04/01/10

सुचना

कल दिन के ठीक बारहा बजे आंताक्षरी पेश की जायेगी जिस मै आप सब अपनी अपनी रचनाये, यानि कविता, गीत, गजल, शेर ओर फ़िल्मी गीत, भजन,आदी आदी ले कर हिस्सा ले सकते है, सभी लोग विजेता होंगे.... तो कल यानि ६ जनवरी १२,०० बजे

17 comments:

  1. जरुर आयेंगे जी...शुभकामनाएँ.

    ’सकारात्मक सोच के साथ हिन्दी एवं हिन्दी चिट्ठाकारी के प्रचार एवं प्रसार में योगदान दें.’

    -त्रुटियों की तरफ ध्यान दिलाना जरुरी है किन्तु प्रोत्साहन उससे भी अधिक जरुरी है.

    नोबल पुरुस्कार विजेता एन्टोने फ्रान्स का कहना था कि '९०% सीख प्रोत्साहान देता है.'

    कृपया सह-चिट्ठाकारों को प्रोत्साहित करने में न हिचकिचायें.

    -सादर,
    समीर लाल ’समीर’

    ReplyDelete
  2. ०६ फरवरी को या ०६ जनवरी को कृपया बताएं.

    ReplyDelete
  3. 4 जनवरी को आपने टाइप क‍िया तो कल यान‍ि 5 जनवरी न हुआ? यह 6 फरवरी क्यों ल‍िखा है ?

    ReplyDelete
  4. बिल्कुल आ जायेंगे.....

    ReplyDelete
  5. हम तो जरूर आयेंगे धन्यवाद शुभकामनायें

    ReplyDelete
  6. डॉ. मनोज मिश्र जी लिजिये हम ने महीना ठीक कर दिया, ओर दावेंदर जी, मैने यहां के हिसाब से रात को यह पोस्ट की थी सोचा था भारत मै तो अब ५,१,१० हो गई होगी, लेकिन आप ने यह गलती भी पकड ली, बहुत सुंदर आप सब का धन्यवाद

    ReplyDelete
  7. लो जी, हम तो अभी से आकर बैठ गए...कोई कुर्सी-वुर्सी तो मंगवाईये :)

    ReplyDelete
  8. ये क्या आज तो 9 हो गयी नयी पोस्त कहँ गयी?

    ReplyDelete
  9. taareekh par taareekh phir taareekh ?khuda khair kare|

    ReplyDelete

नमस्कार, आप सब का स्वागत है। एक सूचना आप सब के लिये जिस पोस्ट पर आप टिपण्णी दे रहे हैं, अगर यह पोस्ट चार दिन से ज्यादा पुरानी है तो मॉडरेशन चालू हे, और इसे जल्द ही प्रकाशित किया जायेगा। नयी पोस्ट पर कोई मॉडरेशन नही है। आप का धन्यवाद, टिपण्णी देने के लिये****हुरा हुरा.... आज कल माडरेशन नही हे******

मुझे शिकायत है !!!

मुझे शिकायत है !!!
उन्होंने ईश्वर से डरना छोड़ दिया है , जो भ्रूण हत्या के दोषी हैं। जिन्हें कन्या नहीं चाहिए, उन्हें बहू भी मत दीजिये।