07/05/10

आप ने इतने मस्त लोग, ओर खुश लोग कही देखे हो तो बताईये...

कहते है शराब बुरी चीज है... भाई अपनी अपनी राय है ... देख लिजिये इन्हे यह कितने मस्त है... जो भी विडियो देखे सब मै मजा ही मजा है...




27 comments:

  1. बहुत लाजवाब ढूंढकर लाये हैं जी.

    रामराम.

    ReplyDelete
  2. मस्त हैं भाटिया जी .... दारू की मस्ती के क्या कहने ....

    ReplyDelete
  3. कुछ अच्छा सिख लेने की चाह रखने वाले के लिए विचारणीय पोस्ट /

    ReplyDelete
  4. झूम बराबर झूम शराबी --झूम बराबर झूम --

    ReplyDelete
  5. हा हा हा...सच है! शराबी आदमी का भी कुछ हाल नहीं...

    ReplyDelete
  6. भाटिया जी सराहनीय+प्रसंशनीय+दर्शनीय प्रस्तुति |बधाई|लेकिन मैंने यह भी सुण्या है की नशा शराब विच होन्दा ते खुद नचदी बोतल|

    ReplyDelete
  7. थोड़ी सी ही अंदर जाती,
    कैसे-कैसे करतब दिखाती,
    कहते हैं इसको सब हाला,
    पर मानो या ना मानो है ये है शैतान की खाला।

    ReplyDelete
  8. कमाल का दृश्य...बढ़िया लगी..धन्यवाद राज जी

    ReplyDelete
  9. दर्शनीय प्रस्तुति...... राम राम

    ReplyDelete
  10. बहुत बढिया मजा आ गया

    ReplyDelete
  11. हमने तो सिर्फ एक नवाब टुन्न की कहानी सुनी थी, आपने तो कई नवाब टुन्न दिखा दिये!

    ReplyDelete
  12. हा-हा-हा
    ऐसी वीडियो देखने के बाद तो मेरा भी मन होता है कि टुन्न होकर मैं भी ऐसे ही कीचड में लोट-पोट होता फिरूं।
    मजा आ गया।

    प्रणाम

    ReplyDelete
  13. बहुत बढिया दृश्य..मजेदार

    @ पर मानो या ना मानो है ये है शैतान की खाला।
    100% sahmat + samarthan + or is khala se na milne ki kasam pe bhi 100% adig

    ReplyDelete
  14. मस्त !!
    अभी तो एक ही देखा है..मजा आ गया. :)

    ReplyDelete
  15. nashe me jhoomne ka bhi apna ek alag maza hai.. waah

    ReplyDelete
  16. भाटिया जी,
    शिकायत वाले ब्लॉग पर आज शराबियों की शिकायत कर रहे हैं?

    ReplyDelete
  17. मज़ा आगया इन शराबियों को देखकर भाई जी !वहां के इस तरह के फोटो भजते रहें हमारे लिए यह सब नया अनुभव होगा ! सादर !

    ReplyDelete
  18. भाटिया जी नमस्‍कार कैसे हैं आप और सभी आगंतुक भाटिया जी आज ऐसा ही मंजर मैंने देखा दिन के दोपहर के ढाई बजे दो लडके जिनकी उम्र करीब 20 से 22 साल थी रोड पर धूप में किनारे पर ही बैठे थे एक दूसरे के पैरों में देखकर एक बार तो धक्‍का लगा कि इतनी असहनीय धूप में कोई निकल नहीं सकता और ये जनाब यहां पर आराम फरमा रहे हैं फिर लगा कि शराब हे बहुत ताकतवर चीज

    ReplyDelete

नमस्कार, आप सब का स्वागत है। एक सूचना आप सब के लिये जिस पोस्ट पर आप टिपण्णी दे रहे हैं, अगर यह पोस्ट चार दिन से ज्यादा पुरानी है तो मॉडरेशन चालू हे, और इसे जल्द ही प्रकाशित किया जायेगा। नयी पोस्ट पर कोई मॉडरेशन नही है। आप का धन्यवाद, टिपण्णी देने के लिये****हुरा हुरा.... आज कल माडरेशन नही हे******

मुझे शिकायत है !!!

मुझे शिकायत है !!!
उन्होंने ईश्वर से डरना छोड़ दिया है , जो भ्रूण हत्या के दोषी हैं। जिन्हें कन्या नहीं चाहिए, उन्हें बहू भी मत दीजिये।