03/01/12

ब्लॉगर्स का सम्मान सांपला सांस्कृतिक मंच से

श्री पद्मसिंह जी स्मृति चिन्ह भेंट करते हुये अन्तर सोहिल

इंदु मां को स्मृति चिन्ह भेंट संजय जी (मंजे) द्वारा

श्री राजीव तनेजा जी को स्मृति चिन्ह भेंट अश्वनी जी द्वारा

श्री राज भाटिया जी को स्मृति चिन्ह भेंट कर रहे हैं विक्की जी

श्री यौगेन्द्र मौद्गिल जी सौरभ जी और बीच में हैं डॉ० राजेश वशिष्ठ जी

श्री अलबेला खत्री जी का स्वागत करते हुये हैप्पी जी

श्री अलबेला जी को स्मृति चिन्ह देते हुये नवीन भूटानी जी

श्री पद्मसिंह जी का सम्मान करते हुये अन्तर सोहिल

13 comments:

  1. चित्रमय यादगार!!

    ReplyDelete
  2. अच्छा प्रयास है ।
    इस बार नहीं आ सके ।
    लेकिन अगली बार के लिए अभी से आरक्षण करा लेते हैं ।
    नव वर्ष की शुभकामनायें ।

    ReplyDelete
  3. जे बात । आहाहा मजा आ गया जी । बहुत बढिया । सबको बहुत बहुत बधाई और शुभकामनाएं । अंतर जी आपके सांस्कृतिक संगमंडली से मिलना बहुत सुखद रहा । हैप्पी जी को हमारा स्नेह दें । वे काफ़ी देर तक मुझसे बात करते रहे थे । बहुत ही यादगार रहे वो पल ।

    ReplyDelete
  4. waah waah.........maza aaya thand me..........

    ReplyDelete
  5. बेहतर अंदाज .......! सबका सबसे मिल्न अच्छा रहा .....! कभी न भूलने वाले पल ....यादों के रूप में सहेज लिए हैं .....!

    ReplyDelete
  6. कभी न भूलने वाले पल ....

    ReplyDelete
  7. अति सुंदर जी सब चित्र देख कर मजा आ गया, कुछ दिनो बाद विडियो डालूंगा... फ़िर देखे.

    ReplyDelete
  8. अविस्मरणीय मिलन... लगा ही नहीं हम कभी अनजान भी थे :)... और सांपला सांस्कृतिक मंच के मित्रों की मेहनत और समर्पण तो अद्भुद !!!

    ReplyDelete
  9. बहुत बढ़िया भाव भीने क्षण...
    बधाईयां....

    ReplyDelete
  10. सभी से मिलकर बहुत अच्छा लगा

    ReplyDelete
  11. अफसोस हो रहा है कि वो सुनहरे पल इतनी जल्दी क्यों बीत गए?

    ReplyDelete

नमस्कार, आप सब का स्वागत है। एक सूचना आप सब के लिये जिस पोस्ट पर आप टिपण्णी दे रहे हैं, अगर यह पोस्ट चार दिन से ज्यादा पुरानी है तो मॉडरेशन चालू हे, और इसे जल्द ही प्रकाशित किया जायेगा। नयी पोस्ट पर कोई मॉडरेशन नही है। आप का धन्यवाद, टिपण्णी देने के लिये****हुरा हुरा.... आज कल माडरेशन नही हे******

मुझे शिकायत है !!!

मुझे शिकायत है !!!
उन्होंने ईश्वर से डरना छोड़ दिया है , जो भ्रूण हत्या के दोषी हैं। जिन्हें कन्या नहीं चाहिए, उन्हें बहू भी मत दीजिये।