21/11/09

अन्ताक्षरी ३ गीतो भरी

नमस्कार आप सभी को, आज की आंताक्षरी १०,०० बजे भारतीय समय अनुसार शुरु की है, ओर यह भारतीया समय अनुसार रात १०,०० बजे तक चलेगी, यानि सुबह १०,०० बजे से रात १०,०० बजे तक, आगे आप सब भी अपनी अपनी राय दे, कल से मेरे साथ मेरे साथी के रुप मे अन्तर सोहिल जी भी मिल कर इस श्रांखला को आगे बढायेगे.

आप सब की राय की हमे सख्त जरुरत है, ओर इस समय के बारे जरुर बताये यह समय आप सब को केसा लगा
आज के विजेता है संगीता पुरी जी ओर फ़िर समीर लाल जी भी अपना नाम विजेतओ मै लिखवाने मै सफ़ल रहे, क्योकि समय तो रात एक बजे है ओर संगीता जी अंत तक डटी रही, १,०१ ओर फ़िर १,११ तक संगीता जी रही फ़िर समीर जी आ गये.समय के अनुसार तो संगीता जी जीती.
आज की पहेली इस भजन के आंतिम शव्द से शुरु होगी....

अल्लाह तेरो नाम, ईश्‍वर तेरो नाम
अल्लाह तेरो नाम, ईश्‍वर तेरो नाम
सबको सन्मति दे भगवान
सबको सन्मति दे भगवान
अल्लाह तेरो नाम ...

129 comments:

  1. मन रे तू काहे न धीर धरे
    वो निर्मोही मोह ना जाने
    जिनका मोह करे...!

    ReplyDelete
  2. भाटिया साहब, यह भी एक उचित समय ही है क्योंकि सुबह-सुबह मूड फ्रेश रहता है !

    ReplyDelete
  3. बस ब्लाग पर ही नही जीत पाता हूं,भाटिया जी।वैसे ट्राई करूंगा इस बार भी।

    ReplyDelete
  4. महासंग्राम के सभी योद्धाओं को मेरी शुभकामना...विजयी भव...

    जय हिंद...

    ReplyDelete
  5. बिल्कुल सही समय चुना है भाटिया जी आपने!

    पर यह तो स्पष्ट कीजिये कि गीत अन्तिम शब्द से शुरू करना है या अन्तिम अक्षर से? अन्तिम शब्द 'नाम' है और अन्तिम अक्षर 'म' है।

    ReplyDelete
  6. मन रे तू काहे न धीर धरे
    वो निर्मोही मोह ना जाने
    जिनका मोह करे...!
    ab hum र se kehte hai gana

    rahi manwa dukh ki chinta kyun satati hai
    dukh tho apna saathi hai .

    ReplyDelete
  7. राम करे ऐसा हो जाए .. मेरी निंदिया तुम्‍हें मिल जाए .. मैं जागूं तू सो जाए !!

    ReplyDelete
  8. एक मैं और एक तू है
    और हवा में जादू है

    "ह" ले लो जी

    ReplyDelete
  9. bahut badhiya antaxari chal rahi hai.

    sirf jo hissa le rahe hain unko hi nahi balki dekhne walon ko bhi aanand aa raha hai.

    kya antaxari men sher shaamil nahi ho sakte ?

    ReplyDelete
  10. बहुत सुन्दर प्रयास है भाटिया जी। बधाई।

    अगर अदरवाइज़ न लें तो एक सुझा देना चाहूँगा। अंताक्षरी शुद्ध शब्द नहीं है। सही शब्द अंत्याक्षरी होता है।

    --------
    क्या स्टारवार शुरू होने वाली है?
    परी कथा जैसा रोमांचक इंटरनेट का सफर।

    ReplyDelete
  11. जाकिर अली जी नमस्कार

    अंत+अक्षर = अंताक्षर

    क्योंकि इसमें सारा महत्त्व अंत वाले अक्षर का ही होता है

    क्या यह गलत है? मेरे विचार से तो अंताक्षरी को भी ठीक होना चाहिये।

    प्रणाम स्वीकार करें

    ReplyDelete
  12. @ क्रिएटिव मंच

    यहां कोई भी कभी भी पिछले दिये हुए अंतिम अक्षर से गाना गा सकता है
    केवल दो लाईनें ही लिखनी हैं और अंतिम अक्षर देना है
    आप भी गाना गा कर जाते तो और भी आनन्द आता

    प्रणाम स्वीकार करें

    ReplyDelete
  13. हम छोड चले हैं महफिल को याद आए कभी तो मत रोना !!

    ReplyDelete
  14. naa naa krte pyaar tumhee se kar baithe
    krna tha inkaar ham ikraar tumhee se kar baithe

    ReplyDelete
  15. ना-ना मेरी बेरी के बेर मत तोडो
    रे कोई कांटा चुभ जायेगा

    "ग़"

    ReplyDelete
  16. ठ से गाना है
    गलती हो गई

    ReplyDelete
  17. ठंडे-ठंडे पानी से नहाना चाहिये
    गाना आये या ना आये गाना चाहिये

    "य"

    ReplyDelete
  18. यूँही तुम मुझसे बात करती हो
    या कोई प्यार का इरादा है

    ReplyDelete
  19. होली के दिन दिल खिल जाते हैं रंगों में रंग मिल जाते हैं !!

    ReplyDelete
  20. हम ने जफ़ा न सीखी, उनको वफ़ा न आई
    पत्थर से दिल लगाया, और दिल ने चोट खाई
    ई* या इ* अक्षर से

    ReplyDelete
  21. इचक दाना बिचक दाना
    दाने ऊपर दाना
    कोठे ऊपर लडकी नाचे
    लडका है दीवाना

    "न"

    ReplyDelete
  22. नैना बरसें, रिमझिम रिमझिम
    नैना बरसें, रिमझिम रिमझिम
    पिया तोरे आवन की आस
    स*

    ReplyDelete
  23. सजन रे झूठ मत बोलो खुदा के पास जाना है
    न हाथी है , न घोडा है , वहां पैदल ही जाना है

    'ह' से गाईये

    ReplyDelete
  24. है दुनिया उसी की, ज़माना उसी का
    मोहब्बत में जो हो गया हो किसी का
    क*

    ReplyDelete
  25. कभी कभी मेरे दिल में ख्याल आता है
    कि तुझको बनाया गया है मेरे लिये

    "य"

    ReplyDelete
  26. यार बिना चैन कहाँ रे प्यार बिना चैन कहाँ रे
    सोना नहीं चांदी नहीं यार तो मिला
    अरे प्यार कर ले

    'ल' से गाईये

    ReplyDelete
  27. लागा गोरी गुजरिया से नेहा हमार
    होइ गवा सारा चौपट मोरा रोजगार
    र*

    ReplyDelete
  28. रमैया वास्ता भैया रमैया वास्ता भैया
    मैंने दिल तुझको दिया ओ मैंने दिल तुझको दिया
    'य' से गाईये

    ReplyDelete
  29. This comment has been removed by the author.

    ReplyDelete
  30. यकीन कर लो मुझे मुहब्बत है तुमसे तुमसे
    मेरी ये दुनिया हसीन जन्नत है तुमसे तुमसे

    स*

    ReplyDelete
  31. संदेशे आते हैं हमें तड़पाते हैं
    जो चिट्ठी आती है वो पूछी जाते है
    की घर कब आओगे लिखो कब आओगे
    की तुम बिन ये घर सूना सूना है
    संदेशे आते हैं हमें तड़पाते हैं

    'ह' से गाईये

    ReplyDelete
  32. पहले के गाने मैंने पढ़े नहीं अतः अगर गलती से गाना 'रिपीट' हो जाए तो तत्काल मुझे चिट्ठी द्वारा सूचित किया जाए,

    ReplyDelete
  33. हम बने तुम बने एक दूजे के लिये
    उस को क़सम लगे जो बिछड़ के इक पल भी जिये
    य*

    ReplyDelete
  34. यार हमारी बात सुनो ऐसा इक इंसान चुनो
    जिसने पाप न किया हो जो पापी न हो

    'ह' से गाईये

    ReplyDelete
  35. बहुत गलत जगह पंगा ले लिया आपने इस बार :)

    ReplyDelete
  36. हमें रास्तों की ज़रूरत नहीं है
    हमें तेरे पाँवों के निशाँ मिल गए हैँ
    ह*

    ReplyDelete
  37. हाल क्या है दिलों का न पूछो सनम
    आपका मुस्कुराना गजब ढा गया
    एक तो महफ़िल तुम्हारी यूँ ही कम न थी
    उस पे मेरा तराना गजब ढा गया

    'य' से गाईये जनाब

    ReplyDelete
  38. ये दुनिया गोल है, ऊपर से खोल है
    अन्दर जो देखो प्यारे बिलकुल पोलम-पोल है
    ये दुनिया गोल है

    ReplyDelete
  39. हाय हाय ये मजबूरी ये मौसम और ये दूरी
    तेरी दो टकियाँ दी नौकरी मेरा लाखों का सावन जाए
    हाय हाय ये मजबूरी

    'र' से सोचिये अब

    ReplyDelete
  40. राज जी ये दुनिया गोल नहीं ... पूरी 840 है :)

    ReplyDelete
  41. रंगमहल के दस दरवाज़े
    ना जाने कौन सी खिड़की खुली थी
    थ*

    ReplyDelete
  42. ये कौन सा गाना है
    पहले स्पष्ट कीजिये .... तब आगे बढेगा सिलसिला
    कोई चीटिंग नहीं चलेगी जी यहाँ

    ReplyDelete
  43. राज जी .. कहीं ऐसा तो नहीं कि यह उस फ़िल्म का गाना हो जो अभी तक रिलीज न हुयी हो :)

    ReplyDelete
  44. सत्यम शिवम सुंदरम,१९७८ लता, भूपिंदर , शशि कपूर, जीनत अमान

    ReplyDelete
  45. अजी थ पर एक नही बहुत से गाने है.... चलो अब बचने की कोई गुंजाऎस नही

    ReplyDelete
  46. चलिए मान लिया जी

    थोडा रुक जायेगी तो तेरा क्या जाएगा
    नैन भर के देख लेंगे चैन आ जाएगा
    ओ कामिनी, ओ कामिनी

    'न' से सोचिये तो जरा जनाब

    ReplyDelete
  47. नारी कुछ ऐसन आगे निकल रही है
    मर्दन के पाँव तले धरती फिसल रही है
    ह*

    ReplyDelete
  48. होठो पे ऐसी बात मैं छुपा के चली आयी .. जाए ऐसी बात तो दुहाई है दुहाई !!

    ReplyDelete
  49. हादसे क्या क्या तुम्हारी बेरुखी से हो गए
    सारी दुनिया के लिए हम अजनबी से हो गए

    'ए' से भी आता है गाना आपको ?

    ReplyDelete
  50. इन्साफ़ की डगर पे, बच्चों दिखाओ चल के
    ये देश है तुम्हारा, नेता तुम्हीं हो कल के
    क*

    ReplyDelete
  51. एक दो तीन चार पांच छह सात आठ नौ दस ग्‍यारह बारह तेरह , तेरा करू दिन गिन गिन के इंतजार आजा पिया आयी बहार !!

    ReplyDelete
  52. प्रकाश जी आप्लेट हो गये अब क* से आप से पहले संगीता जी आ गई

    ReplyDelete
  53. ये राज भाटिया जी कहां पहुंच गए .. र से गाइए !!

    ReplyDelete
  54. बडी मुसीबत है भई इतने लोगों के बीच में गाना लिखना !!

    ReplyDelete
  55. रोना-धोना छोड छोड दे
    गम से नाता तोड तोड दे

    "द"

    ReplyDelete
  56. दाग़ न लग जाये हाय
    कहीं दाग़ न लग जाये हाय
    प्यार किया तो कर के निभाना

    ReplyDelete
  57. ना जाओ संईयां, छुडा के बईयां
    कसम तुम्हारी मैं रो पडूंगी

    "ग"

    ReplyDelete
  58. गर्दिश में हों तारे, न घबराना प्यारे
    ग़र तू हिम्मत न हारे, तो होंगे वारे न्यारे
    गर्दिश में हों तारे.

    ReplyDelete
  59. राज जी क्या आपने आज मेरी मेल पढ ली है
    राज जी मुझे लगता है अन्ताक्षरी के लिये कोई गूगल चैट जैसा विजेट हो तो मजा आ जाए
    बार-बार रिफ्रेश करने वाली प्राब्लम बडी प्राब्लम है

    ReplyDelete
  60. राही मनवा दुख की चिंता क्यूं सताती है
    दुख तो अपना साथी है

    'ह'

    ReplyDelete
  61. चलता हूं जी प्रणाम आने-जाने वालों को

    ReplyDelete
  62. अंतर सोहिल जी ,
    आप टिप्‍प्‍णियों को ईमेल में सब्‍सक्राइब कर लीजिए .. जैसे ही नई टिप्‍पणी आएगी आपके ईमेल में पहंच जाएगी !!

    ReplyDelete
  63. हमने गाँव के पनघट पे भई
    हमने गाँव के पनघट पे देखी थी पनिहारियाँ
    चक्कर खा गए हम तो रे भैया देख शहर की नारियाँ

    ReplyDelete
  64. माना हुजूर ने पुकारा नही!
    क्या मेरा साथ भी गवारा नही!!

    ReplyDelete
  65. हमने अपना सब कुछ खोया
    प्यार तेरा पाने को!
    छोड़ दिया क्यों राह में हमको,
    दर-दर भटकाने को!

    अब जरा "क" से गाइए-

    ReplyDelete
  66. शास्त्री जी य * अक्षर से शुरु करना है अगला गीत म से नही

    ReplyDelete
  67. ये रातें ये मौसम ये नदी का किनारा----

    ReplyDelete
  68. राम तेरी गंगा मैली हो गयी पापिओं के पाप धोते धोते। क्या अकेले ही खेली जा सकती है ? मुझे समय का पता नहीं था।
    चलो अब अकेली ही खेलती हूँ

    ReplyDelete
  69. येरी यादों के सिवा दुनिया मे रखा क्या है

    ReplyDelete
  70. हम तो तेरे आशिक हैं सदियों पुराने चाहे तू माने चाहे न माने

    ReplyDelete
  71. नगरी नगरी दुआरे दुआरे ढूँढूँ रे सांवरिया

    ReplyDelete
  72. याद मे तेरी हाग जाग के हम रात भर करवटें बदलते हैं

    ReplyDelete
  73. हर खुशी हो वहाँ तो जहाँ भी रहे----------

    ReplyDelete
  74. हज़ार बातें कहे जमाना मेरी वफा पे यकीन करना

    ReplyDelete
  75. न तुम हमे जनो न हम तुम्हें जाने मगर लगता है कुछ ऐसा मेरा हम दम मिल गया

    ReplyDelete
  76. यारी है इमान मेरा यार मेरी ज़िन्दगी

    ReplyDelete
  77. गैरों पे करम अपनो पे सितम ए जाने वफा ये ज़ुर्म न कर

    ReplyDelete
  78. नाचे मन मोरा, मगन, धीगधा धीगी धीगी -२
    बदरा घिर आये, रुत है भीगी भीगी

    ReplyDelete
  79. रहा गर्दिशों मे हर दम मेरे इश्क का सितारा

    ReplyDelete
  80. गीत गाता चल ओ साथी गुनगुनाता चल !!

    ReplyDelete
  81. राज़े दिल हम से छुपाया न गया

    ReplyDelete
  82. लागा चुनरी मे दाग छुडाऊँ कैसे

    ReplyDelete
  83. संगीता जी के अक्षर पर

    ReplyDelete
  84. सारे जहां से अच्‍छा हिन्‍दुस्‍तां हमारा !!

    ReplyDelete
  85. स पर चलिये संगीता जी

    ReplyDelete
  86. रात अकेली है बुझ गये दिये

    ReplyDelete
  87. सारे जहां से अच्‍छा हिन्‍दुस्‍तां हमारा !!

    ReplyDelete
  88. याद आ रही है .. तेरी याद आ रही है !!

    ReplyDelete
  89. टिप्पणी का आँक डा 100 पर पहुँचाना है आज्

    ReplyDelete
  90. झवा मे क्या है खुश्बूहै फिज़ा मे क्या है सर्गम्\\म से चलिये

    ReplyDelete
  91. उपर हवा लिखा है गल्ति लगी

    ReplyDelete
  92. मानो तो मै गंगा मां हूं ना मानों तो बहता पानी !!

    ReplyDelete
  93. हवा मे क्या है खुश्बू फिज़ा मे क्या है सरगम्

    ReplyDelete
  94. जी समझ गयी .. न से कहिए !!

    ReplyDelete
  95. नज़र के सामने जिगर के पास कोई रहता है वो हो तुम - म से

    ReplyDelete
  96. पहले सौंवी टिप्‍पणी के लिए बधाई !!

    ReplyDelete
  97. मार दिया जाए कि छोड दिया जाय बोल तेरे साथ क्‍या सलूक किया जाए !!

    ReplyDelete
  98. सुनीता जी आप हैं क्या?

    ReplyDelete
  99. ऐ चोरी-चोरी चुपके-चुपके
    तेरे मेरे बिन इस कमरे में और कौन है
    किसने बुलाया बिना पूछे चला आया
    इसे पकड़ो ये चोर कौन है
    चोरी-चोरी

    ReplyDelete
  100. एक तेरा प्यार हमे दो जहाँ से प्यारा है ----

    ReplyDelete
  101. रात कली एक ख्‍वाब में आयी और गले का हार बनी !!

    ReplyDelete
  102. बडी मुश्किल से मेरा ना आया जब भी गीत ढुढ कर लाया पहले ही आप लोग छाये हुये थे बहुत अच्छा लगा

    ReplyDelete
  103. सभी को शुभकामनाएं. लगे रहिये.

    रामराम.

    ReplyDelete
  104. ताऊजी आप भी आईये न

    ReplyDelete
  105. ना तो कारवाँ की तलाश है, ना तो हमसफ़र की तलाश है
    मेरे शौक़-ए-खाना खराब को, तेरी रहगुज़र की तलाश है

    ReplyDelete
  106. संगीता जी गयीं?

    ReplyDelete
  107. लिजिये ह पर
    होठों पे सच्चाई रहती है
    जहाँ दिल में सफ़ाई रहती है
    हम उस देश के वासी हैं, हम उस देश के वासी हैं
    जिस देश में गंगा बहती है

    ReplyDelete
  108. हज़ूर इस तरह भी न इतरा के चलिये -- य पर्

    ReplyDelete
  109. खाना बनाने जा रही हूं !

    ReplyDelete
  110. जरूर जी ह्रे लिये भी बना लेना

    ReplyDelete
  111. राज जी य पर चलिये

    ReplyDelete
  112. अंत में यारी है ईमान मेरा यार मेरी जिंदगी !!

    ReplyDelete
  113. ये समा
    समा है ये प्यार का
    किसी के इंतज़ार का
    दिल ना चुराले कहीं मेरा
    मौसम बहार का
    ये समा

    ReplyDelete
  114. आज तो निर्मला जी को यहाँ देखकर मन्त्र मुग्ध हूँ !
    निर्मला जी आपको इतने सारे गाने आते हैं ..... क्या बात है ....बात क्या कमाल है ..वाह ..वाह


    लेकिन आप अकेले कहाँ भागी जा रही हैं .... दुसरे का इन्तजार तो करिए ! दुसरे के दिए गाने का अंतिम अक्षर देखकर गाईये !

    ReplyDelete
  115. मुझे प्यार की ज़िन्दगी देने वाले कभी गम न देना खुशी देने वाले

    ReplyDelete
  116. हाँ वही तो कर रही हूँ सभी भाग जते हैं तो अकेले ही लगी हूँ आप आईये न

    ReplyDelete
  117. प्रकाश जी गये?

    ReplyDelete
  118. लाल छडी मेदान खडी, क्या खुब लडी क्या खुब लडी

    ReplyDelete
  119. चलिये फिर मैं भी चलती हूँ राम राम

    ReplyDelete
  120. निर्मला जी सभी गीत ढुढ रहे होंगे.....

    ReplyDelete
  121. आज की अंताक्षरी यही समाप्त होती है, अब कल सुबह फ़िर से मिलेगे, आप सभी का दिल से धन्यवाद

    ReplyDelete

नमस्कार, आप सब का स्वागत है। एक सूचना आप सब के लिये जिस पोस्ट पर आप टिपण्णी दे रहे हैं, अगर यह पोस्ट चार दिन से ज्यादा पुरानी है तो मॉडरेशन चालू हे, और इसे जल्द ही प्रकाशित किया जायेगा। नयी पोस्ट पर कोई मॉडरेशन नही है। आप का धन्यवाद, टिपण्णी देने के लिये****हुरा हुरा.... आज कल माडरेशन नही हे******

मुझे शिकायत है !!!

मुझे शिकायत है !!!
उन्होंने ईश्वर से डरना छोड़ दिया है , जो भ्रूण हत्या के दोषी हैं। जिन्हें कन्या नहीं चाहिए, उन्हें बहू भी मत दीजिये।