12/01/09

बुझो तो जाने?? जबाब

्सब से पहले तो आप सब से माफ़ी चाहूंगा, की तबीयत खराब होने की वजह से आज यह जबाब दे रहा हू, ओर शायद टिपण्णियां भी सही रुप मे नही दे पा रहा, एक तो हमारे यहां सर्दी बहुत है करीब -२०cके लगभग,,

आप सभी का धन्यवाद जिन्होने इस पहेली मे हिस्सा लिया, यह एक फ़ूल ही है, ओर इस का नाम है... Red Ginger-Flowers (लाल अदरक का फ़ुल ) , ओर इस के साथ ही इस बार किसी का जबाब भी १००% सही नही आया, लेकिन फ़िर भी काफ़ी सज्जन Ginger-Flowers तक तो पहुच ही गये, इस लिये जो लोग अदरक के फ़ूल तक भी पहुच गये वो सब विजेता है,
विजेता के रुप मे सब से पहले स्थान पर आये स्मार्ट इन्डियन ( अनुराग जी) जिन्होने इसे 'Shampoo Ginger' का नाम दिया,शायद यह इसी काम भी आता हो,
दुसरे स्थान पर आये हमारे समीर लाल जी , जिन्होने इस के तीन नाम सुझाये क्रमश; shampoo ginger" "pinecone ginger" or "pinecone lily". लेकिन मै तो अदरक सुन कर ही खुश हो गया.
तीसरे स्थान पर आये डी के शर्मा "वत्स" जी चलिये आप ने भी इसे अदरक तो कहा.
चोठे स्थान पर आये ताऊ राम पुरिया जी जिन्होने मजाक मजाक मै सही जबाब भी दे दिया, अब चाहे नकल मार कर ही दिया हो.
पांचवे स्थान पर आये शुभम आर्य जी जिन्होने समीर जी की ऊगली पकड कर अपनी नेया पार उतारी.
छटे स्थान पर आई अल्पना जी जिन्होने इसे 'pine cone ginger' कहा, एक बात जब आप इसे अदरक कहते थे तो मुझे बहुत खुशी होती थी, अब अदरक तो बहुत सी दवाओ मे काम आता है, साबुन मै भी डलता है.
सातंवे स्थान पर आये हमारे प्रवीण त्रिवेदी जी ओर उन्होने भी इसे शैंपू जिनजर, पाइनकोन जिनजर ही बताया,
आठवे स्थान पर आये हमारे मोहन वशिष्ट जी, जिन्होने सारी रात लगा दी इसे ढुढने मै , ओर फ़िर कही जा कर सही जबाब ले कर आये.
नोवे स्थान पर आये हमारे प्राकश गोबिन्द जी ओर उन्होने काफ़ी समझा कर इस के बारे लिखा.
दसवे स्थान पर आई महक जी जिन्होने अल्पना जी का साथ लिया.
पहले पहल मुझे अच्छा नही लगा की अभी तक किसी का जबाब भी सही नही आया, लेकिन जब अनुरग जी ने पहल की तो कुछ होसल्ल हुआ, मुझे भी अच्छा लगता है जब ज्यादा सही जबाब आये. आप सब को बहुत बहुत बधाई.
अब बात करते है बाकी सज्जनो की जिन्होने इस बार कोशिश तो की लेकिन ......
सब से पहले विवेक जी आये, ओर इसे प्लास्टिक का खिलोना बना गये,फ़िर शुभम आर्य जी आये ओर इसे एक गुलदस्ता बना कर खिसक लिये,फ़िर समीर जी आये ओर इस फ़ूल की लाली पर फ़िदा हो गये, साथ मै दो तीन नाम भी बता गये,

फ़िर आये हमारे ताऊ ओर वो हमेशा की तरिया पर्ची का इन्तजार कर रहे थे, शायद कही से कोई पर्ची वर्ची मिल जाये,फ़िर आई आभा जी ओर इसे नकली बुके बता कर चली गई, फ़िर आये अलोक नाथन जी, ओर उन्होने इस के बारे काफ़ी पूछा, लिजिये अलोक नाथन जी अब आप गुगल बाबा मै इस लाल अदर के फ़ुल का नाम डाले ओर दुनिया भर की जानकारी पाईये, आप का धन्यवाद.

फ़िर मोहन जी आये, ओर उन्होने हमारे मोटे मोटे आंसू पोछे, लेकिन हम तो रो ही नही रहे थे??.पी एन सुबरमान्यम साहब जी ओर उन्होने इसे केकटस बता कर लाल झंडी मे लपेट कर सफ़ेद फ़ूल का नाम दे दिया,फ़िर आये समीर जी, ओर उन्होने इसे बिजली के तारो मै इन उलझा दिया,मोहन जी ट्राई करो कही ना कही से आप को भी नकल मिल जाये गी ताऊ की तरह.

अर्श जी जब हम केले के फ़ुल के बारे पूछेगे तो आप उसे अदरक का फ़ूल बतायेगे, अरे भाई यह केले का फ़ूल नही है.महेन्दर जी इस फ़ुल के पीछे लगे आक को देख कर, आक पर मोहित हो गये,मीत जी यह केकटस तो बिलकुल नही , लेकिन ऎसा ही फ़ुल केकटस मै भी निकलता है,


ओर फ़िर आये सफ़्त अलाम जी बहुत सारी दुयाए दे कर गये. आप का दिल से धन्यवाद,फ़िर आये ब्रिजमोहन जी श्री वास्तव जी लेकिन आप ने बताया नही किस ब्लांग पर? लेकिन यह आज कल सभी के साथ हो रहा है, सभी ब्लांग पर कभी कभी, धन्यावाद

फ़िर आई पारुल जी ओर इसे अन्नानास कह कर मुह मिठ्ठा कर गई, लेकिन भई यह अनानास नही है,लो दिनेशराय जी भी पारुल जी के साथ इसे अनानास कह रहे है, चलिये कभी अनानास के बारे भी पुछेगे,

फ़िर आये तरून जी अरे भाई यह पलास्टिक का बना नही है इस प्राकृति ने इस दुनिया को सच मै बहुत सुन्दर बनाया है, यह तो एक छोटा सा नमुना है.ओर विनय जी बोटोनीक की किताब खरीदने चले गये, अरे क्यो खम्खा मै पेसा बरबाद करते हो, अपने गुगल बाबा है ना.

फ़िर आये हमारे प्यारे गिरीश बिल्लोरे जी ओर वो इसे अप्रेल फ़ुल का नाम दे कर चल दिये,

मिलते है अगली पहेली मे, यह पहेली भी इतनी ही रोचक होगी, आप को जो चित्र दिखेगा, आप उसे बहुत अच्छी तरह से जानते होगे, ओर बस उसे पहचाना है, ओर भारत मै आजकल वो चीज हर तरफ़ है.

12 comments:

  1. सभी विजेताओं को बधाई.
    राज Sir आप अपनी तबियत का ख्याल रखें.पहेली पोस्ट में देर भी होती है तो कोई बात नहीं.
    और हाँ आप को कोई परेशान करने के ख्याल से कोई व्यक्तिगत प्रश्न पब्लिक में करता है तो उस को overlook कर दिजीये.
    आप ने जवाब ही नहीं देना .[मैं ने भी वह पोस्ट देखी थी-उस में लवली जी का भी नाम लिया गया था.]
    आप की पहेलियों से ज्ञान वर्धन होता है--और मनोरंजन भी .
    आभार सहित.

    ReplyDelete
  2. raj saheb aap ki paheli jaandar he
    badhai
    tabiyat ka kyal rakhen

    ReplyDelete
  3. सभी विजेताओं को बधाई.
    " get well soon sir ji, all the best. all your puzzels are wonderful and enjoyable also, we are enrching our knowledge through this....waiting for next puzzle"

    regards

    ReplyDelete
  4. बधाई हो सभी को और मुझे भी.

    ReplyDelete
  5. sab ko badhaayi....sameer ji aap to nakal kar ke pass hue....aapko double badhaayi:)

    ReplyDelete
  6. बड़े भाई पता था कि जवाब गलत है। लेकिन कुछ तो देना था। हम पारूल जी के साथ खड़े हो गए। ताकि कम से कम अकेले ना रह जाएँ। यहाँ तक कि उसी डिजाइन का अन्ननास का फूल तलाश भी कर लिया। चलिए अगली पहेली डालिए। उसे बूझते हैं। अब पहेलियों में मजा आने लगा है। कुछ इस बहाने नया सीखने को मिल रहा है।

    ReplyDelete
  7. बधाई हो सभी को

    ReplyDelete
  8. सभी भक्तजनों को (माफ कीजिए विजेतागणों को) बधाई........

    ReplyDelete
  9. बढ़िया पोस्ट, भाटिया जी। इतनी सर्दी में अपनी सेहत का ध्यान रखा करें। शुभकामनायें।

    ReplyDelete
  10. सभी विजेताओं को बधाई.

    ReplyDelete
  11. बधाई हो सभी को और मुझे भी.

    ReplyDelete

नमस्कार, आप सब का स्वागत है। एक सूचना आप सब के लिये जिस पोस्ट पर आप टिपण्णी दे रहे हैं, अगर यह पोस्ट चार दिन से ज्यादा पुरानी है तो मॉडरेशन चालू हे, और इसे जल्द ही प्रकाशित किया जायेगा। नयी पोस्ट पर कोई मॉडरेशन नही है। आप का धन्यवाद, टिपण्णी देने के लिये****हुरा हुरा.... आज कल माडरेशन नही हे******

मुझे शिकायत है !!!

मुझे शिकायत है !!!
उन्होंने ईश्वर से डरना छोड़ दिया है , जो भ्रूण हत्या के दोषी हैं। जिन्हें कन्या नहीं चाहिए, उन्हें बहू भी मत दीजिये।