्डे पिंडाँ विच ऎवेई हुँदा ।

    ReplyDelete
  10. वाह वाह हा हा हा हा हा हा

    ReplyDelete
  11. मुर्दा जी उठा... वाह ये है संगीत की ताक़त.. :) आभार..

    ReplyDelete
  12. गाड़ी चलाते समय सिर्फ गाड़ी ही चलानी चाहिए। ना संगीत ना फोन :-)

    ReplyDelete
  13. हा हा!! सोच रहा हूँ अपना आलेख मिटा दूँ. :)

    ReplyDelete
  14. अरे वाह आपके वहां (जर्मनी में) क्या भूत भी ऐसा करते हैं .... हा हा हा हा

    ReplyDelete
  15. एक घंटे से कई बार प्रयास कर चुका देख ही नहीं पाया। फिर कभी।

    ReplyDelete
  16. हा हा हा गोलू आखिर का सीन देख कर उछल गया ..मारे डर के या हैरत के पता नहीं हा हा हा हा

    ReplyDelete
  17. मान गए साहब .... गज़ब
    जय हिन्द, जय बुन्देलखण्ड

    ReplyDelete
  18. टिप्पणी से पहले बज रहा संगीत बन्द कर देता हूँ....

    ReplyDelete
  19. arye baaaap reyyyy sabhi ha ha ha kar rahe hain aur meri to sitti pitti gum ho gayi end dekh kar..[:P]

    ReplyDelete
  20. इसको कहते हैं कफन फाडके ..हाहाहा

    ReplyDelete

नमस्कार, आप सब का स्वागत है। एक सूचना आप सब के लिये जिस पोस्ट पर आप टिपण्णी दे रहे हैं, अगर यह पोस्ट चार दिन से ज्यादा पुरानी है तो मॉडरेशन चालू हे, और इसे जल्द ही प्रकाशित किया जायेगा। नयी पोस्ट पर कोई मॉडरेशन नही है। आप का धन्यवाद, टिपण्णी देने के लिये****हुरा हुरा.... आज कल माडरेशन नही हे******

मुझे शिकायत है !!!

मुझे शिकायत है !!!
उन्होंने ईश्वर से डरना छोड़ दिया है , जो भ्रूण हत्या के दोषी हैं। जिन्हें कन्या नहीं चाहिए, उन्हें बहू भी मत दीजिये।