19/11/09

आओ आप को ले चले बीते दिनो मै...अन्ताक्षरी १

जी आज से मैने सोचा क्यो ना हम उन दिनो मे चले, जो हम सब ने एक से बिताये हो,यानि जब भी हमे समय होता था तो सब कभी कभी अन्ताक्षरी खेला करते थे, यानि लडी बार गीत गाना, ओर फ़िर मेरे जेसे हेरा फ़ेरी कर के जोर जबर्दस्ती से जीत जाते थे, गलत मलत गीत गा कर, बहुत सुंदर समय था  वो बचपन का.

तो चलिये आज से सिल सिला शुरु करते है उन पलो का फ़िर से, मै अन्त मै एक शब्द आप को दुंगा, आप ने उस शव्द से कोई एक गीत की कम से कम दो लाईने लिखनी है, ओर उस लाईन के आंतिम शव्द से अगला गीत शुरु करना है, आप सब ने बस एक धयान रखना है कि एक गीत इस अन्ताक्षरी मै सिर्फ़ एक बार ही लिखे, वेसे आप चाहे कितनी बार भी कितने ही अलग अलग गीत लिखे.

ओर इस मे विजेता वो होगा जो सब से ज्यादा गीत लिखे गा, यह अन्ताक्षरी (मुझे यह शव्द भूल गया  है केसे लिखना है) रवि वार तक, ओर इस के परिणाम के संग ही दुसरी अन्ताक्षरी शुरु हो जायेगी, लेकिन आप सब ने आज मुझे इस मै अपनी राय भी देनी है, कि इस मै ओर क्या क्या सुधार किये जाये, यानि अभी तो यह पहला प्रयास है. तो आप सब तेयार है.

यह गीत है तलत की आवज मै ....
अंधे जाहन के, अंधे रास्ते... जाये तो जाये कहा,
दुनिया तो दुनिया, तु भी पराया हम यहां ना वहां.
देखे इस बार  पहला विजेता  कोन बनता है
 तो चलिये अब ह या हा से कोई गीत फ़िर उसे से आगे आगे आप को पता ही है.....

ओर आप सब ने अपनी अपनी राय जरुर देनी है सुधार के बारे, ताकि अगली अन्ताक्षरी उस सुधार के संग आये

133 comments:

  1. होठों से छू लो तुम मेरे गीत अमर कर दो..
    बन जाओ मीत मेरे, मेरी प्रित अमर कर दो..

    बड़ा मजा आने वाला है..

    ReplyDelete
  2. दूरियां नजदीकिया बन गई अजब इत्तफाक है
    कह डाली कितनी बाते अनकही अजब इत्तफाक है

    अरे भाटिया साहब, शुरू हो जाने दीजिये, सुझाव अपने आप आजायेंगे !

    ReplyDelete
  3. हम प्यार में जलनेवालों को
    चैन कहाँ, हाय, आराम कहाँ

    ReplyDelete
  4. बैठे बैठे क्या करें करना है कुछ काम
    शुरू करें अन्ताक्षरी ले हरी का नाम
    शनिवार को दोपहर बाद इन्ही लाइनों के साथ अन्ताक्षरी शुरू हुआ करती थी | आज आपने उसी की याद ताजा करा दी |

    ReplyDelete
  5. खेल तो सचमुच अच्‍छा है .. पर मुझे समझ में नहीं आ रहा है कि अभी मुझे गीत किस शब्‍द से लिखना चाहिए !!

    ReplyDelete
  6. हम तुम एक कमरे में बंद हों
    और चाबी खो जाये

    ReplyDelete
  7. हम हैं राही प्यार के हम से कुछ न पूछिये
    जो भी राह में मिला हम उसी के हो लिये

    ReplyDelete
  8. सचमुच मजा आयेगा
    बहुत कुछ याद आ गया

    प्रणाम स्वीकार करें

    ReplyDelete
  9. अवधिया जी ने "य" दिया है तो

    ये गलियां ये चौबारा
    यहां आना ना दोबारा
    के हम तो भए परदेसी
    तेरा यहां कोई नहीं

    लो जी फिर "ह" पर आ गये

    ReplyDelete
  10. हम तुमसे जुदा होके ... मर जाएंगे रो रोके !!

    ReplyDelete
  11. हाँ दीवाना हूँ मैं
    गम का मारा हुआ
    इक दीवाना हूँ मैं

    हाय रे हाय नींद नहीं आये
    आया प्यार भरा मौसम सुहाना

    हमने तुझको प्यार किया है जितना
    कौन करेगा उतना

    हमने देखी है इन आँखों की महती खुशबू
    हाथ से छू के इसे रिश्तों का इल्जाम न दो

    हमें तुम से प्यार कितना ये हम नहीं जानते
    मगर जी नहीं सकते तुम्हारे बिना

    होठों पे ऐसी बात मैं दबा के चली आई
    खुल जाये वही बात जो दुहाई है दुहाई

    हमीं से मोहब्बत हमीं से लड़ाई
    अरे मार डाला दुहाई दुहाई

    है अपना दिल तो आवारा
    न जाने किस पे आयेगा

    हमारी साँसों में आज तक वो
    हिना की खुशबू महक रही है (नूरजहाँ का गाया पाकिस्तानी गीत)

    ReplyDelete
  12. संगीता जी ने 'क' दिया है तो उससे

    कहाँ ले चले हो
    बता दो मुसाफिर
    सितारों से आगे
    ये कैसा जहाँ है

    ReplyDelete
  13. होके मजबूर मुझे उसने भुलाया होगा
    ज़हर चुपके से दवा जानके खाया होगा

    अगला शव्द गा

    ReplyDelete
  14. गाता रहे मेरा दिल तू ही मेरी मंजिल ,कहीं बीते न यह राते ,कहीं बीते न यह दिन ....

    ReplyDelete
  15. गीत गाता चल ओ साथी मुस्‍कुराता चल !!

    ReplyDelete
  16. संगीता जी ना शव्द है गा नही यानि अगला गीत न से शुरु करनाहै

    ReplyDelete
  17. राज भाटिया जी .. मैने आपके गाने को देखकर 'ग' से लिखा .. पर ठीक उसी समय रंजना भाटिया जी ने भी एक गाना 'ग' से लिख दिया .. देखिए एक ही समय है दोनो का .. दोनो साथ साथ टाइप कर रहे थे .. और साथ साथ पोस्‍ट किया .. वैसे 'न' से भी गाना बताना आसान ही है ....

    ना ना करते प्‍यार तुम्‍हीं से कर बैठे !!

    ReplyDelete
  18. भई जब एक ही समय मै दो लोग गाने दे तो जिस की टिपण्णी पहले होगी सेकिंडो के हिसाब से अगला गीत भी वही से शुरु करना होगा, अगर शवद तो ठा है जी बहुत कठीन लेकिन ठ से भी बहुत से गीत है.... देखे कोन पहले आता है इस ठ पर गीत ले कर

    ReplyDelete
  19. ठुमक चलत रामचंद्र बाजत पैजनियां !!

    ReplyDelete
  20. ओह सॉरी .. मुझे शायद नहीं देना था अभी .. ब्‍लाग में अंतराक्षरी .. अभी समझ में नहीं आ रहा !!

    ReplyDelete
  21. ना ना करते प्यार तुम्हीं से कर बैठे
    करना था इनकार मगर इकरार तुम्हीं से कर बैठे

    ReplyDelete
  22. अरे भाई जब तक हम टिप्पणी करें दूसरों का गाना तब तक आ गया होता है!

    ReplyDelete
  23. अवधिया जी पहली बात कि ये गाना हो चुका है .. और दूसरी बात कि आपको य से गाना है !!

    ReplyDelete
  24. राज भाटिया जी .. ये समस्‍या कैसे दूर होगी ??

    ReplyDelete
  25. बस जल्दी से लिखे ओर टिपण्णी दे दे, जो पहले आयेगा लाईन मै तो वो ही माना जायेगा, बाद वाला पीछे, अब संगीता जी ने या शब्द दिया है.... या

    ReplyDelete
  26. ये दुनियां ये महफ़िल मेरे काम की नही.

    रामराम.

    ReplyDelete
  27. भाटिया जी आईडिया तो बहुत जोरदार है पर अभी इसके कानून कायदे समझ कोनी आरहे सैं. जरा समझावो.

    रामराम.

    ReplyDelete
  28. ताऊ जी जिस शव्द पर गीत खत्म होगा दुसरा वही से शुरु करना है जेसे आप नए नही से खत्म किया तो यह रहा ह से अगला गीत
    होठों पे सच्चाई रहती है
    जहाँ दिल में सफ़ाई रहती है
    हम उस देश के वासी हैं, हम उस देश के वासी हैं
    जिस देश में गंगा बहती है
    अगला गीत भी ह से ही शुरु होगा

    ReplyDelete
  29. हम तुमसे जुदा होके मर जायेंगे रो रो के.

    रामराम.

    ReplyDelete
  30. कोयल बोली दुनिया डोली !!

    ReplyDelete
  31. लो आगई उनकी याद वो नही आये.

    रामराम.

    ReplyDelete
  32. ये गलियां ये चौबारा यहां आना ना दोबारा !!

    ReplyDelete
  33. रात कली इक ख्वाब में आई और गले का हार हुई..

    सुबह को हम जब निंद से जागे आंख उन्ही से चार हुई...

    ReplyDelete
  34. राम करे ऐसा हो जाये, मेरी निंदियां तोहे लग जाये
    मैं जागूं और तू सो जाये.

    रामराम.

    ReplyDelete
  35. इमली का बूटा बेरी का बेर ..इमली खट्टी मीठे बेर !!

    ReplyDelete
  36. इना मीना डीका

    रामराम.

    ReplyDelete
  37. इना मीना डीका

    रामराम

    ReplyDelete
  38. रात और दिन दिया जले
    फ़िर भी मेरे मन मे अंधियारा है.

    रामराम

    ReplyDelete
  39. हमें तुमसे प्यार कितना ये हम नहीं जानते
    मगर जी नहीं सकते तुम्हारे बिना..

    ReplyDelete
  40. नानी तेरी मोरनी को मोर ले गए , बाकी जो बचा था सारे चोर ले गए !!

    ReplyDelete
  41. ए मेरे प्यारे वतन, ए मेरे प्यारे चमन..
    तुझ पै दिल कुर्बान..

    ReplyDelete
  42. ए गुलबदन..ए गुलबदन..फ़ूलों सी महक काटों सी चुभन
    तुझे देखके कहता है मेरा मन,
    कही आज मुझे मुहब्बत ना हो हो जाये.

    रामराम

    ReplyDelete
  43. नन्‍हा मुन्‍ना राही हूं देश का सिपाही हूं बोलो मेरे संग जय हिंद जय हिंद !!

    ReplyDelete
  44. दिल की ये आरज़ू थी कोई दिलरुबा मिले
    देखें हमें नसीब से अब अपने क्या मिले
    अब तक तो जो भी दोस्त मिले बेवफा मिले

    ReplyDelete
  45. लल्‍ला लल लौरी दूध की कटोरी दूध में बताशा मुन्‍नी करे तमाशा !!

    ReplyDelete
  46. शायद मेरी शादी का खयाल दिल में आया है
    इसीलिए मम्मी ने मेरी तुम्हें चाय पै बुलाया है

    ReplyDelete
  47. हम बने तुम बने एक दूजे के लिए !!

    ReplyDelete
  48. एक मैं और एक तू
    दोनों मिले इस तरह
    और जो तन मन पै हो रहा है
    वो तो होना ही था

    ReplyDelete
  49. थोड़ा रुक जायेगी तो तेरा क्या जायेगा
    नैन भर के देख लेंगे चैन आ जायेगा
    ओ कामिनी, ओ कामिनी
    थोड़ रुक जायेगी

    ReplyDelete
  50. गोरे गोरे मुखड़े पै काला काला चश्मा
    तौबा खुदा खैर करे खूब है करिश्मा

    ReplyDelete
  51. अन्ताक्षरी तो खैर चलती रहेगी पर बीच में समय मिला है तो इतना कह दूँ कि राज भाटिया जी ने पहेली प्रथा शुरू की खूब हिट हुई मज़ेदार ।

    अब यह तो और भी मज़ेदार मसाला लाये हैं । जितनी तारीफ़ की जाय कम है ।

    ReplyDelete
  52. लगता है सब सो गये ?

    ReplyDelete
  53. मन डोले मेरा तन डोले
    मेरे दिल का गया करार रे
    ये कौन बजाये बांसुरिया

    ReplyDelete
  54. सोये नही सोच रहे है सब चलिये "य" शव्द से

    ReplyDelete
  55. याद में तेरी जाग जाग के हम रात भर करवटें बदलते हैं
    दिल में तेरी उल्फत के धीमे धीमे चराग जलते हैं

    ReplyDelete
  56. हाँ, मैं ने भी प्यार किया
    प्यार से कब इंकार किया
    भीगी-भीगी रातें, मीठी-मीठी बातें
    और मैं ने दिल को निसार किया

    ReplyDelete
  57. ये गलियाँ ये चौबारा
    यहाँ आना ना दोबारा
    अब हम तो भये परदेशी कि तेरा यहाँ कोई नहीं

    ReplyDelete
  58. हम ने जो देखे सपने, सच गो गए वो अपने
    ओ मेरे साजना दिन आ गए हैं प्यार के
    मेरे साजना दिन आ गए क़रार के

    ReplyDelete
  59. कितना प्यारा वादा है इन मतवाली आँखों का
    इस मस्ती में सूझे ना क्या कर डालूँ हाल
    मोहे सम्हाल ।

    ReplyDelete
  60. क्‍या खूब लगती हो , बडी सुaदर दिखती हो !!

    ReplyDelete
  61. लाखों तारे आसमां में एक मगर ढूंढे न मिला !!

    ReplyDelete
  62. लेकर हम दीवाना दिल
    फिरते हैं मंजिल मंजिल

    ReplyDelete
  63. ले के पहला पहला प्‍यार भरके आंखों में खुमार
    जादू नगरी से आया है कोई जादूगर !!

    ReplyDelete
  64. रोते रोते हँसना सीखो
    हँसते हँसते रोना

    ReplyDelete
  65. नफरत करनेवालों के सीने में प्‍यार भर दूं !!

    ReplyDelete
  66. रोते रोत हँसना सीखो
    हँसते हँसते रोना
    जितनी चाबी भरी
    राम ने उतना चले खिलौना

    ReplyDelete
  67. दे दी हमें आजादी बिना खड्ग बिना ढाल
    साबरमती के संत तूने कर दिया कमाल

    ReplyDelete
  68. लाख छुपाओ छुप न सकेगा राज हो कितना गहरा
    दिल की बात बता देता है, असली नक़ली चेहरा

    ReplyDelete
  69. लाल छडी मैदान खडी !

    ReplyDelete
  70. दिल विल प्‍यार व्‍यार मैं क्‍या जानूँ रे

    ReplyDelete
  71. राम तेरी गंगा मैली हो गयी
    पापियों के पाप धोते धोते

    ReplyDelete
  72. अजी र शव्द से शुरु करना है

    ReplyDelete
  73. डिम डिम डिगा डिगा मौसम भिगा भिगा

    ReplyDelete
  74. तेरी याद दिल से, भुलाने चला हूँ
    के खुद अपनी हस्ती, मिटाने चला हूँ

    ReplyDelete
  75. भाटिया जी कृपया 'अक्षर' को 'शब्द' न बोलें ।

    ReplyDelete
  76. न हम तुम्हे जाने , न तुम हमें जानो
    मगर लगता है जैसे की ,मेरा हमदम मिल गया

    ReplyDelete
  77. हम तुम्हारे हैं तुम्हारे सनम
    जानेमन मुहब्बत की
    हर कसम की कसम

    ReplyDelete
  78. आर्य जी ह अक्षर से शुरु करे जल्द

    ReplyDelete
  79. मेरी तसवीर लेकर क्या करोगे तुम मेरी तसवीर लेकर
    मेरी तसवीर लेकर क्या करोगे तुम मेरी तसवीर लेकर

    ReplyDelete
  80. रुला के गया सपना मेरा
    बैठी हूँ कब हो सबेरा

    ReplyDelete
  81. हजारों ख्वाहिसे ऐसी की हर ख्वाहिश पे दम निकले
    बहुत निकले मेरे अरमान लेकिन कम निकले

    ReplyDelete
  82. रंग-बिरंगी राखी लेके आई बहना
    ओ राखी बँधवा ले मेरे वीर

    ReplyDelete
  83. भाई जी
    ये तो एक्सप्रेस चल रही है, लिखने से पहले ही अक्षर बदल जा रहा है

    ReplyDelete
  84. रुक जा ओ जाने वाली रुक जा
    मैं हूँ राही तेरी मंजिल का

    ReplyDelete
  85. आर्य जी ओर अर्कजेश जी वा अन्य साथियो आप हर गीत के आखरी अक्षर को देखे ओर वही से अगला गीत शुरु करे

    ReplyDelete
  86. रत कली मेरे ख्वाब में आई और गले का हार हुयी
    सुबह को जब मै नीद से जगा आँख उन्ही से चार हुई

    ReplyDelete
  87. लेके पहला पहला प्‍यार
    भर के ऑखों में खुमार
    जादू नगरी से आया है
    कोई जादूगर

    ReplyDelete
  88. राम करे ऐसा हो जाये
    मेरी निंदिया तोहे मिल जाये
    मैं जगुन तू सो जाये

    ReplyDelete
  89. अभी क से बोलना है जी

    ReplyDelete
  90. कुछ तो लोग कहेंगे
    लोंगो का काम है कहना

    ReplyDelete
  91. नाम गुम जाएगा
    चेहरा ये बदल जाएगा

    ReplyDelete
  92. किस न ... चिलमन से मारा
    हाय ...
    किस न चिलमन से मारा
    अरे, नज़ारा मुझे किस न चिलमन से मारा
    नज़ारा मुझे किस न चिलमन से मारा

    ReplyDelete
  93. लगा दो आग चिलमन में
    न मैंने मारा न तुमने मारा

    ReplyDelete
  94. रुक जा ओ जाने वाले रुक जा
    मैं हँ इक राही तेरी मंजिल का

    ReplyDelete
  95. गाड़ी बुला रही है, सीटी बजा रही है
    चलना ही ज़िंदगी है, चलती ही जा रही है

    ReplyDelete
  96. कमबख्त इश्क है जो
    सारा जहाँ है वो
    कब आता है
    कब जाता है

    ReplyDelete
  97. हमने तुमको देखा तुमने हमको देखा ऐसे

    ReplyDelete
  98. भाटिया जी, आपकी ये अन्ताक्षरी जरूर रामप्यारी का रिकार्ड तोडने वाली है :)

    ReplyDelete
  99. सज गयी बारात तो क्या
    आई न मिलन की रात तो क्या
    बिन फेरे हम तेरे , बिन फेरे हम तेरे

    ReplyDelete
  100. रंग और नूर की बारात किसे पेश करूँ
    ये मुरादों की हँसी रात किसे पेश करूँ

    ReplyDelete
  101. रुप तेरा मस्‍ताना
    प्‍यार मेरा दीवाना
    भूल कोई हमसे
    न हो जाये

    ReplyDelete
  102. रात कली एक ख्‍वाब में आयी और गले का हार बनीं !!

    ReplyDelete
  103. ये दिल ना होता बेचारा कदम न होते आवारा !!

    ReplyDelete
  104. रहा गर्दिशों में हरदम
    मेरे इश्क का सितारा
    कभी डगमगाई कश्ती
    कभी खो गया किनारा

    ReplyDelete
  105. रुक जा वो जाने वाले रुक जा मैं हूँ राही तेरी मंज़िल का,
    नज़रों में तेरी बुरा हू सही, आदमी बुरा नही मई दिल का,

    ReplyDelete
  106. हो चुका है ये तो जी

    ReplyDelete
  107. राम जी की निकली सवारी
    राम जी की लीला है न्‍यारी

    ReplyDelete
  108. राज ए दिल हम से छुपाया न गया

    ReplyDelete
  109. यादों की बारात ले कर हैं निकले
    दिल के द्वारे

    ReplyDelete
  110. भाटिया जी ये तो बहुत बडिया प्रयास शुरू किया इसके रुल भी लिख देते कि कब तक चलेगा क्या रोज़ इसी पर आगे चलेगी अन्तराक्षरी? धन्यवाद

    ReplyDelete
  111. रोज रोज रोजी तुमको प्यार करता है
    ऐ मैन तुम काहे को इन्कार करता है

    ReplyDelete
  112. हर खुशी हो वहॉं तू जहॉं भी रहे
    जिंदगी हो वहॉं तू जहॉं भी रहे

    ReplyDelete
  113. रणजी म्हारे गुस्से में आये,
    अगिया बरसाए ........थर्राए नैन,
    जैसे ओह जैसे ,
    दूर देश के टावर में घुस जाये एरोप्लेन !!

    ReplyDelete
  114. हीर जाने आळी
    रुक जइये जरा
    खता मेरी क्या है
    बतइये जरा

    ReplyDelete
  115. हाल चल ठीक थक है सब कुछ ठीक ठाक है
    b.a किया है में.a किया ...लगता है वोह भी एवे किया काम नहीं है वर्ना यहं आप की दुआ से सब ठीक ठाक है

    ReplyDelete
  116. रणजी म्हारे गुस्से में आये,
    अगिया बरसाए ........थर्राए नैन,
    जैसे ओह जैसे ,
    दूर देश के टावर में घुस जाये एरोप्लेन !!

    ReplyDelete
  117. निर्मला जी आज पहल दिन है, मुझे आप सब की राय की जरुरत है, साथ साथ मै अपनी राय भी दे. धन्यवाद

    ReplyDelete
  118. हम तो हार मानते है भाई जी ............जब तक हम लिखते है कुछ का कुछ हो चूका होता है !

    ReplyDelete
  119. राही मनवा दुख की चिंता क्‍यों सताती है
    दुख तो अपना साथी है

    ReplyDelete
  120. रामा हो रामा
    हमने गांव की गलियों में
    देखी था पनिहारियां
    चक्कर खा गए हम तो रे भैय्या
    देख शहर की ना3रियां।

    ReplyDelete
  121. वैसे आप लाये है दूर की कौड़ी ! बधाई और शुभकामनाएं !

    ReplyDelete
  122. हाल कैसा है जनाब का

    ReplyDelete
  123. ह से बोलना था
    । मै
    तो चला

    ReplyDelete
  124. कह दो कोई न करे यहाँ प्यार
    इस में ख़ुशियाँ हैं कम
    बेशुमार हैं ग़म

    ReplyDelete
  125. हम ने तो कभी खेला ही नहीं :)

    ReplyDelete
  126. मुझे इश्क है तुझी से, मेरी जाने जिंदगानी
    तेरा पास मेरा दिल है मेरे प्यार की निशानी

    'न' से...

    ReplyDelete
  127. नैनों में बदरा छाए, बिजली सी चमके हाए
    ऐसे में बलम मोहे, गरवा लगा ले

    ReplyDelete
  128. nice idea--
    geet hoga---
    le kar ham diwna dil
    phirte hain manzil manzil...

    ReplyDelete
  129. लाख छुपाओ छुप न सकेगा राज हो कितना गहरा
    दिल की बात बता देता है, असली नक़ली चेहरा

    ReplyDelete
  130. रिमझिम के गीत सावन गाये
    हाये, भीगी भीगी रातों में

    ReplyDelete
  131. मैं जिंदगी का साथ निभाता चला गया .. हर फिक्र को धुंएं में उडाता चला गया!!

    ReplyDelete
  132. ये दुनियां ये महफ़िल मेरे काम की नही.

    रामराम.

    ReplyDelete

नमस्कार, आप सब का स्वागत है। एक सूचना आप सब के लिये जिस पोस्ट पर आप टिपण्णी दे रहे हैं, अगर यह पोस्ट चार दिन से ज्यादा पुरानी है तो मॉडरेशन चालू हे, और इसे जल्द ही प्रकाशित किया जायेगा। नयी पोस्ट पर कोई मॉडरेशन नही है। आप का धन्यवाद, टिपण्णी देने के लिये****हुरा हुरा.... आज कल माडरेशन नही हे******

मुझे शिकायत है !!!

मुझे शिकायत है !!!
उन्होंने ईश्वर से डरना छोड़ दिया है , जो भ्रूण हत्या के दोषी हैं। जिन्हें कन्या नहीं चाहिए, उन्हें बहू भी मत दीजिये।